HomeहरियाणाकरनालMunicipal Corporation Karnal: नगर निगम की बैठक बिना हंगामे के संपन्न, 30...

Municipal Corporation Karnal: नगर निगम की बैठक बिना हंगामे के संपन्न, 30 में से 25 प्रस्ताव पास

प्रवीण वालिया, करनाल:

Municipal Corporation Karnal: नया वर्ष, नया भवन और उसमें बिना किसी हंगामे और शोर-शराबे के हो गई। हाउस की पहली मीटिंग, एक सुखद संयोग कहा जा सकता है। निगम आयुक्त डॉ. मनोज कुमार की अपील, जिसमें उन्होंने कहा कि हाउस की मीटिंग में शहर के विकास के लिए रचनात्मक चर्चा के लिए सबका स्वागत है, भी पार्षदों पर असर कर गई।

Also read : Kullu Accident News जेसीबी खाई में गिरने से चार लोगों की मौत

चार पेंडिंग एक अधूरा Municipal Corporation Karnal

30 प्रस्तावों वाली कार्य सूची पर करीब चार घंटे राय मशविरा में गुजर गए, लेकिन खास बात यह है कि इसमें से 25 प्रस्ताव पार्षदों की सहमति से पास हुए, 4 पेंडिंग रहे और एक न पास-न पेंडिंग अर्थात अधूरा रहा। दूसरी ओर कुछ पार्षदों की ओर से 5 प्रस्ताव आउट आॅफ एजेण्डा के भी लाए गए और यह भी सभी पास हो गए।

Read Also: APPSC Recruitment 2022: ग्रेजुएशन पास युवाओं के लिए खुशखबरी 730 पदों पर निकली भर्तियां ऐसे करें घर बैठे आवेदन

यह थे प्रस्ताव, जो हुए पास Municipal Corporation Karnal

प्रस्ताव-1 में विगत 30 जून 2021 में हुई बैठक की कार्यवाही की पुष्टि की गई।
प्रस्ताव-2 में निगम के गांव मदनपुर में सामुदायिक केन्द्र के निर्माण के लिए भूमि देने बारे था, जो सबकी सहमति से पास हो गया।
प्रस्ताव-3 में गुरूनानक पुरा में सीवरेज की समस्या को सुचारू बनाने के लिए इंटरमीडिएट पम्पिंग स्टेशन लगाए जाने को पास कर दिया गया।
प्रस्ताव-5 शहर के सेक्टर-13 में पेयजल टंकी के पास स्थित चौक का नाम श्री अजमीढ़ महाराज के नाम से रखा जाएगा। इसका अनुरोध शहर की मैढ़ क्षत्रिय सुनार सभा की ओर से किया गया था।
प्रस्ताव-6 वार्ड 15 के अंदर क्षतिग्रस्त हो गई मौजूदा सीवर व पेयजल की लाईनो को बदलने बारे था। इन कार्यों पर अनुमानित 1 करोड़ 70 लाख रुपए का खर्चा आएगा, हाऊस में पास हो गया।

प्रस्ताव-8 राम नगर करनाल निवासी संजना नारंग को उसके मकान के साथ लगते 52.62 वर्गगज एरिया को कॉलैक्टर रेट पर अलॉट करने बारे था, मीटिंग में मेयर व पार्षदो की सहमति से यह कहकर अधूरा रखा गया कि इस प्रयोजन के लिए एक कमेटी बनाएंगे, जो वेरिफाई कर रिपोर्ट देगी। दूसरी ओर निगम आयुक्त का कहना था कि इस तरह की जमीन किसी को अलॉट करने जैसे मामलो में नगर निगम स्टैण्डर्ड आॅप्रेटिंग प्रोसिजर बनाएगा।
प्रस्ताव-9 इन्दिरा चक्रवर्ती कॉलोनी (कुष्ठ कॉलोनी) स्थित वार्ड 17 के खसरा 2308 की कुछ जमीन का इंतकाल नगर निगम करनाल के नाम करने बारे था, मंजूर हो गया।

प्रस्ताव-10 हरियाणा पुलिस अकादमी के निकट अशोक विहार कॉलोनी (वार्ड 6) में सामुदायिक केन्द्र व नलकूप लगाए जाने पर हाऊस की सहमति बनी और यह पास हो गया।
प्रस्ताव-11 में 20 वर्ष या इससे अधिक समय से नगर निगम की दुकानों में बतौर किराएदार काबिज व्यक्तियों को दुकान बेचने बारे था, सर्वसहमति से पास हो गया।

प्रस्ताव-12 पिंगली स्थित डेयरी शिफ्टिंग स्थल पर प्लॉटो में मिट्टी की भरपाई करवाने बारे था, पास हो गया। निगमायुक्त ने बताया कि जो डेयरी मालिक अपने प्लॉट की नींव भरेगा, उसके 3 फुट तक मिट्टी की भरपाई नगर निगम की ओर से नि:शुल्क भरवाई जाएगी। उन्होंने एक अच्छी खबर भी दी कि पिंगली में डेयरी स्थल पर करीब 60 से 70 डेयरी मालिक डेयरियों का निर्माण कर रहे हैं, इनमें से बहुत ने कैटल शैड भी डाल दिए हैं। यही नहीं 29 डेयरी मालिकों ने इस स्थल प्लॉट खरीदने के लिए आवेदन भी दिए हैं, उन्हें 4 हजार वर्गगज के हिसाब से प्लॉट आबंटित किए जाएंगे, तीन साल पहले यह रेट 3300 रुपए प्रति वर्ग के हिसाब से था, हाऊस ने इस पर भी अपनी सहमति दिखाई।

प्रस्ताव-13 सेक्टर 12 स्थित निगम कार्यालय के नए भवन में फर्नीचर खरीद के लिए निविदा रेटों की स्वीकृति प्रदान करने को लेकर था, पास हो गया।

प्रस्ताव-16 नगर निगम की स्थापना शाखा में नए पद सृजित करने को लेकर था, जिसमें कार्यकारी अभियंता से लेकर कनिष्ठ अभियंता, भवन निरीक्षक, लिपिक, ए.डी.ए., पी.ए., स्टैनो टाईपिस्ट, उप निगमायुक्त, सफाई अधिकारी, सफाई निरीक्षक व सहायक सफाई निरीक्षक सहित 35 पदों सृजित करने बारे था। इसके पीछे यह कारण दिया गया था कि स्मार्ट सिटी बनने, राईट टू सर्विस एक्ट, आर.टी.आई. व सी.एम. विंडो के अंतर्गत एक निश्चित अवधि के अंदर कार्य करना होता है, यही नहीं विकास कार्यों में बढ़ोतरी होने, आॅनलाईन सेवाएं तथा विभिन्न प्रकार की सूचनाएं एकत्रित करने जैसे कामो के लिए अतिरिक्त स्टाफ की जरूरत पड़ती है, इसे देखते हाऊस से इस पर सहमति दे दी। नए पदों के जुड?े से नि:संदेह निगम का काम सुचारू रूप से चलेगा।

प्रस्ताव-17 वार्ड 15 में बांसो गेट से मीरा घाटी चौक, मीरा घाटी चौक से महाराणा प्रताप चौक तथा कर्ण गेट तक बरसाती नाले का निर्माण करने बारे था, पास हो गया।
प्रस्ताव-18 वार्ड 17 में शिव कॉलोनी के नागरिकों के लिए पर्याप्त वाटर सप्लाई के लिए बूस्टर का निर्माण करवाने बारे था, इस कार्य पर लगभग 2 करोड़ रुपए खर्च का अनुमान बताया गया, यह प्रस्ताव भी पास हो गया।

प्रस्ताव-19 अखाड़ा बाबा सहज गिरी, गौ चिकित्सालय एवं गौधाम में लावारिस गौवंश का कई वर्षों से ईलाज किया जा रहा है, लेकिन अत्याधिक बीमार गौवंश के ईलाज के दौरान मृत्यु हो जाने की सूरत में उसे उठाने का खर्चा वहन न करने बारे अनुरोध किया गया था, अब नगर निगम किसी संस्था से बात करके इस कार्य को नि:शुल्क करवाएगा।
प्रस्ताव-20 नगर निगम करनाल के अधीन आने वाली खाली पड़ी भूमि की निशानदेही करवाकर तार व बोर्ड लगवाने बारे था, जो कि सर्वसहमति से पास हो गया। इस पर चर्चा के दौरान निगमायुक्त ने बताया कि ऐसी खाली पड़ी भूमि की केटेगरी बनाएंगे, जिसमें छोटी जगहों की चारदीवारी करवाएंगे तथा बड़ी जगहों की तारबंदी व पिल्लर लगवाएंगे।

प्रस्ताव-21 जिला जेल के नजदीक सिंचाई विभाग के रजवाहे से लेकर चिढ़ाव मोड़ तक का एरिया नगर निगम करनाल में सम्मिलित होगा। इससे इस कार्यालय को स्टैम्प ड्यूटी, सम्पत्ति कर व विकास शुल्क एकत्र करने का फायदा होगा। अभी तक यह एरिया न तो किसी ग्राम पंचायत की सीमा में सम्मिलित था और न ही नगर निगम में।
प्रस्ताव 22 से 30 तक भिन्न-भिन्न वार्डों में विकास कार्यों को लेकर थे, सम्बंधित पार्षदों द्वारा अपने-अपने वार्ड से सम्बंधित कार्यों की मांग की गई थी।

इनमें वार्ड 1 के गांव उचानी, बलड़ी व मंगलपुर की सड़कों को दुरूस्त करना, वार्ड 4 में स्थित बठ्ठा कॉलोनी में जोहड़ की भरपाई करना, वार्ड 5 में मेरठ रोड सेक्टर 14 करनाल वाले चौक का नाम महर्षि कश्यप चौक रखना, गोपी वाली गामडी में शमशान घाट का निर्माण, अशोक विहार कॉलोनी में सीवरेज के अधूरे कार्य को पूरा करना, वार्ड 6 में मदनपुर गांव में सामुदायिक केन्द्र की गिफ्त डीड नगर निगम करनाल के नाम करने, चांद सराय से शमशान रोड तक के बड़े नाले को

सी.सी. से बनवाने, कम्बोपुरा में महिला चौपाल का निर्माण करवाने, ब्रह्मानंद चौक, मंगल कॉलोनी, अम्बेड़कर कॉलोनी, अशोक विहार कॉलोनी तथा गांव मदनपुर, दहा, सिरसी व कम्बोपुरा में ओपन एयर जिम लगवाने बारे, कम्बोपुरा में खाली पड़ी जमीन पर पार्क का निर्माण करवाने, दहा में तालाबों का सौंदर्यकरण करवाने, वार्ड 7 में डी.सी. कॉलोनी की मुख्य रोड को शीघ्र पूरा करने बारे, शाम नगर की गली 2, 3, 5 व 8 तथा अशोक नगर की गली 1 व 2 में सीवरेज लाईन डलवाने, मोती नगर में के.आर. सिनेमा के साथ वाली गली में सीवरेज डलवाने तथा मेरठ रोड से महाराणा प्रताप

चौक तक नाले का निर्माण व मुरम्मत करवाना शामिल था। इसी प्रकार वार्ड 8 में सेक्टर 6 में बरसाती पानी की समस्या का समाधान करने, सेक्टर 6 व 14 की बरसाती पाईप लाईनो की सफाई करवाने तथा क्षतिग्रस्त पाईप लाईनो को बदलवाने बारे, वार्ड 8 में हाईमास्ट लाईटें व पार्कों में बोलार्ड लाइटें लगवाने तथा वार्ड की खाली पड़ी जगहों पर वाल टू वाल टाईलें लगवाने बारे, वार्ड 10 के सेक्टर 13 एक्सटेंशन स्थित कम्यूनिटी सेंटर को स्पोटर््स कॉम्पलैक्स बनवाने बारे, वार्ड 19 में मास्टिक एस्फाल्ट की सड़कें, प्रेम नगर में डिवाईडर पर डबल ग्रिल लगवाने, बरसाती पानी से जल

भराव की समस्या का निधान करने, राम नगर की पुरानी पेयजल पाईप लाईनो को दुरूस्त करने तथा वार्ड 20 के पाल नगर में नगर निगम की करीब 300 वर्ग गज भूमि पर पाल चौपाल का निर्माण करवाने व सैदपुरा के सामने काछवा रोड पर पाल समाज के लिए देवी अहिल्या बाई होल्कर चौक का निर्माण करवाने जैसी मांगे शामिल थी, इन विकास कार्यों को पूरा करवाने के लिए मेयर व निगमायुक्त ने पूर्ण आश्वासन दिया।

प्रस्ताव जो नहीं हुए पास, रहे पेंडिंग- Municipal Corporation Karnal

कार्य सूची में शामिल प्रस्ताव-4, मेरठ रोड स्थित अस्थाई स्टोर के साथ खाली पड़े प्लॉट को खुली बोली में बेचने बारे था।
प्रस्ताव-7 पाल नगर चौक पर खाली पड़ी पंचायती भूमि में राजमाता अहिल्या बाई होल्कर भवन का निर्माण करवाने बारे था।
प्रस्ताव-14 झंझाड़ी गांव को नगर निगम करनाल की सीमा से बाहर करने बारे था,
प्रस्ताव-15 धोबी समाज को धर्मशाला व धोबी घाट के लिए कम कीमत पर स्थान दिलवाने हेतू था।

आउट आॅफ एजेण्डा के 5 प्रस्ताव भी हुए पास- 1. सनातन धर्म बाल मंदिर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय राम नगर को लीज पर दी जाने वाली भूमि की नगर निगम खरीद कर इसी विद्यालय को लीज पर देगा।
2. शिवा जी कॉलोनी में स्थित भव्य पार्क व स्टेडियम का निर्माण करवाया गया है, उसका नाम भगवान परशुराम के नाम पर रखा जाए।
3. नगर निगम करनाल के एरिया में पेयजल पाईप लाईन की लीकेज को ठीक करने हेतू तैयार किए गए अनुमान की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान करने बारे था।
4. सेक्टर 8 पार्ट 2 में गंदा नाला चौक का नाम बदला जाएगा। नया नाम इस वार्ड 9 के पार्षद देंगे।
5. नगर निगम में आॅडिट शाखा के भारी-भरकम काम को देखते इसमें अतिरिक्त स्टाफ की भर्ती करने बारे था, जो मेयर की ओर से प्रस्तुत किया गया था। उपरोक्त सभी आउट आॅफ एजेंडा के प्रस्ताव भी पास हो गए।

इन मुद्दो पर भी हुई चर्चा, समाधान को लेकर निगम आयुक्त ने दी जानकारी Municipal Corporation Karnal

मिटिंग में उपरोक्त सभी प्रस्तावों के अलावा कुछ ओर मुद्दों पर भी चर्चा हुई, जिनमें सफाई कर्मचारियों की संख्या बढ़ाना, नए टिप्परों की जरूरत, नई ट्रिमिंग मशीन की व्यवस्था, सड़कों पर आवारा पशुओं को छोड?े वालों का चालान करना, आवारा कुत्तों व बंदरो को पकड?ा शामिल था। इस पर निगम आयुक्त ने जानकारी दी कि सफाई कर्मचारियों के मौजूदा बल की संख्या बढाएंगे। स्मार्ट सिटी से करीब 40 नए टिप्पर शीघ्र ही नगर निगम को मिलेंगे।

इसी प्रकार एक नई ट्रिमिंग मशीन खरीदने का टैण्डर लगा दिया गया है, जो शीघ्र ही खुलने वाला है। उन्होंने बताया कि निगम के सफाई अधिकारी को निर्देश दे दिए हैं कि जो भी व्यक्ति सड़कों पर पशुओं को भटकने के लिए छोड़ता मिले, उसका चालान करें और इसे कैम्पेन मोड में रखें। उन्होंने बताया कि आवारा कुत्तों को पकड?े के लिए निदेशालय स्तर पर आर.एफ.पी. बन रहा है, उसके अप्रूवल होते ही कुत्तों को पकड़ा जाएगा। इसी प्रकार बंदरो को पकड़वाने के लिए भी अलग-अलग ठेकेदारों से सम्पर्क किया जा रहा है, रेट को लेकर कोई ईश्यू नहीं है, टैण्डर में जो भी फाईनल होगा, उससे बंदर पकडवाए जाएंगे।

यह रहे मौजूद- Municipal Corporation Karnal

नगर निगम के संयुक्त निगमायुक्त गगनदीप सिंह, कार्यकारी अधिकारी देवेन्द्र नरवाल, वरिष्ठ उप महापौर राजेश अग्घी, उप महापौर एडवोकेट नवीन कुमार के अतिरिक्त वार्ड 3 के पार्षद को छोड़ सभी पार्षदगण तथा निगम के अधिकारी उपस्थित रहे।

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular