Homeहरियाणाकरनालकरनाल के सिकंदरपुर गांव निवासी छात्रा ने जहरीला पदार्थ निगल की आत्महत्या

करनाल के सिकंदरपुर गांव निवासी छात्रा ने जहरीला पदार्थ निगल की आत्महत्या

इशिका ठाकुर,करनाल:

करनाल के सिकंदरपुर गांव निवासी छात्रा ने जहरीला पदार्थ निगल की आत्महत्या, परिजनों ने छात्रा के साथ स्कूल में पढ़ने वाली लड़की, लड़के व लड़के पिता पर लगाया आरोप, पढ़ लिखकर डॉक्टर बनना चाहती थी बेटी निकिता, किताब लेने को लेकर हुआ था झांगडा, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच की शुरू।

करनाल के गांव सिंकदरपुरा की रहने वाली एक 11वी कक्षा में मेडिकल की पढ़ाई कर रही छात्रा ने जहरीला पदार्थ निगल कर आत्महत्या कर ली। वहीं इन्द्री थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हाउस में भिजवा दिया। आज शव का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

किताब को लेकर हुआ था झगड़ा

करनाल के गांव सिंकदरपुरा की रहने वाली 11वीं कक्षा की छात्रा निकिता गांव बयाना के सरकारी स्कूल में पढ़ती थी। जहां छात्रा ने बुधवार को बयाना गांव के सरकारी स्कूल में नॉन मेडिकल में एडमिशन लिया था। स्कूल में निकिता ने किसी छात्रा से पढ़ाई के लिए किताब ली थी, जिसका विरोध उसी स्कूल में पढ़ने वाली एक दूसरी छात्रा ने किया और विरोध के चलते दोनों छात्राओं के बीच शुक्रवार को स्कूल की छुट्टी के बाद झगड़ा हो गया। दोनों छात्राओं के बीच हुए झगड़े के चलते एक आरोपी छात्रा ने अपने एक साथी लड़के को मौके पर बुला लिया और निकिता के साथ मारपीट करते हुए उसे भला-बुरा कहा, झगड़े के बाद शाम को निकिता ने घर पर जहरीला पदार्थ निगल लिया और शुक्रवार देर शाम कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान मौत हो गई।

मृतक छात्रा निकिता की मां ने बताया कि पहले उसकी बेटी गांव घीड़ के सरकारी स्कूल में पढ़ती थी। 10वीं में उसने 90 प्रतिशत अंक हासिल किए थे। उसकी बेटी का सपना था कि वह बड़ी होकर डॉक्टर बनेगी, लेकिन घीड़ गांव के सरकारी स्कूल से नॉनमेडिकल के अध्यापक का तबादला हो गया था। जिसके चलते बुधवार को ही निकिता का एडमिशन गांव बयाना के सरकारी स्कूल में 11वीं कक्षा में नॉन मेडिकल में करवाया था।

लड़की व लड़के पर लगाए मारपीट करने के आरोप

छात्रा निकिता की मां ने आरोप लगाते हुए कहा कि उसकी बेटी निकिता को बयाना गांव की लड़की व उसके साथी लड़के द्वारा मारपीट की गई। उसके बाद उसकी बेटी के पास आरोपी छात्रा ने फोन करके निकिता के साथ बदतमीजी की और उसे बदनाम करने की धमकी दी, जिससे परेशान होकर उसकी बेटी ने ऐसा कदम उठाया।

लड़के के पिता पर लगाए आरोप

छात्रा के पिता रणजीत ने कहा कि शुक्रवार को दोपहर बाद उसकी बेटी का फोन आया था, उसके बाद बेटी ने उसे घर बुलाया और उसके साथ जो हुआ उस के बारे में बताया। यह भी बताया कि जिस लड़के ने उस के साथ मारपीट की थी, वह उसे बार बार फोन करके धमकी दे रहा है। जब उस नंबर पर फोन किया तो लड़के ने उसका फोन काट दिया और फोन को बंद कर दिया। उसके बाद जब कुछ देर बाद फोन किया तो लड़के बात हुई तो लड़के ने उसके साथ बतमीजी की। इसकी शिकायत जब वह पुलिस चौंकी में गए तो लड़के के पिता का फोन आया और उसे धमकाने लगा। इसी बीच उनके पास घर से फोन आया कि निकिता ने जहरीला पदार्थ निगल लिया। जब वह घर पहुंचा तो उसकी बेटी ने कहा पापा वह आपका सर नीचे नहीं करवाना चाहती थी। लड़के के बार-बार उसे फोन आ रहे थे और वह धमकियां दे रहा था। जिसके चलते उसने यह कदम उठाया। देर शाम को करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में उसकी बेटी की मौत हो गई।

तीनों पर की कार्रवाई की मांग

पिता रणजीत ने कहा कि आरोपी छात्रा, उसका दोस्त व उसके पिता पर वह सख्त से सख्त से कार्रवाई की मांग करते है। इन तीनों की वजह से आज निकिता दुनियां में नहीं है।

जांच अधिकारी सुरेन्द्र कुमार ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि एक छात्रा द्वारा आत्महत्या का मामला सामने आया है। परिजनों बयान गांव की एक लड़की, उसके दोस्त लडके व लड़के के पिता पर आरोप लगाए है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हाउस में भेजा दिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular