Homeहरियाणाकरनालप्रतिभा खोज परीक्षा में विज्ञान, गणित और अंग्रेजी की कक्षाएं होंगी

प्रतिभा खोज परीक्षा में विज्ञान, गणित और अंग्रेजी की कक्षाएं होंगी

उपायुक्त एवं जिला बाल कल्याण परिषद के अध्यक्ष अनीश यादव ने यहां का दौरा कर इसका निरीक्षण किया।

इशिका ठाकुर, करनाल:
बाल भवन परिसर में, बच्चों के बौद्धिक और शैक्षिक विकास (Development of Children)के मकसद से निमार्णाधीन, द्विमंजिला विश्व स्तरीय स्मार्ट डे-केयर-कम-इंडोर एंजॉयमेंट जोन भवन मुकम्मल होने को है। मंगलवार को उपायुक्त एवं जिला बाल कल्याण परिषद के अध्यक्ष अनीश यादव ने यहां का दौरा कर इसका निरीक्षण किया।

क्या खास है नए भवन में

Development of Children is to be Completed in Karnal Bal Bhavan Complex
Development of Children is to be Completed in Karnal Bal Bhavan Complex
निरीक्षण के दौरान उपायुक्त ने बताया कि नए भवन में बच्चों के लिए कई तरह की गतिविधियां रहेंगी। इनमें सबसे खास, राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा के तहत बनाया गया, रियल टाईम इंटरएक्टिव वर्चुअल क्लास रूम फॉर साईंस, मैथ एंड इंग्लिश एक्सिलेंसी प्रोग्राम, यानि विज्ञान, गणित व अंग्रेजी उत्कृष्टता कार्यक्रम के लिए वास्तिवक समय संवाद आभासी कक्षा है, जो लगभग मुकम्मल हो गया है। 50 बच्चों की क्षमता वाले इस वातानुकूलित कक्ष में प्रोजेक्टर, स्क्रीन, ध्वनि व्यवस्था,  360 डिग्री पर घूमने वाला कैमरा, इंटरनेट सुविधा, कम्प्यूटर सिस्टम जैसी सभी सुविधाएं मौजूद रहेंगी। यह प्रथम तल पर बनाया गया है।

छठी से दसवीं कक्षा तक वर्चुअल क्लास

उन्होंने बताया कि वर्चुअल क्लासरूम में गरीब बच्चों को लिया जाएगा, जो छठी से लेकर दसवीं कक्षा तक के होंगे। एक दिन में एक ही कक्षा के बच्चे उपस्थित होंगे। बच्चों को राज्य बाल कल्याण परिषद की ओर से वर्चुअल कार्यक्रम के तहत तीन-तीन घण्टे उपरोक्त बताए गए विषयों पर उत्कृष्टता हासिल करवाई जाएगी। बाल संरक्षण संस्थान और कन्या विद्यालय की लड़कियों को भी स्क्रीनिंग टेस्ट के आधार पर इसमें लिया जा सकेगा। वर्चुअल कक्षाएं सोमवार से शुक्रवार तक रहेंगी और विषय ओलम्पियाड के तहत बेहतर से बेहतर तैयारी करवाई जाएगी।

इनका भी किया निरीक्षण

बहुउद्देशीय नई बिल्डिंग का निरीक्षण करने के पश्चात उपायुक्त ने बाल भवन में बच्चों के विकास के लिए करवाई जा रही भिन्न-भिन्न गतिविधियों का भी निरीक्षण किया। प्रवेश पर ही नन्हे-मुन्नो से मुखातिब हुए। इसके बाद बाल भवन के अंदर चल रहे डे-केयर सेंटर को देखा। मार्शल आर्ट के बच्चों से मिलकर उनसे संवाद किया। बुढ़ाखेड़ा स्थित मिनी बाल भवन की लड़कियों से मिले। यह लड़कियां वहां सिलाई, कढ़ाई का प्रशिक्षण ले रही हैं और अब ब्यूटी केयर सेंटर को भी साथ जोड़ने की चाहत लेकर उपायुक्त के समक्ष आई थी।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular