Homeहरियाणाकैथलजनता का ध्यान भटकाने के लिए भाजपा मना रही तिरंगा उत्सव: माजरा

जनता का ध्यान भटकाने के लिए भाजपा मना रही तिरंगा उत्सव: माजरा

मनोज वर्मा, Kaithal News:
पूर्व मुख्य संसदीय सचिव रामपाल माजरा ने कहा कि हरियाणा में आम आदमी का महंगाई के कारण जीना दूभर हो गया है। हर रोज बढ़ती महंगाई से लोगों को रोज मर्रा की वस्तुएं जुटाना मुश्किल हो गया है। सरकार को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि लोगों की आमदनी घट रही है और महंगाई सुरसा के मुख की तरह से बढ़ रही है। जिस कारण जनता त्राहि-त्राहि कर रही है।

कमियों को छिपाने के लिए मनाते हैं दिवस

माजरा गांव तितरम में आयोजित जनसभा में बोल रहे थे। उनके गांव में पहुंचने पर लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया। फूलमालाओं से उनका स्वागत किया। पूर्व मुख्य संसदीय सचिव ने कहा कि देश में लोकतंत्र नहीं बचा है। देश में आजादी का अमृत उत्सव मनाना अच्छी बात है। जिन बलिदानियों की वजह से आजादी मिली, उन्हें नमन करना अच्छी बात है।

लेकिन उन बलिदानियों द्वारा लिखे गए संविधान के तहत देश में हर व्यक्ति को समान अधिकार मिले, इसके लिए भी सरकार को काम करना चाहिए। आज महंगाई सातवें आसमान पर है। जीएसटी यह सोच कर लाया गया था कि नए टेक्स नहीं लगेंगे, लेकिन लोगों को अब दूध व दही पर भी टैक्स देना पड़ रहा है। इतना ही नहीं नोटबंदी को काला धन समाप्ति के लिए लाया गया था।

देश में दिन-ब-दिन बढ़ रहा काला

अब भाजपा के लिए यह मुद्दा ही नहीं बचा है। जबकि काला धन पहले से भी ज्यादा बढ़ गया है। जो भी नेता सरकार के खिलाफ आवाज उठाता है, उसे ईडी व दूसरी एजेंसियां घेर लेती हैं। भाजपा ने विपक्ष में रहते हुए सीबीआई पर कोर्ट की गई पिंजरे में तोता की टिप्पणी को खूब भुनाया था। क्या आज ईडी उसी राह पर नहीं है। जनता को सब दिखाई दे रहा है।

उन्होंने कहा कि आने वाले समय में किसान इस बात का बदला लेगा कि किसान मोर्चा से हुए समझौते के अनुसार एमएसपी कमेटी में उनके प्रतिनिधि क्यों नहीं लिए। बेरोजगारी पर सरकार से युवा खफा हैं। वे रोजगार को लेकर सवाल करेंगे। भाजपा अपने हर मुद्दे पर फेल रही है। केवल लोगों का ध्यान भटकाने के लिए तिरंगा उत्सव मना रही है। तिरंगा उत्सव मनाना अच्छी बात है। लेकिन शहीदों के सपनों का भारत बनाने का भी प्रयास करना चाहिए। भाजपा ने आठ साल के शासनकाल में एक भी नया संस्थान नहीं बनाया।

ये भी पढ़ें : यादव धर्मशाला में आयोजित शिविर में 182 मरीजों के नेत्रों की हुई जांच

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular