Homeराज्यहरियाणाकरनाल : वित्तायुक्त राजस्व ने उपायुक्तों के साथ की स्वामित्व योजना पर...

करनाल : वित्तायुक्त राजस्व ने उपायुक्तों के साथ की स्वामित्व योजना पर वीडियो कांफ्रैंस के जरिए प्रगति की समीक्षा

प्रवीण वालिया, करनाल :
हरियाणा के वित्तायुक्त (राजस्व) संजीव कौशल ने शनिवार को प्रदेश के उपायुक्तों के साथ विडियो कांफ्रैंस कर निर्देश दिए कि आगामी 15 अगस्त तक सरकार की स्वामित्व योजना में दिए गए लक्ष्यों को पूरा करने के लिए मिशन मोड पर कार्य करें। उन्होंने समीक्षा के दौरान कहा कि करनाल प्रशासन द्वारा एक सप्ताह में 4132 रजिस्ट्रियां की है जोकि प्रदेश में सर्वाधिक है। करनाल के डीसी निशांत कुमार यादव व उनकी पूरी टीम का यह कार्य प्रशंसनीय है। दूसरे जिले के अधिकारियों को भी इस मॉडल को अपनाकर अपने लक्ष्य को हर संभव पूरा करना चाहिए। एफ.सी.आर.ने कहा कि प्रदेश सरकार की इस महत्वाकांक्षी स्कीम में सभी गांव और शहर के कुछ भागों को लाल डोरा से मुक्त करने के लिए क्रांतिकारी कदम उठाएं जा रहे हैं और यह सरकार की फ्लैगशिप स्कीम है। उन्होंने कहा कि स्वामित्व योजना के कार्य को आगामी सितम्बर तक हर हाल में मुकम्मल करना है, लेकिन 15 अगस्त तक जिलों को जो लक्ष्य दिए गए हैं। उन्हें अवश्य पूरा कर दिखाएं। उन्होंने कहा कि स्पष्ट बात यह है कि मुझे रिजल्ट चाहिए। किसी की कोई जरूरत है, तो उसे बताएं।

वी.सी. में एफ.सी.आर. ने रजिस्ट्रेशन आफ डीड पर भी चर्चा की और जिलावार उसकी रिपोर्ट ली। वी.सी. में उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने रजिस्ट्री की प्रगति रिपोर्ट के बारे में बताया कि तहसीलदार, नायब तहसीलदार व बीडीपीओज को टारगेट दिए गए थे, उसी के तहत पिछले सप्ताह में इतना अच्छा कार्य हुआ है। उन्होंने बताया कि जिला में अब तक 18 हजार 157 रजिस्ट्रियां हो चुकी हैं, बीते सप्ताह 4132 रजिस्ट्रियां की गई हैं। जिला में अब तक 125 गांवों को लाल डोरा से मुक्त किया जा चुका है तथा 57 गांवों की दावे एवं आपत्तियां लम्बित है। उन्होंने बताया कि जिला के 389 गांवों में से 357 गांवों के प्रथम मैप तथा 276 गांवों के द्वितीय मैप और 133 गांवों के फाईनल मैप प्राप्त हो चुके है। जिन गांवों का फाईनल मैप आ चुका है, उनकी प्रोपटी आईडी व रजिस्ट्री बनाने का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। वीसी के बाद डीसी ने तहसीलदार व बीडीपीओज को निर्देश दिए कि वे रजिस्ट्री के कार्य में तेजी लाए और जो रजिस्ट्रियां तथा दावे व आपत्तियां लम्बित रह गई है, उनका एक सप्ताह में समाधान करें। बैठक में उपमण्डलाधीश इन्द्री सुमित सिहाग, एसडीएम असंध मनदीप कुमार, डी.डी.पी.ओ. राजबीर खुंडिया तथा डी.आर.ओ. श्याम लाल, तहसीलदार, नायब तहसीलदार व खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी उपस्थित रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments