Homeराज्यहरियाणाकरनाल : सीजीसी की बैठक में उठाए कई मुद्दे

करनाल : सीजीसी की बैठक में उठाए कई मुद्दे

प्रवीण वालिया, करनाल :
सिटीजंस ग्रीवेंसीज कमेटी की उपभोक्ता संरक्षण एवं सूचना का अधिकार उपसमिति की बैठक अध्यक्ष संजय बतरा के नेतृत्व में मानव सेवा संघ में हुई। इस बैठक में चैयरमैन एडवोकेट लाजपत राय चूचड़ा एवं सभी उपसमितिओं के अध्यक्ष एवं सचिव अपने महत्वपूर्ण सुझाव और मार्गदर्शन देने के लिए विशेष आमंत्रित अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। बैठक में सर्वप्रथम सबने अपना परिचय दिया और वाइज चेयरमैन ओपी. सचदेवा ने आए हुए सभी सदस्यों का स्वागत किया। इसके पश्चात अध्यक्ष संजय बतरा ने सभी सदस्यों को उपसमिति द्वारा विगत करोना काल में किए गए कार्यों बारे विस्तार से बताया और उपसमिति द्वारा आगामी समय में क्या-क्या कार्य किए जाएं बारे सुझाव मांगे।
जिस पर ला एंड आर्डर उपसमिति के अध्यक्ष विपिन शर्मा द्वारा बताया गया कि उपभोक्ता संरक्षण एवं सूचना का अधिकार उपसमिति सभी उपसमितियों के साथ जुड़ी हुई है अत: इस उपसमिति को अन्य उपसमितियों के साथ मिलकर कार्य करना चाहिए। उन्होंने बताया कि कई उपभोक्ताओं जिनके मीटर बदले गए हैं उन में से कईयों के बिल विभाग ने लाखो रुपए के भेज दिए हैं। उपसमिति विद्युत एवं टेलीफोन उपसमिति के साथ मिलकर विभाग द्वारा उपभोक्ताओं को राहत दिलवाए। एक अन्य सुझाव में उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा शहर में बहुत सारे विकास के कार्य किए जा रहे हैं परंतु देखने में आ रहा है कि इनमें से अधिकतर में संबंधित विभाग के अधिकारियों की लापरवाही के कारण साइट पर घटिया सामग्री का प्रयोग किया जा रहा है। जिस पर उपसमिति को कार्य करना चाहिए।
अध्यक्ष संजय बतरा ने एक अन्य सुझाव के जवाब में बताया कि देखने में आया है कि अधिकतर दवाइयों पर मूल्य बहुत अधिक प्रिंट किया हुआ है और कैमिस्ट मनमाने तरीके से पैसे वसूल रहे हैं । इस बारे संबंधित अधिकारियों और विशेषकर मंत्रालय से भी पत्राचार किया जाएगा। एडवाईजर प्रो. एसएस ब्रगोटा ने पैट्रोल पंपों पर बरती जा रही अनियमितता बारे बताया और कहा कि उपसमिति जो व्यापारिक संस्थान उपभोक्ताओं को अच्छी क्वालिटी और सुविधा प्रदान कर रहे हैं उन्हें प्रोत्साहित और सम्मानित भी करे। संरक्षक प्रमोद गुप्ता ने बताया कि सिटीजंस ग्रिवैंसिज कमेटी लोकहित में प्रशासन और लोगों के बीच में कड़ी का कार्य कर रही है और सभी उपसमितियों को लोगों के हितों की रक्षा के लिए कहीं भी हो रही अनियमितताओं को उजागर करते रहना चाहिए और उपभोक्ता संरक्षण उपसमिति सूचना का अधिकार का बखूबी उपयोग कर इस सबको उजागर कर सकती है। चेयरमैन लाजपत राय चूचड़ा ने भी सुझाव दिया कि उपसमिति सुनिश्चित करवाए कि सभी दुकानदार उपभोक्ताओं को पक्का बिल दें।

उन्होंने बैठक की समीक्षा करते हुए कहा कि आज की बैठक में सभी की सहभागिता सराहनीय है और उपसमिति द्वारा उठाए गए मुद्दों के लिए किसी भी संबंधित विभाग के अधिकारियों के समक्ष प्रस्तुत करने के लिए वह हर समय उपलब्ध रहेंगे। निवर्तमान चेयरमैन एस एम कुमार ने अध्यक्ष संजय बतरा और उपसमिति द्वारा किए गए कार्यों को सराहा और बैठक आए सभी सदस्यों का धन्यवाद किया। इस अवसर पर महासचिव एसके शर्मा, संरक्षक प्रमोद गुप्ता, पूर्व चेयरमैन एसएम कुमार, वाइस चेयरमैन डीएन अरोड़ा, जेआर कालड़ा, ओपी सचदेवा, अध्यक्ष प्रो एस के गोयल, संतोष बक्शी, के एल विरमानी, विपिन शर्मा, सचिव नरेंद्र सुखन, प्रतिभा बंसल,  एडवाईजर केपी सिंह, अंजू शर्मा, भूषन गोयल, डॉ एस के शर्मा, हरबंस लाल खेतरपाल, राजेश ग्रोवर, एस आर पाहवा, बीबी पाहवा, बीआर गुप्ता, रतन जैन, परमिन्द्र पाल सिंह, मानव गुप्ता एवं को-आर्डिनेटर रजनीश चोपड़ा ने भी चर्चा में हिस्सा लिया और अपने अपने सुझाव दिए।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular