Homeहरियाणाकरनालविजिलेंस की टीम ने रिश्वत लेने के दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

विजिलेंस की टीम ने रिश्वत लेने के दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

इशिका ठाकुर, Karnal News:
करनाल में विजिलेंस की टीम ने रिश्वत लेने के आरोपियों की धरपकड़ की है। पकड़े गए दो आरोपियों में एक डाटा एंट्री ओपरेटर व दूसरा ऑडिट जर्नल विभाग पंचकूला के असिस्टेंट अकाउंट ऑफिसर है। विजिलेश टीम ने डाटा एंट्री ओपरेटर को करनाल के चिड़ाव मोड से गिरफ्तार किया है, जबकि असिस्टेंट अकाउंट ऑफिसर प्रमोद को जींद से गिरफ्तार किया है। विजिलेंस टीम द्वारा दोनो आरोपियों को मंगलवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

लोन के नाम पर रिश्वत मांगी

पकड़े गए आरोपियों ने पुलिस विभाग के रिटायर्ड इंस्पेक्टर के परिवार से लोन के नाम पर 4 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। जानकारी के अनुसार पुलिस विभाग से इंस्पेक्टर पद से रिटायर व्यक्ति की पत्नी ने अपने पति की मौत के बाद ऑडिट जर्नल विभाग से साढ़े 13 लाख रुपए लोन देने अर्जी दी थी। जिसे सरकारी कर्मचारी या उनकी पत्नी ले सकती है तथा इस लोन की किश्त जो पेंशन आती है, उससे काटी जाती है। लेकिन आरोपियों ने परिवार की इस मजबूरी का फायदा उठाया और लोन पास करने की एवेज में 4 लाख रुपए की रिश्वत की मांग की।

रिश्वत नही देने पर लोन पास करने से मना कर दिया गया

पीड़ितों ने विजिलेंस को दी शिकायत में बताया कि पिछले काफी समय से वह लोन के लिए अप्लाई कर रहे थे, लेकिन उनका लोन पास नहीं किया जा रहा था। इसके बाद पीड़ित परिवार की मुलाकात ड्रेजरी ऑफसी में डीसी रेट पर लगे आरोपी दीपक से हुई। जिसने लोन पास करने के लिए विभाग के असिस्टेंट अकाउंट ऑफिसर प्रमोद से बात की तो उसने 4 लाख रुपए की रिश्वत की डिमांड की और कहा कि जबतक 4 लाख रुपए की रिश्वत नहीं दोगों तो आपकी लोन पास नहीं होगा।

40 हजार रुपए पहले ले चुके थे आरोपी

पीड़ित परिवार ने विजिलेंस को बताया कि आरोपियों ने पहले 40 हजार रुपए रिश्वत के लिए थे, जबकि सोमवार को आरोपियों ने अढ़ाई लाख रुपए का चैंक व एक लाख रुपए नकद ले कर बुलाया था।
पीड़ित की शिकायत पर विजिलेंसन टीम ने कार्रवाई करते हुए 1 लाख रुपए जो कैशा था उस पर पाऊडर लगा दिया तथा पीड़ित परिवार को पैसे देने के लिए भेज दिया। बाद में दोनो आरोपियों को रिश्वत लेते हुए  गिरफ्तार कर लिया गया।

दीपक ने किया असिस्टेंट अकाउंट ऑफिसर का खुलासा  

विजिलेंस इंस्पेक्टर सचिन कुमार ने बताया कि सोमवार शाम को जब पीड़ित परिवार पैसें देने के लिए आरोपी की बताई जगह पर गया तो डीसी रेट पर लगे घरौंडा निवासी दीपक को रंगे हाथो गिरफ्तार किया। आरोपी दीपक ने खुलासा किया वह यह पैसे असिस्टेंट अकाउंट ऑफिसर प्रमोद को देने जा राह हूं, इतने पैसे उसके अकेले के नहीं है। उसकी तो कुछ कमीशन ही थी। बाकी सारे पैसे प्रमोद के ही है।

पैसे लेकर बुलाया था जींद

आरोपी दीपक ने बताया कि असिस्टेंट अकाउंट ऑफिसर सोमवार को पंचकूला से जींद में ऑडिट पर आया हुआ था और वहीं पर उसने पैसे मंगवाए है और वह उसी को पैसे देने जा रहा था। विजिलेंस आरोपी दीपक को साथ लेकर गई और वहां पर दीपक से प्रमोद पैसे लेने लगा तो उसे रंगे हाथों रिश्वत लेते विजिलेंस ने गिरफ्तार कर लिया।

कल किया जाएगा अदालत में पेश

विजिलेंस इंस्पेक्टर सचिन कुमार ने बताया कि मंगलवार को दोनो आरोपियों को अदालत में पेश कर रिमांड की मांगा जाएगा। ताकि पता लगाया जा सके आरोपियों ने पहले कहां से कहां से पैसे लिए है।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular