Homeहरियाणाकरनालनिपुण भारत मिशन बच्चों को आधारभूत साक्षरता और संख्यात्मकता ज्ञान के लिए...

निपुण भारत मिशन बच्चों को आधारभूत साक्षरता और संख्यात्मकता ज्ञान के लिए सराहनीय पहल

इशिका ठाकुर, Karnal News:
उपायुक्त ने निपुण भारत मिशन के सफल क्रियान्वयन को लेकर संबंधित अधिकारियों के साथ की बैठक, दिए आवश्यक निर्देश।

मिशन के सफल आयोजन के लिए एक्शन प्लान

निपुण भारत मिशन के क्रियान्वयन को लेकर उपायुक्त अनीश यादव की अध्यक्षता में बुधवार को लघु सचिवालय के सभागार में इस मिशन से जुड़े विभिन्न विभागों के अधिकारियों की बैठक आयोजित हुई, जिसमें उपायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे इस मिशन के सफल आयोजन के लिए जिला में एक्शन प्लान तैयार करें और इस कार्य में शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े एनजीओ का भी सहयोग लिया जाए ताकि बच्चों के मूलभूत ज्ञान में वृद्धि हो सके।

निपुण भारत मिशन से सक्षम वातावरण का निर्माण

Nipun Bharat Mission Commendable Initiative for Children
Nipun Bharat Mission Commendable Initiative for Children

उपायुक्त अनीश यादव ने कहा कि भारत सरकार द्वारा नई शिक्षा नीति के तहत निपुण भारत योजना को शिक्षा मंत्रालय द्वारा 5 जुलाई को आरंभ किया गया है। निपुण भारत मिशन के माध्यम से सक्षम वातावरण का निर्माण किया जाएगा, जिसके माध्यम से आधारभूत साक्षरता और संख्यात्मकता के ज्ञान को छात्रों को प्रदान किया जा सकेगा। निपुण योजना के माध्यम से वर्ष 2026-27 तक प्रत्येक बच्चे को तीसरी कक्षा के अंत तक पढऩे, लिखने एवं अंकगणित को सीखने की क्षमता प्रदान की जाएगी। इस योजना का कार्यान्वयन स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग द्वारा किया जाएगा। उन्होंने स्कूल मैनेजमेंट कमेटी को मजबूत करने पर बल दिया।

निपुण भारत मिशन स्कूली शिक्षा कार्यक्रम 

बैठक में जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी रोहताश वर्मा ने बताया कि निपुण भारत मिशन स्कूली शिक्षा कार्यक्रम समग्र शिक्षा का एक हिस्सा है। इस योजना के कार्यान्वयन के लिए सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में 5 स्तरीय तंत्र स्थापित किया गया है। यह 5 स्तरीय तंत्र राष्ट्रीय, राज्य, जिला व ब्लॉक स्कूल स्तर पर संचालित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस मिशन को लेकर जिला में करीब 2 हजार अध्यापकों को प्रशिक्षित किया जा चुका है।

जिला परियोजना तथा ब्लॉक परियोजना कार्यान्वयन का गठन 

ऐसा करने वाला करनाल प्रदेश का पहला राज्य है। उन्होंने बताया कि शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशानुसार जिला में जिला सुदृढ़ीकरण समिति, जिला परियोजना कार्यान्वयन इकाई तथा ब्लॉक परियोजना कार्यान्वयन इकाई का गठन किया जाना है। इसको लेकर उपायुक्त ने स्वीकृति प्रदान की। बैठक में जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी ने सहयोगी विभाग जैसे स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों से अनुरोध किया कि वे अपने-अपने विभाग से संबंधित जिम्मेदारियों को निभाने में शिक्षा विभाग को भरपूर सहयोग दें। इस अवसर पर शिक्षा विभाग से कुसुम ने पॉवर प्रजैंटेशन के माध्यम से निपुण भारत मिशन के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

निपुण भारत मिशन के तहत ज्ञान दिया 

बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त डा. वैशाली शर्मा ने सुझाव दिया कि जिला के जिन स्कूलों में कक्षा तीसरी तक के बच्चों को निपुण भारत मिशन के तहत आधारभूत साक्षरता और संख्यात्मकता ज्ञान दिया जाना है, उनकी एनजीओ के साथ मैपिंग करवाई जाए।

बैठक में उपस्थित 

Nipun Bharat Mission Commendable Initiative for Children
Nipun Bharat Mission Commendable Initiative for Children

बैठक में जिला परिषद के सीईओ गौरव कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी राजपाल चौधरी, महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी राजबाला, जिला सूचना एवं जन सम्पर्क अधिकारी देवेन्द्र शर्मा, जिला बाल कल्याण अधिकारी विश्वास मलिक, डिप्टी सिविल सर्जन डा. कुलबीर, डाईट प्रिंसिपल, बीईओ, एबीआरसी, बीआरपी व एनजीओ सम्पर्क फाउंडेशन के प्रतिनिधि सतीश कौशिक, बे्रक-थ्रू की प्रोग्राम लीडर आरती, रॉकेट लर्निंग से प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें : यादव धर्मशाला में आयोजित शिविर में 182 मरीजों के नेत्रों की हुई जांच

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular