Homeराज्यहरियाणारोहतक : महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के कर्मचारी और जेडी आडिट आमने सामने

रोहतक : महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के कर्मचारी और जेडी आडिट आमने सामने

संजीव कुमार, रोहतक :
महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन के सामने आज फिर सुबह प्रधान रणधीर कटारिया की अध्यक्षता में गेट मीटिंग आयोजित की गई। आज मुख्य रूप से प्रधान रणधीर कटारिया ने सभा को संबोधित करते हुए आम सभा में कुलपति के नाम प्रस्ताव रखा कि जितने भी नीतिगत फैसले हैं उनके तहत आडिट में गई फाइलों को तुरंत स्वीकार करें नहीं तो कुलपति जेडी आडिट को तुरंत प्रभाव से विश्वविद्यालय की सेवाओ से मुक्त करें। इस प्रस्ताव को आम सभा में ध्वनिमत से पारित किया गया इसके बाद कुलपति के नाम कुलसचिव को ज्ञापन सौंपा और ज्वाइंट डायरेक्टर आडिट का विरोध किया गया। इसके बाद सभी कर्मचारी गैर शिक्षक संघ के प्रधान रणधीर कटारिया के नेतृत्व में जॉइंट डायरेक्टर आडिट श्री विनोद बिश्नोई से मिले और उनसे आग्रह किया कि ज्वाइंट डायरेक्टर आडिट सभी फाइलों को निकाल दे। इस पर जॉइंट डायरेक्टर आडिट कर्मचारियों से अभद्रता से पेश आए। रोष स्वरूप कर्मचारियों ने ज्वाइंट डायरेक्टर आडिट के खिलाफ नारेबाजी की और सभी कर्मचारी प्रशासनिक भवन के बीच में ही बैठ गए और जेडी आडिट को बाहर का रास्ता दिखाया। कर्मचारियों ने बताया कि जेडी आडिट को महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय वेतन दे रहा है जबकि जेडी आडिट विश्वविद्यालय के जायज कर्यों में भी अड़चन डाल रहा है जिसको कर्मचारियों द्वारा कभी भी सहन नहीं किया जाएगा और सभी कर्मचारियों ने यह तय है कि अब संघर्ष में कर्मचारी तब तक पीछे नहीं हटेंगे जब तक जेडी आडिट कर्मचारियों की जायज मांगों को पूरा नहीं करा देता या वह जेडी आडिट को बाहर का रास्ता नहीं दिखा देते। आज के रोष प्रदर्शन से यह स्पष्ट है कि महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के सभी कर्मचारी आरपार के मूड में है। गौरतलब है कि आज जेडी आडिट और कर्मचारियों के बीच पूरा दिन बहस चलती रही। आज गेट मीटिंग में प्रधान रणधीर कटारिया के साथ-साथ उपप्रधान राजेश गिरधर, सहसचिव रमेश रोहिल्ला महासचिव रविंद्र लोहिया, कोषाध्यक्ष विकास अहलावत, पूर्व प्रधान फूल कुमार बोहत, सुमेर अलावत मुख्य रूप से मौजूद रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular