Homeहरियाणाकुरुक्षेत्रअभिभावकों की बदतमीजी नहीं बर्दाशत करेंगे स्कूल संचालक, सोमवार को स्कूल बंद...

अभिभावकों की बदतमीजी नहीं बर्दाशत करेंगे स्कूल संचालक, सोमवार को स्कूल बंद कर जताएंगे रोष Will Express Anger By Closing The School

स्कूलों के बाहर प्रदर्शन व हो-हल्ला करने वाले अभिभावकों की अब होगी शिकायत Will Express Anger By Closing The School

डॉ. राजेश वधवा, कुरुक्षेत्र:
Will Express Anger By Closing The School: आए दिन शहर के अलग-अलग स्कूलों के बाहर हो-हल्ला और धरना प्रदर्शन करने वाले अभिभावकों के खिलाफ अब स्कूल संचालक एकजुट हो गए हैं। अब स्कूल संचालक ऐसे अभिभावकों के खिलाफ न केवल पुलिस कार्रवाई करेंगे अपितु सोमवार 25अप्रैल को जिला के सभी प्राइवेट स्कूलों को बंद कर उपायुक्त कुरुक्षेत्र को एक मांगपत्र भी सौंपेगे। दर्जनों स्कूल संचालक आज एक निजी होटल में इक्ट्ठा हुए और संयुक्त रूप से सबने फैसला लिया कि सोमवार को स्कूल बंद रखेंगे। उन्होंने यह भी फैसला लिया कि उस दिन कुरुक्षेत्र के द्रोणाचार्य स्टेडियम के बाहर इक्_ा होकर सभी स्कूल संचालक उपायुक्त कुरुक्षेत्र को एक ज्ञापन सौंपेगे और स्कूल संचालकों के समक्ष आ रही समस्याओं से भी उन्हें अवगत करवाएंगे।

स्कूल कि बकाया राशि जमा करवाएं अभिभावक Will Express Anger By Closing The School

Will Express Anger By Closing The School

आज की मीटिंग में दिल्ली पब्लिक स्कूल, सेंट थॉमस कान्वेंट स्कूल, अग्रसैन पब्लिक स्कूल, सहारा स्कूल, सेंट पीटर कॉन्वेंट स्कूल, नवयुग स्कूल, निवेदिता स्कूल, त्रिमूर्ति स्कूल, ओ.एच.एम. कान्वेंट स्कूल, जैम कान्वेंट स्कूल, शान्ति पब्लिक स्कूल, नालन्दा स्कूल, सेंट पॉल स्कूल, अनुपम शिक्षा निकेतन, रूकमण कान्वेंट स्कूल, मिनर्वा स्कूल, रॉयल आर्यन स्कूल, बाल भारती, आदर्श सी. सै. स्कूल, जे.एच.पी. स्कूल, व अन्य कई स्कूलों के संचालकों, प्राचार्यों ने भाग लिया। इस अवसर पर सभी स्कूल संचालकों को संबोधित करते हुए सेंट थॉमस स्कूल की ओर से रजनी ने कहा कि स्कूल अपनी नैतिक जिम्मेदारी समझते हुए स्कूल में बच्चों को अच्छी शिक्षा दे रहा है और स्कूल सरकार के निर्देशानुसार फार्म-6 के अनुसार फीस ले रहा है जबकि बहुत से अभिभावक फीस जमा नहीं करवा रहे। उन्होंने जिला प्रशासन से अनुरोध किया कि वे अभिभावकों को यह संदेश देें कि अभिभावक स्कूल कि बकाया राशि जमा करवाएं।

अभिभावकों को नहीं करनी चाहिए स्कूल के बाहर प्रदर्शन, नारेबाजी Will Express Anger By Closing The School

वहीं बी.डी. गाबा ने भी कहा कि जब तक सभी स्कूल संचालक इक्_े नहीं होंगे तब तक इस तरह की प्रताडऩा सहनी पड़ेगी। राकेश गेरा ने कड़े शब्दों में कहा कि जो भी अभिभावक स्कूल फीस देने में असमर्थ हैं और जानबूझकर बकाया राशि नहीं दे रहा, उसे चाहिए कि वह अपने बच्चों का दाखिला ऐसे स्कूल में करवाए जिसकी फीस कम हो। उन्होंने कहा कि भविष्य में अगर कोई अभिभावक किसी स्कूल के बाहर प्रदर्शन करता है तो उसके खिलाफ पुलिस कार्रवाई करवाई जाएगी। मेवा राम ने कहा कि अभिभावकों को स्कूल के बाहर प्रदर्शन, नारेबाजी नहीं करनी चाहिए। अगर उन्हें लगता है कि उनसे ज्यादा फीस ली जा रही है तो वे स्कूल की शिकायत उच्चाधिकारियों को करें न कि स्कूलों के बाहर आकर हो-हल्ला करें। अभिभावकों को यह समझना होगा कि स्कूल  में उन्हीं के बच्चे पढ़ते हैं और इस तरह के माहौल से बच्चों में भय और दहशत का माहौल पैदा होता है। निशी गुप्ता ने कहा कि अभिभावक अपने बच्चों को उन स्कूलों में दाखिला दिलवाएं जिनकी फीस वे अदा कर सकते हैं। वे प्रदर्शन भी करते हैं और अपने बच्चों को पढ़ाना भी उसी स्कूल में चाहते हैं।

स्कूल बस पासिंग की फीस कई गुणा बढ़ी Will Express Anger By Closing The School

राजीव चावला ने कहा कि अब सभी स्कूल संचालक इक्ट्ठा हो गए हैं और भविष्य में अगर इस तरह का माहौल किसी भी स्कूल के बाहर पैदा करने की कोशिश की गई तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। सोहन लाल ने कहा कि अगर सब लोग इक्_ा होंग और अपनी समस्या एक मंच पर रखेंगे तो किसी को भी समस्या नहीं आएगी। कार्यक्रम के अंत में विपिन शर्मा ने बताया कि कुछ स्कूल जो आज की मीटिंग में नहीं आ पाए उन्हें साथ में जोडऩे के लिए कमेटियों का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि स्कूल बस पासिंग की फीस कई गुणा बढ़ा दी गई है जिसको लेकर उपायुक्त को ज्ञापन दिया जाएगा और अगर इस समस्या का समाधान नहीं किया गया तो जिला के सभी स्कूल संचालक अगली बैठक में इस मुद्दे पर कड़ा फैसला लेंगे।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular