Homeहरियाणाकैथलसरकार हरियाणा में सार्वजनिक सभा करने की हिमाकत न करें

सरकार हरियाणा में सार्वजनिक सभा करने की हिमाकत न करें

कैथल। (मनोज वर्मा)  सरकार द्वारा लगातार बढाई जा रही कमर तोड बेतहाशा मंहगाई के खिलाफ केन्द्रीय संयुक्त किसान मोर्चे के आह्वान पर देश भर में किए जाने वाले विरोध प्रदर्शन को संयुक्त किसान मोर्चा जिला कैथल तन, मन, धन से सफल बनाएगा व कैथल में मंहगाई के विरोध में जोरदार विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। यह निर्णय आज जिला कैथल संयुक्त किसान मोर्चे की बैठक में लिया गया। बैठक सर्वजात सर्वखाप महापंचायत के कार्यालय में ईशम सिंह तंवर की अध्यक्षता में हुई। प्रदर्शन 8 जुलाई को कैथल में किया जाएगा। बैठक को संबोधित करते हुए भरत सिंह बैनीवाल, ओमप्रकश ढांडा व जय प्रकाश शास्त्री ने बताया कि जिला कैथल में संयुक्त किसान मोर्चे के हर आह्वान को मुस्तैदी से लागू किया जाएगा। उक्त नेताओं ने बताया कि किसी विशेष संगठन या व्यक्ति विशेष के आह्वान में संयुक्त किसान मोर्चा जिला कैथल भाग नहीं लेगा और ऐसे व्यक्तिगत आह्वानों का संगठन व्यक्तिगत आह्वानों का संगठन विशेष या वो लोग स्वंय जिम्मेवार होंगें। बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व नायब तहसीलदार महेन्द्र सिंह, अनिल गुर्जर बलवंती व ओमप्रकाश करोडा ने बताया कि यदि पुलिस प्रशासन कैथल ने झूठे मुकदमों में किसान नेताओं की गिरफ्तारी की या बार बार परेशान किया तो जिला कैथल को जाम कर दिया जाएगा। बैठक को संबोधित करते हुए पं राधा कृष्ण शर्मा, संदीप भाल माणस व सोहन सिंह पुनिया ने मुख्यमंत्री खटर को चेतावनी दी कि यदि खट्टर सरकार ने किसी सरकारी किसान यूनियन के उकसावे में हरियाणा में सार्वजनिक सभा करने की भूल की तो हरियाणा तबाह हो जाएगा और किसानों का बच्चा बच्चा कट मरेगा। जिसकी जिम्मेदार मोदी सरकार होगी। उन्होंने बताया कि कैथल में आंदोलन को मजबूत करने के लिए तीनों काले कानूनों के खिलाफ शीघ्र ही बेमियादी संघर्ष शुरू किया जाएगा। आज की बैठक को सुनील रामगढ, रामफल भानपुरा, नरेश मलिक, निहाल सिंह काला रामणा, बिंदर सिरटा व मास्टर रामकला बालू बिढाण ने भी संबोधित किया तथा कपूर सिंह व ओमप्रकश देवीगढ भी इस बैठक में उपस्थित रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular