Homeहरियाणाकुरुक्षेत्रभारत को हॉकी में सिल्वर मेडल मिलने पर सुरेंद्र के घर खुशी...

भारत को हॉकी में सिल्वर मेडल मिलने पर सुरेंद्र के घर खुशी का माहौल

इशिका ठाकुर, Kurukshetra News:
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच गोल्ड के लिए हॉकी मैच खेला गया। जिसमे ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हराकर जीत हासिल की। लेकिन भारत सिल्वर मेडल हासिल किया ये भी भारत के लिए एक बड़ी अचीवमेंट है।

घर में घर खुशी का माहौल

India got Silver Medal in Hockey
India got Silver Medal in Hockey

भारतीय हॉकी टीम का हिस्सा सुरेंद्र के घर खुशी का माहौल है। परिवार को थोड़ा दुख है कि टीम को गोल्ड जीत पाने में कामयाब नहीं हुई, लेकिन सिल्वर पदक लेकर आना भी एक बड़ी उपलब्धि है। घर पर मिठाई खिलाकर खुशी मनाई जा रही है और परिवार का कहना है कि जब सुरेंद्र वापस भारत आएंगे उनका स्वागत पूरे हर्षोल्लास से किया जाएगा।

टीम ने मेहनत से सिल्वर मेडल

सुरेंद्र की पत्नी गरिमा का कहना है कि टीम का यहां तक पहुंचना एक अच्छी उपलब्धि है। थोड़ा बुरा लग रहा है की हम गोल्ड नहीं जीत पाए लेकिन पूरी टीम ने मेहनत की और सिल्वर जीतने में हम कामयाब हुए। सुरेंद्र की पत्नी कहती है कि जब सुरेंद्र घर से गए थे तब उन्होंने वादा किया था की वह मेडल लेकर ही वापस लौटेंगे और उन्होंने अपना वादा पूरा किया। यह मेडल पूरे भारत का मेडल है।

सुरेंद्र ने किया देश का नाम रोशन

सुरेंद्र की माता नीलम देवी खुश है कि उनका बेटा इस टीम का हिस्सा है। वह कहती हैं कि जब सुरेंद्र ने हॉकी खेलना शुरू किया था तब लोग बोलते थे की इन्हें खिलाकर क्या करोगे लेकिन आज सुरेंद्र की उपलब्धि ने पूरे परिवार का नाम ही नही देश का नाम रोशन किया है। पूरी टीम ने दिल से मैच को खेला लेकिन शायद आज उनका दिल नहीं था।

सुरेंद्र ने किया बचपन का जिक्र

India got Silver Medal in Hockey
India got Silver Medal in Hockey

सुरेंद्र के पिता मलखान सिंह सुरेंद्र के बचपन का जिक्र करते हुए कहते हैं जब सुरेंद्र ने हॉकी खेलना शुरू किया था तब हमने सुरेंद्र को हॉकी स्टिक दिलाने से भी मना कर दिया, मेरे एक मित्र ने सुरेंद्र को हॉकी स्टिक दिलाई थी। आज उन्हें बेटे पर गर्व है कि ओलंपिक में ब्रोंज मेडल तो कॉमनवेल्थ में सिल्वर मेडल लाने वाली टीम का हिस्सा है।

वह कहते हैं कि हमारा परिवार एक साधारण परिवार है। मैं भी एक छोटा सा किसान था। लेकिन आज सुरेंद्र के कारण हमारे पास सभी सुख सुविधाएं हैं। बेटे पर गर्व करते हुए सुरेंद्र के पिता सभी को ऐसा बेटा मिलने की प्रार्थना करते हैं। पीता ने कहा कि जब सुरेंद्र घर वापस आएंगे तब पूरे जोर-शोर से उनका स्वागत किया जाएगा। इसकी तैयारियां अभी से शुरू कर दी गई है।

ये भी पढ़ें : यादव धर्मशाला में आयोजित शिविर में 182 मरीजों के नेत्रों की हुई जांच

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular