Homeराज्यहरियाणाकरनाल : निजी अस्पतालों में भी गरीब लोगों को मिल रहा है...

करनाल : निजी अस्पतालों में भी गरीब लोगों को मिल रहा है सालाना 5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज : डीसी

प्रवीण वालिया, करनाल :

उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने बताया कि आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत करनाल जिला के 45 अस्पताल सूचीबद्ध है। जिनमें 9 सरकारी तथा 36 निजी अस्पताल शामिल हैं। आयुष्मान भारत योजना गरीबों के लिए किसी संजीवनी से कम नहीं है। जो भी इस योजना से जुड़ा है, उसे खूब लाभ मिल रहा है। मंहगी होती स्वास्थ्य सेवाओं के बीच गरीब परिवार को सरकार की तरफ से बड़ा तोहफा मिल रहा है। पैसे न होने के बावजूद बीमार होने पर निजी अस्पतालों में जाकर कार्ड धारक लोग ईलाज करवा रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत गरीब परिवारों को साल में पांच लाख रुपये का मुफ्त ईलाज पैनल में शामिल प्राइवेट अस्पताल में मिल रहा है। करनाल जिले में 36 निजी और 9 सरकारी अस्पताल सरकार के पैनल पर है।

इन अस्पतालों में रामा सुपरस्पेशलटी अस्पताल, संजीव बंसल सिग्नस अस्पताल, बालाजी अस्पताल, मिमानी अस्पताल, विर्क अस्पताल, डा. के.सी. सचदेवा अस्पताल, मिगलानी नर्सिंग होम, सुशील गर्ग अस्पताल, सरस्वती नेत्रालय, पार्क अस्पताल, भटनागर आई केयर सेंटर, सूर्या अस्पताल, श्रीहरी अस्पताल, हरियाणा अस्पताल, ठाकुर आई व मैटरनिटी अस्पताल, मूलचंद किडनी व यूरोलॉजी अस्पताल, अर्पणा अस्पताल, सेठ अस्पताल, हरियाणा नर्सिंग होम, परवीन अस्पताल करनाल, अरोड़ा आई व लेसिकलेजर सेंटर, आर. पी. वेलटर अस्पताल, पारस नर्सिंग होम, करनाल नर्सिंग होम, पी. आर. पी. अस्पताल किडनी सेंटर व ब्लड बैंक, दुआ मल्टी स्पेशलटी अस्पताल, सत्यम अस्पताल, रोहित कठपालिया यूरोलॉजी सेंटर, अमर अस्पताल असंध, नीरा नर्सिंग होम, जगदम्बा बेबी केयर सेंटर, गुरु नानक अस्पताल, भाटिया आथोर्पेडिक सेंटर करनाल, डा. ऋषि आई इंस्टिट्यूट, श्रीराम चांद मेमोरियल अस्पताल शामिल है जिनमें आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत मुफ्त ईलाज की सुविधा उपलब्ध है व मुफ्त में आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड भी बनाए जाते है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular