Homeहरियाणाकरनालचाईल्ड लाइन द्वारा अब तक लगभग 5500 बच्चों को सहायता दी जा...

चाईल्ड लाइन द्वारा अब तक लगभग 5500 बच्चों को सहायता दी जा चुकी है: संयोजक सुदेश देवी

इशिका ठाकुर,इंद्री :

उपायुक्त एवं जिला बाल कल्याण परिषद के अध्यक्ष अनीश यादव की प्रेरणा से जिला बाल कल्याण परिषद चाइल्ड लाइन द्वारा 14 नवम्बर से 22 नवम्बर तक चाइल्ड लाइन से दोस्ती सप्ताह मनाया गया। इस दौरान चाइल्ड लाइन द्वारा विभिन्न स्कूलों में बच्चों के लिए विभिन्न गतिविधिया व परामर्श सत्र आयोजित किए गए, साथ ही स्कूल मुखिया व सरपंचों से बच्चों के हित में काम करने के शपथ पत्र लिखवाए गए। चाइल्ड लाइन टोल फ्री नम्बर 1098 करनाल में वर्ष 2012 से काम कर रही है। चाईल्ड लाइन द्वारा अब तक लगभग 5500 बच्चों को सहायता दी जा चुकी है।

चाइल्ड लाइन से दोस्ती सप्ताह का शुभारम्भ

यह जानकारी चाइल्ड लाइन संयोजक सुदेश देवी ने एक भेंट वार्ता में दी, उनके साथ कविता रानी व सरोज रानी उपस्थित रही। संयोजक ने बताया कि जिला बाल कल्याण अधिकारी विश्वास मलिक के मार्गदर्शन में 14 नवम्बर को बाल दिवस के उपलक्ष्य में अतिरिक्त उपायुक्त डा0 वैशाली शर्मा के करकमलों से चाइल्ड लाइन से दोस्ती सप्ताह का शुभारम्भ करवाया गया। इस दौरान टोल फ्री नम्बर 1098 से सम्बन्धित रंगोली बनाई गई। उन्होंने बताया कि 16 नवम्बर को क्राइम ब्रांच मधुबन में एएसपी अमित दहिया तथा 22 नवम्बर को विभिन्न अधिकारियों, जिनमें बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष उमेश चानना, सीजेएम सुश्री जसबीर कौर, सीटीएम अभय सिंह जागडा, एआईपीआरओ रघुबीर सिंह तथा सांसद कार्यालय में भगवानदास अग्गी से मिलकर दोस्ती बंधन बांधते हुए बच्चों की सहायता के लिए बातचीत की गई।

इस अवसर पर ये रहे शामिल

इस अवसर पर उक्त अधिकारियों को चाइल्ड लाइन द्वारा डायरी व पैन भेंट किया गया, जिस पर चाइल्ड लाइन का लॉगो व टोल फ्री नम्बर 1098 लिखा हुआ है। चाइल्ड लाइन टीम में 9 सदस्य कार्यरत है। जिनमें एक संयोजक, एक परामर्शदाता, 6 टीम सदस्य व एक वालंटियर शामिल है।

ये भी पढ़ें : अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव पर श्री राम मंदिर के स्टाल पर लगी है भारी भीड़

ये भी पढ़ें : सरकार ने नहीं मानी मांग तो कल से OPD पूर्ण रूप से कर देगें बंद

ये भी पढ़ें : मिशन महेंद्रगढ़ अपना जल अभियान के तहत एसडीएम ने किया पौधारोपण

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular