Homeराज्यहरियाणाकरनाल: नकलरहित और शांतिपूर्ण ढंग से पुलिस पहरे में होगी एचसीएस की...

करनाल: नकलरहित और शांतिपूर्ण ढंग से पुलिस पहरे में होगी एचसीएस की लिखित परीक्षा: डीसी निशांत यादव

प्रवीण वालिया,करनाल :
हरियाणा लोक सेवा आयोग की ओर से 12 सितम्बर को आयोजित होने वाली एचसीएस की लिखित परीक्षा को उपायुक्त निशांत कुमार यादव की अध्यक्षता में लघु सचिवालय के सभागार में एक बैठक का आयोजन हुआ जिसमें जिला में स्थापित किए गए सभी परीक्षा केन्द्रों के अधीक्षक सहित पुलिस अधीक्षक गंगाराम पुनिया, एडीसी योगेश कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी राजपाल चौधरी, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी रोहताश वर्मा उपस्थित रहे।
उपायुक्त ने कहा कि नकलरहित और शांतिपूर्ण परीक्षा आयोजित करवाने के लिए प्रशासन ने सभी पुख्ता इंतजाम कर लिए हैं। एचसीएस की लिखित परीक्षा के लिए जिला में 24 सैंटर बनाए गए हैं जिन पर करीब 7488 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। परीक्षा केन्द्रों के लिए एचसीएस स्तर के अधिकारी को ड्यूटी मैजिस्ट्रेट के रूप में तैनात किया जाएगा। इसके अलावा प्रश्र पत्र के वितरण व जमा करवाने के कार्य के लिए कार्यकारी अभियंता नियुक्त किए जाएंगे। परीक्षा के लिए नोडल अधिकारी के रूप में अतिरिक्त उपायुक्त योगेश कुमार कार्य देखेंगे तथा जिला शिक्षा अधिकारी राजपाल चौधरी कोर्डिनेटर के रूप में कार्य करेंगे।
उपायुक्त ने एचसीएस की लिखित परीक्षा के सफल आयोजन को लेकर परीक्षा केन्द्र अधीक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि यह परीक्षा राज्य में एक बड़े स्तर के अधिकारियों की भर्ती के लिए है। इस परीक्षा को लेकर आयोग की ओर से जारी दिशा-निदेर्शों की दृढ़ता से पालना सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि परीक्षा से जुड़े सभी अधिकारी व कर्मचारी सतर्कता व ईमानदारी के साथ अपनी ड्यूटी का निर्वहन करें, कहीं पर भी लापरवाही न बरतें। छोटी सी लापरवाही प्रशासन व सरकार की छवि को धूमिल कर देती है। परीक्षा केन्द्र में ड्यूटी पर तैनात अधिकारी व कर्मचारी के मोबाईल फोन रखने पर पूर्णत: प्रतिबंध है,अगर किसी के पास मोबाईल फोन मिला तो उसके खिलाफ प्रशासनिक कार्यवाही की जाएगी। सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए स्कूल व कॉलेज के दूरभाष नम्बर का प्रयोग करें, निरीक्षक टीम के मोबाईलों पर भी नजर रखें। कोविड-19 को मद्देनजर रखते हुए परीक्षा केन्द्र को एक दिन पहले ही सैनेटाईज करवाएं तथा परीक्षा केन्द्र के शौचालय इत्यादि की चैकिंग करवाएं। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि परीक्षा केन्द्रों में बिजली, स्वच्छ पेयजल, सुलभ शौचालय तथा फैंसिंग, सीसीटीवी कैमरा तथा जैमर इत्यादि की समुचित व्यवस्था का प्रबंध करवाएं।
इसकी सूचना उच्च पुलिस अधिकारी दे, होगी कार्रवाई बैठक में पुलिस अधीक्षक गंगाराम पुनिया ने कहा कि प्रशासन द्वारा परीक्षा केन्द्रों के आसपास ट्रैफिक, कानून व्यवस्था व सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं, किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। यदि कोई पुलिसकर्मी ड्यूटी के दौरान सहयोग नहीं करता तो इसकी सूचना मौके पर तैनात पुलिस इंस्पैक्टर व डीएसपी को दे सकते हैं, लापरवाह कर्मचारी के खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि प्रशासन हर हाल में परीक्षा को नकलरहित करवाने के लिए कृतसंकल्प है।
परीक्षा केन्द्र के गेट पर ही लगेगी बॉयोमैट्रिक
अतिरिक्त उपायुक्त योगेश कुमार ने बताया कि एचसीएस की लिखित परीक्षा दो चरणों में होगी, प्रात:कालीन परीक्षा 10 बजे से शुरू होकर 12 बजे तक तथा दोपहर के समय सायं 3 बजे से सायं 5 बजे तक आयोजित की जाएगी। परीक्षार्थियों को परीक्षा केन्द्र पर एक घंटा पहले पहुंचना अनिवार्य है यानि प्रात:कालीन सत्र में 9 बजे तक तथा सांयकालीन सत्र में दोपहर 2 बजे तक प्रत्येक उम्मीदवार का परीक्षा केन्द्र के अंदर प्रवेश हो जाना चाहिए उसके बाद किसी भी परीक्षार्थी को अंदर प्रवेश नहीं करने दिया जाए, गेट से बिना बॉयोमैट्रिक के किसी को भी अंदर प्रवेश न करने दें। दिव्यांग परीक्षार्थियों के लिए अलग से परीक्षा केन्द्र बनाया जाएगा।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments