Homeराज्यहरियाणाकरनाल : महाराणा प्रताप बागवानी विश्वविद्यालय सस्ते दामों में देगा सब्जियों की...

करनाल : महाराणा प्रताप बागवानी विश्वविद्यालय सस्ते दामों में देगा सब्जियों की अच्छी गुणवत्ता वाली पौध : प्रो. समर सिंह

प्रवीण वालिया, करनाल :

महाराणा प्रताप बागवानी विश्वविद्यालय अंजनथली किसानों को सब्जियों की अच्छी  गुणवत्ता वाली पौध तैयार कर सस्ते दाम में देगा। इसके लिए प्रदेश में चार हाईटेक पालीहाउस तैयार किए हैं। मुरथल के पालीहाउस में पौध तैयार करना शुरू कर दिया है। किसानों ने शिमला मिर्च की चार लाख पौध की बुकिंग की करवाई है। महाराणा प्रताप विश्वविद्यालय के उप कुलपति प्रो. समर सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय के चार मुख्य क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्रों पर हाईटेक ग्रीन हाउस बनाए है। इसमें अनुसंधान फार्म अंजनथली में 5 एकड़, क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र बधाना (जींद ) 2 एकड़ रईया झज्जर में 5 एकड़ और मुरथल सोनीपत में 4 एकड़ में पालीहाउस तैयार किया है। किसानों के लिए यहां किसानों से बीज लेकर उच्च गुणवत्ता वाली पौध तैयार की जाएगी। जिसमें विभिन्न फलों, सब्जियां एवं फूलों की खेती के लिए विशेषतौर पर पौध तैयार होगी। क्षेत्रीय अनुसंधान केन्द्र मुरथल में पौध तैयार करने का काम शुरू कर दिया है। जिसमें 4 लाख पौध की किसानों ने बुकिंग करवा ली है इसमें मुख्यतौर पर शिमला मिर्च की विभिन्न प्रजातियों की पौध तैयार होगी। सभी ग्रीन हाउस में टपका सिंचाई से पौध में पानी एवं पोषक तत्वों का प्रबन्ध किया जा रहा है। उचित आर्द्रता एवं तापमान को बनाने के लिए आधुनिक उपकरण लगाए गए है।
शिमला मिर्च का उत्पादन कर किसान कमा रहे मुनाफा
उन्होंने बताया कि शिमला मिर्च अलग-अलग रंगो मेंं उगाई जाती है। इसका किसानों को अच्छा भाव मिल जाता है। शिमला मिर्च अलग-अलग रंगों में सब्जी के अलावा सलाद, पिज्जा के टापिग्स, बर्गर और सेंडविच में डलता है। इसलिए इसकी मार्कीट में डिमांड भी अच्छी है। बड़े होटलों में भी इसकी ज्यादा डिमांड है। किसान परम्परागत खेती से हटकर ही आमदनी को कर सकते हैं दोगुना प्रो. समर सिंह ने बताया कि अनुसंधान फार्म अंजनथली, बधाना और रईया में भी जल्द पौध तैयार करना शुरू किया जाएगा।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments