Homeहरियाणाकुरुक्षेत्रगीता महोत्सव में जनसंचार निदेशालय के विद्यार्थियों ने 837 शिल्पकारों का एकत्रित...

गीता महोत्सव में जनसंचार निदेशालय के विद्यार्थियों ने 837 शिल्पकारों का एकत्रित किया डाटा:शांतनु

इशिका ठाकुर,कुरुक्षेत्र :
उपायुक्त शांतनु शर्मा की पहल पर केयूके जनसंचार निदेशालय के विद्यार्थियों ने 18 दिनों में तैयार किया रिकार्ड, छात्रा भावना व अंजली ने उपायुक्त शांतनु शर्मा को सौंपा रिकार्ड, उपायुक्त ने विद्यार्थियों की मेहनत की जमकर की प्रशंसा, 40 पेज में ब्रह्मसरोवर के चारों तरफ पहुंचने वाले प्रत्येक शिल्पकार और दुकानदार का रिकॉर्ड हुआ दर्ज।

अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव-2022 में ब्रह्मसरोवर के चारों तरफ सदरियों में देश-प्रदेश से सालों से अपनी शिल्प कला को सजाने वाले शिल्पकारों का डाटा तैयार करने की पहल उपायुक्त शांतनु शर्मा ने की है। इस डाटा को तैयार करने की जिम्मेवारी जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी डा. नरेंद्र सिंह को सौंपी गई। इन आदेशों के बाद डाटा एकत्रित करने का कार्य कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय जनसंचार एवं प्रौद्योगिकी संस्थान के विद्यार्थियों ने बखुबी किया। इन विद्यार्थियों ने निदेशालय की निदेशिका डा. बिंदू शर्मा व शिक्षक डा. प्रदीप राय से स्वीकृति लेने के बाद 19 नवंबर से ही शिल्पकारों का डाटा एकत्रित करना शुरु कर दिया था। इस संस्थान के विद्यार्थियों ने 18 दिनों में दिन-रात मेहनत करके 837 शिल्पकारों और दुकानदारों का विस्तृत डाटा तैयार किया।

विद्यार्थियों की मेहनत और लग्न की जमकर प्रशंसा

जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी डा. नरेंद्र सिंह के साथ जनसंचार विभाग की छात्रा भावना और अंजली ने लगभग 40 पेज की रिपोर्ट उपायुक्त शांतनु शर्मा को सौंप दी है। उपायुक्त शांतनु शर्मा ने पूरी रिपोर्ट का आंकलन भी किया और इन विद्यार्थियों की मेहनत और लग्न की जमकर प्रशंसा की है। इस 40 पेज की रिपोर्ट में ब्रह्मसरोवर की सदरियों में पहुंचने वाले प्रत्येक शिल्पकार और दुकानदार का फोन नंबर, पता, शिल्प कला, अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव के अनुभव, कितने सालों से महोत्सव के साथ जुड़ाव और अन्य विषयों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है।

इस महोत्सव के शुरु होने से पहले ही उपायुक्त की सोच रही कि अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव में आने वाले प्रत्येक शिल्पकार, कलाकार, दुकानदारों का डाटा एकत्रित किया जाए ताकि आने वाले समय में कुछ नया किया जा सके और इस रिपोर्ट में मिले अनुभवों के आधार पर शिल्पकारों को किस प्रकार की सुविधाएं मुहैया करवाई जा सके, आदि विषयों के बारे में जानकारी हासिल हो सके।

उपायुक्त शांतनु शर्मा ने जनसंचार विभाग की छात्रा भावना और अंजली से डाटा एकत्रित करने से संबंधित अनुभवों को साझा किया और कई विषयों पर अच्छी फीडबैक भी हासिल हुई। उपायुक्त ने विद्यार्थियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस प्रकार के कार्यों से बच्चों को एक्सपोजर मिला है और आने वाले समय में ओर सराहनीय कार्य करेंगे। इस डाटा के आधार पर अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव को ओर आगे ले जाने में सहायता भी मिलेगी। उन्होंने विभाग की निदेशिका डा. बिंदू और शिक्षक डा. प्रदीप राय को भी बधाई देते हुए कहा कि विभाग के विद्यार्थियों ने बेहतरीन और सराहनीय कार्य किया है। जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी डा. नरेंद्र सिंह ने कहा कि उपायुक्त शांतनु शर्मा के आदेशानुसार अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव में पहुंचने वाले लगभग सभी शिल्पकारों और कलाकारों का डाटा एकत्रित किया है।

इस कार्य में जनसंचार विभाग के विद्यार्थियों, जिनमें भावना, अंजली, प्रदीप आर्य, राहुल, सुमंत, मोहित, अनुशिखा, यशिका, साक्षी, अरुण, रोचेले साजिया, आशीष, मुक्ता, नमितिका व हर्षित शामिल है, ने सराहनीय कार्य किया है। इन विद्यार्थियों ने 18 दिनों में 837 शिल्पकारों, दुकानदारों का विस्तृत डाटा एकत्रित करके फोटो सहित एक रिपोर्ट तैयार की है।

ये भी पढ़ें :  अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव 2022 के हर पहलु की प्रधानमंत्री ने ली फीडबैक :सांसद नायब सिंह सैनी

ये भी पढ़ें : साइबर ठगों ने महिला के अकाउंट से निकाले 99980 रुपये

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular