Homeराज्यहरियाणाकरनाल: बच्चों के साथ दोस्ती करनी पड़ेगी, तभी वे हमारे साथ अपनी...

करनाल: बच्चों के साथ दोस्ती करनी पड़ेगी, तभी वे हमारे साथ अपनी समस्याओं को रख पाएंगे :प्रदीप 

प्रवीण वालिया,करनाल:
सुश्री जसबीर चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण  सुश्री जसबीर ने बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व ब्रेक-थ्रू संस्था के द्वारा एडीआर हॉल, डीएलएसए में राष्ट्रीय कानूनी साक्षरता मिशन के तहत पीएलवी के साथ कैपेसिटी बिल्डिंग कार्यक्रम आयोजित किया गया। ब्रेक-थ्रू संस्था से मुकेश मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित रहे। उन्होंने सबको जेंडर पर प्रशिक्षण दिया जिसके तहत लिंग व सामाजिक लिंग के बारे में सबके साथ चर्चा की गई ओर बताया गया कि किस प्रकार सामाजिक लिंग समाज मे लिंग आधारित भेदभाव पैदा करता है। पावर वॉक गेम के माध्यम से लड़के व लड़की के बीच किये जा रहे भेदभाव के अंतर को सबके बीच स्पष्ट किया गया। उन्होंने कहा कि लिंग आधारित भेदभाव हम उनके जन्म से ही शुरू कर देते है जिनसे दोनों की जिंदगी में बहुत बड़ा अंतर पैदा हो जाता है। एक को कमजोर दिखाया जाता है और एक ताकतवर दिखाया जाता है।
जो पितृसत्तात्मक सोच को बढ़ावा देता है। वर्तमान में ओलंपिक खेलों में लड़कियां मैडल ला रही है अर्थात जिसको मौका मिला वह जरूर कुछ कर के दिखा रहा है लेकिन अभी भी बहुत सारी लड़कियों को सामाजिक मान्यताओं के चलते अनेक चीजों से वंचित होना पड़ता है चाहे वह शिक्षा हो या उसकी आजादी हो। इस अवसर पर पीएलवी बबली ने कहा कि मैं अपनी दोनों बेटियों को पूरा स्पॉट करती हूं और चाहे समाज के लोग कुछ भी कहे मैं अपनी बेटियों को हर वह मौका दूंगी जिसे लोग सिर्फ लड़कों के लिए उचित समझते हैं। एडवोकेट मीनाक्षी गुप्ता ने सब को पीएलवी के कार्य के बारे में बताया व घरेलू हिंसा पर बातचीत की। ब्रेक-थ्रू से प्रदीप ने कहा कि हमे अपने बच्चों के साथ दोस्ती करनी पड़ेगी, तब ही वह हमारे साथ अपनी समस्याओं को रख पाएंगे, नहीं तो वह समस्याएं एक दिन बड़ी बन जाती है और दुर्घटनाओं को जन्म देती है। सीजेएम जसबीर ने ट्रैनिंग के लिए ब्रेक-थ्रू का धन्यवाद किया और भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular