Homeहरियाणाकैथलपरिजनों और शिक्षकों को चाहिए कि वे विद्यार्थियों को नशा नहीं करने...

परिजनों और शिक्षकों को चाहिए कि वे विद्यार्थियों को नशा नहीं करने के लिए करें जागरूक : सहरावत

आज समाज डिजिटल, Kaithal News :

 

मनोज वर्मा कैथल। अतिरिक्त उपायुक्त विरेंद्र सहरावत ने शिक्षकों व विद्यार्थियों को कहा कि वे नशा न करने के लिए अपने परिजनों व आसपास के लोगों को जागरूक करने का काम करें। यदि कोई व्यक्ति नशे की लत में पड़ जाता है तो वह स्वयं तथा परिवार के लिए काफी खतरनाक है। यदि कोई आपके सामने धुम्रपान करता है तो उन्हें तुरंत रोके तथा समझाएं कि यह शरीर के लिए कितना नुकसान दायक है। एडीसी विरेंद्र सहरावत बुधवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय काकौत में रेडक्रॉस द्वारा आयोजित नशा मुक्ति जागरूकता कैंप एवं स्वास्थ्य जांच शिविर का शुभारंभ करने के उपरांत विद्यार्थियों को संबोधित कर रहे थे।

सभी बच्चे साफ-सफाई के प्रति ध्यान दें

उन्होंने कहा कि हम सभी को मिलकर इस मुहिम के तहत लोगों को जागरूक करना है, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों की जिंदगी को बचाया जा सके। उन्होंने कहा कि सभी बच्चे साफ-सफाई के प्रति ध्यान दें। उन्होंने कक्षा 1 से 12 तक के बच्चों को हिंदी विषय का प्रथम अध्याय का पूर्ण ज्ञान प्राप्त करने संबंधित लक्ष्य निर्धारित किया गया, जिसकी शुरुआत जिला कैथल में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय से की गई और इसे पूरे जिले में रोल मॉडल के रूप में लागू किया गया। जिला रैडक्रॉस सचिव रामजी लाल ने भी बच्चों को नशे से संबंधित कुरीतियों के बारे में अवगत कराया।

 

बच्चों को दवाइयां भी वितरित की गई

रैडक्रॉस सोसायटी द्वारा समय-समय पर जागरूकता शिविर लगाए जाते हैं। आज भी बच्चों का हीमोग्लोबिन टेस्ट किए गए तथा बच्चों को दवाइयां भी वितरित की गई। सिविल हॉस्पिटल से प्रीति ने नशा छुड़ाने तथा नशे की दलदल से बाहर कैसे निकले इस बारे में विस्तार से बताया। इस मौके पर अव्वल आने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित भी किया गया। इस मौके पर रमेश कुमार, दलबीर सिंह, पवन कुमार, गुरुदेव, संदीप, हर्ष बुरा आदि मौजूद रहे।

 

 

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular