Homeहरियाणाकैथलमर्यादा न लांघे नवीन जयहिंद : सुरेंद्र शर्मा बड़ौता

मर्यादा न लांघे नवीन जयहिंद : सुरेंद्र शर्मा बड़ौता

  • ब्राह्मण समाज को दलाल, बेशर्म, नकली व ठेकेदार कहने पर समाज में रोष
  • कहा- करनाल में आयोजित होने वाले भगवान परशुराम महाकुंभ को लेकर फैलाया जा रहा भ्रम
  • मुख्यमंत्री मनोहर लाल करेंगे समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत

मनोज वर्मा,कैथल:
आगामी 11 दिसंबर को करनाल में आयोजित होने वाले भगवान परशुराम महाकुंभ को लेकर नवीन जयहिंद व कुछ अन्य लोग भ्रम फैला रहे हैं व समाज के युवाओं को भडक़ाकर दिशाहीन करने की नाकाम कोशिश कर रहे हैं। वे लगातर वीडियो जारी कर ब्राह्मण समाज को दलाल, बेशर्म, नकली व ठेकेदार कह रहे है, जो अशोभनीय व असहनीय है। यह बात भगवान परशुराम महाकुंभ आयोजन समिति के अध्यक्ष व करनाल ब्राह्मण सभा के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा बड़ौता ने मीडिया को जारी विज्ञप्ति में कही। उन्होंने कहा कि नवीन जयहिंद मर्यादा न लांघे व अमर्यादित शब्दों का इस्तेमाल न करें। इससे समाज में भारी रोष है। सुरेंद्र शर्मा ने कहा कि करनाल में आयोजित होने वाले भगवान परशुराम महाकुंभ को लेकर भ्रम फैलाया जा रहा है। यह आयोजन ब्राह्मण समाज द्वारा सर्व समाज के सहयोग से कराया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि पिछले सप्ताह उन्होंने आयोजन स्थल को लेकर सभी सरकारी मानदंड पूरे किए हैं। यदि आयोजन को लेकर किसी को संदेह है तो वह हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के कार्यालय से बुकिंग स्लिप ले सकता है। जो सुरेंद्र शर्मा बड़ौता, अध्यक्ष ब्राह्मण सभा के नाम से है। उन्होंने कहा कि करनाल के सेक्टर 12 में 11 दिसंबर को आयोजित होने वाला भगवान परशुराम महाकुंभ अपने आप में मिसाल होगा। इसमें पूरे हरियाणा से बड़ी संख्या में लोग हिस्सा लेंगे। मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री मनोहर लाल होंगे। ब्राह्मण समाज के सांसद, मंत्री व विधायक भी शिरकत करेंगे। मुख्यमंत्री के सामने ब्राह्मण समाज अपनी मांगें रखेगा और भारी संख्या में पहुंच कर साबित कर देगा कि वे कमजोर नहीं हैं। पूरी उम्मीद है कि इस महाकुंभ में ब्राह्मण समाज को समाज हितैषी कई सौगात मिलेंगी। ब्राह्मण समाज को सभ्य, शिक्षित व शिष्टाचारी माना जाता है। लेकिन नवीन जयहिंद जिस शब्दावली का इस्तेमाल करते हैं, उससे समाज की छवि खराब होती है। नवीन जयहिंद हमारे भाई हैं और उन्हें भी जोश के साथ इस महाकुंभ में शामिल होना चाहिए। करीब 20 दिन से हर जिले में जाकर समाज के लोगों को निमन्त्रण दिया जा रहा है। सुरेन्द्र शर्मा ने कहा कि वे किसी भी पार्टी से संबंध नहीं रखते हैं और हर सरकार के सामने समाज की बात उठाते रहे हैं। कुछ राजनीतिक दलों के लोग युवाओं को गुमराह कर भडक़ाने का काम कर रहे हैं,जो असहनीय है।

प्रदेशभर के कोने-कोने से 36 बिरादरी के लोग महाकुंभ में पहुंचेंगे

करनाल ब्राह्मण सभा के प्रधान सुरेंद्र शर्मा बड़ौता ने कहा कि भगवान परशुराम सबके आदरणीय हैं और सर्व समाज भाइचारे की भाषा को समझता है। उन्होंने आह्वान किया कि इस राज्यस्तरीय महाकुंभ में बड़ी संख्या में लोग हिस्सा लेकर अपनी आवाज बुलंद करें। कहा कि सीएम सिटी करनाल में 11 दिसंबर को आयोजित होने वाले भगवान परशुराम महाकुंभ को लेकर ब्राह्मण समाज के साथ-साथ हर वर्ग के लोगों में उत्साह बना हुआ है। 36 बिरादरी के लोग महाकुंभ में आएंगे। यह प्रदेश स्तरीय महाकुंभ इतिहास रचेगा और इसमें प्रदेशभर के कोने-कोने से 36 बिरादरी के लोग महाकुंभ में पहुंचेंगे। कार्यक्रम में ब्राह्मण समाज सशक्त तरीके से अपने आप को पेश करे, ताकि हमारी मांगों को माना जाए। उन्होंने कहा कि हमें अब यह सोचने की जरूरत है कि हम क्यों पिछड़े हैं। इस बात का इतिहास गवाह है कि जिन कौमों में एकता नहीं होती वह पिछड़ जाती हैं। हमें एकजुट होकर अपनी बात रखनी है। भगवान परशुराम महाकुंभ में ब्राह्मण समाज के लोगों के सामने आ रही समस्याओं के बारे में मुख्यमंत्री को अवगत करवाया जाएगा और अपनी समस्याओं का निदान करवाया जाएगा।

ये भी पढ़ें : जिला मुख्यालय पर आयोजित गीता महोत्सव प्रोग्राम में सूरज स्कूल बलाना की पिहू ने मचाया धमाल

ये भी पढ़ें : हकेवि में विज्ञान और अनुसंधान के परिप्रेक्ष्य में नैतिकता पर विशेषज्ञ व्याख्यान आयोजित

Connect With Us: Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular