HomeहरियाणाकरनालEmphasis on skill based education: कौशल आधारित शिक्षा पर जोर दें संस्थान:...

Emphasis on skill based education: कौशल आधारित शिक्षा पर जोर दें संस्थान: कृषि मंत्री

इशिका ठाकुर, करनाल:

Emphasis on skill based education: कृषि मंत्री जयप्रकाश दलाल ने कहा कि मंडियों में गेहूं खरीद के तमाम इंतजाम पूरे कर लिए गए हैं और इस बार 400 से अधिक मंडियों में गेहूं की खरीद की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस बार सरसों की सरकारी खरीद नहीं हो पाएगी क्योंकि सरसों का बाजार मूल्य एमएसपी से काफी अधिक है। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि अनेक फसलों का बाजार मूल्य एमएसपी से अधिक होने के कारण किसानों के आर्थिक लाभ में वृध्दि हुई है।

कृषि मंत्री जयप्रकाश दलाल ने रोजगार मेले में युवाओं को दिए नियुक्ति पत्र

आज करनाल के क्षेत्रीय बागवानी प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित रोजगार मेले में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करते हुए जयप्रकाश दलाल ने कहा की संस्थान स्किल आधारित शिक्षा को बढ़ावा दें ताकि युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के अवसर मिल सकें। उन्होंने कहा कि आज बाजार में कौशल आधारित युवाओं और प्रोफेशनल की भारी मांग है लेकिन बाजार को प्रशिक्षित लोग नही मिल पा रहे। ऐसे में संस्थानों को चाहिए कि वे ऐसे कोर्सेज शुरू करें जिनसे युवाओं को रोजगार मिल सके। एक सवाल के जवाब में कृषि मंत्री ने कहा कि ऑनलाइन सिस्टम से मंडियों में पारदर्शिता आई है और इससे कालाबाजारी पर भी रोक लगी है।

Read Also: Better education level other states: प्रदेश सरकार शिक्षा के स्तर को अन्य राज्यों से बेहतर बनाने के लिए प्रयासरत : सुख राम चौधरी

400 से अधिक मंडियों में होगी गेहूं की खरीद, इस बार सरसों की नहीं होगी सरकारी खरीद, तिलहन के क्षेत्र 25% हुई वृद्धि , बढाई जाएगी भंडारण क्षमता

ऑनलाइन सिस्टम से किसानों के खातों में खातों में सीधे राशि जा रही है और फसल विविधीकरण को बढ़ावा मिला है। श्री दलाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लक्ष्य दिया था कि किसान परंपरागत फसलों की बजाए दलहन और तिलहन की फसलों पर जोर दें, इसका हरियाणा में काफी अच्छा परिणाम मिला है और पिछले वर्ष तिलहन की क्षेत्र में 25% की वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि इस बार प्रदेश में गेहूं के रखरखाव के लिए काफी बेहतर इंतजाम किए गए हैं और भंडारण के लिए गोदामों की संख्या भी बढ़ाई जा रही है। इस अवसर पर मेले में रोजगार मेले में आए हुए युवाओं ने कहा कि आने वाला समय प्रोफेशनल का है ऐसे में युवाओं को कौशल आधारित शिक्षा की ओर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि बागवानी क्षेत्र में प्रशिक्षित युवाओं को यहां पर विभिन्न कंपनियों द्वारा रोजगार दिया जा रहा है जो एक अच्छी शुरुआत है ।

अनेक युवाओं को आईलेट्स की मुफ्त ट्रेनिंग देकर विदेशों में रोजगार के लिए भेजा

Emphasis on skill based education

गौरतलब है कि उचानी में प्रदेशभर के किसान व युवाओं को विभिन्न प्रकार के लघु अवधि कोर्स करवाए जाते हैं इसके बाद उनका पोर्टल पर पंजीकरण कर प्लेसमेंट भी कराया जाता है। यही नहीं इस केंद्र द्वारा प्रशिक्षित युवाओं को विदेशों में भी रोजगार हेतु पूरी सहायता की जाती हैं । केंद्र की मदद से अब तक अनेक युवाओं को आईलेट्स की मुफ्त ट्रेनिंग देने के बाद विदेशों में रोजगार के लिए भेजा जा चुका है।

Read Also: District Employment Office: जिला रोजगार कार्यालय में 28 मार्च से 1 अप्रैल तक व्यावसायिक मार्गदर्शन सप्ताह का आयोजन

READ ALSO : पंजाब बोर्ड ने जारी किया 10वीं-12वीं का शेड्यूल Punjab Board 10th-12th Schedule

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular