Homeहरियाणाकुरुक्षेत्रहरियाणा के खिलाड़ियों ने देश को दिलाए मेडल

हरियाणा के खिलाड़ियों ने देश को दिलाए मेडल

इशिका ठाकुर, Kurukshetra News:
  • हरियाणा के खिलाड़ियों ने देश को दिलाए 20 मेडल, 9 गोल्ड सहित कुल 33 प्रतिशत पदकों में हमारे खिलाड़ियों की भागीदारी: संदीप सिंह
  • देश में सबसे अधिक मेडल लाने वाला राज्य बना हरियाणा, पदक विजेताओं को पुरस्कार स्वरूप करोड़ों रुपए देकर प्रोत्साहित करेगी सरकार

हरियाणा के खेल एवं युवा कार्यक्रम मंत्री सरदार संदीप सिंह ने कहा कि 22वें राष्ट्रमंडल खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहे देश के सभी खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। विभिन्न खेल स्पर्धाओं में भारतीय खिलाड़ियों ने 61 मेडल जीतकर देश की झोली में डाले।

33 प्रतिशत भागीदारी हरियाणा के खिलाड़ियों की 

जो सभी देशवासियों के लिए गर्व का विषय है। जारी विज्ञप्ति में खेल मंत्री संदीप सिंह ने कहा कि इन खेलों में हरियाणा के खिलाड़ियों ने भी हर बार की तरह अपना वर्चस्व कायम रखा। कुल मेडल में से लगभग 33 प्रतिशत भागीदारी हरियाणा के खिलाड़ियों की रही। प्रदेश के 43 खिलाड़ियों के दल ने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लिया। जिसमें महिला हॉकी टीम में 18 में से 8 खिलाड़ी हरियाणा की रही। हरियाणा के खिलाड़ियों ने 20 मेडल देश को दिलवाए। जिसमें से 9 गोल्ड, 4 सिल्वर और 7 ब्रॉन्ज मेडल हैं।

खिलाड़ियों ने देश को मेडल दिलाए

पहलवान बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक, दीपक पुनिया, विनेश फोगाट, रवि दहिया, पैरा पावर लिफ्टिंग खिलाड़ी सुधीर, बॉक्सर अमित पंघाल, नवीन कुमार और नीतू घनघस ने गोल्ड मेडल हासिल किया। जबकि सिल्वर मेडल के रूप में अंशु मलिक और सागर अहलावत सहित दो इंडिविजुअल और दो टीम गेम मेडल हमारे खिलाड़ियों ने देश को दिलाए। खेल मंत्री संदीप सिंह ने कहा कि इसका पूरा श्रेय हमारे खिलाड़ियों की मेहनत उनके अभिभावकों के परिश्रम और त्याग तथा मुख्यमंत्री मनोहर लाल की खेल प्रेम नीति को जाता है।

स्वर्ण पदक विजेता को पुरस्कार देकर प्रोत्साहित 

जिसकी बदौलत हरियाणा केवल भारत ही नहीं, बल्कि विश्व में खेल हब के रूप में उभर कर सामने आया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के प्रयास से आज हरियाणा का हर अभिभावक अपने बच्चों को खेलो में अग्रसर होने के लिए प्रेरित कर रहा है। बेटियों को अब बोझ नहीं,  मेडल फैक्ट्री के रूप में जाना जाता है। राज्य मंत्री संदीप ने कहा कि सरकार की खेल नीति के तहत स्वर्ण पदक विजेता को 1.50 करोड़ रुपए रजत पदक विजेता को ₹75 लाख तथा कांस्य पदक विजेता को ₹50 लाख का पुरस्कार देकर प्रोत्साहित किया जाएगा। जल्द ही खिलाड़ियों के सम्मान में कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।

ये भी पढ़ें : यादव धर्मशाला में आयोजित शिविर में 182 मरीजों के नेत्रों की हुई जांच

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular