Homeहरियाणापानीपतसड़क सुरक्षा वाहन समिति की बैठक में डीसी संगीता तेतरवाल अधिकारियों पर...

सड़क सुरक्षा वाहन समिति की बैठक में डीसी संगीता तेतरवाल अधिकारियों पर हुई सख्त -आवारा पशु प्रबंधन और अवैध कब्जों को हटाने संबंधित विषयों को लेकर दिए आवश्यक निर्देश

  • बिना हेल्मेट पहने सरकारी कार्यालय में आए तो कटेगा चालान
  • जिले के तमाम बडे अधिकारियों की कार्यशैली से नाराज दिखी डीसी संगीता तेतरवाल

 

 

आज समाज डिजिटल, Kaithal news :

मनोज वर्मा कैथल। डीसी डॉ संगीता तेतरवाल ने कहा कि जिला में कहीं भी किसी भी प्रकार की दुर्घटना नहीं होनी चाहिए। इसके लिए सभी अधिकारी तुरंत प्रभाव और तेजी के साथ समुचित व्यवस्था करें। इस विषय को लेकर बहुत ही गंभीरता और जिम्मेदारी के साथ काम करने की जरूरत है। शहर में दुकानों और संस्थानों के सामने अवैध पार्किंग कतई नहीं होनी चाहिए। नगर परिषद, पुलिस और आरटीए के कर्मचारी संयुक्त रूप से चालान करने का अभियान चलाएं, ताकि कहीं भी किसी भी प्रकार की दुर्घटना का अंदेशा नहीं रहे। चूंकि गलत पार्किंग के कारण भी दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है।

 

मुस्तैदी से काम करने की जरूरत

डीसी डॉ. संगीता तेतरवाल बुधवार को लघु सचिवालय के सभागार में सड़क सुरक्षा वाहन समिति की बैठक में अधिकारियों द्वारा किए गए और किए जा रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दे रही थी। बैठक में डीसी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए मुस्तैदी से काम करने की जरूरत है। सरकारी कार्यालय में बिना हैल्मेट के आने वाले लोगों के चालान किए जाएं। सभी संबंधित विभाग इसके लिए संयुक्त रूप से काम करें, चूंकि हमारा मुख्य उद्देश्य जनता का भला करना है।

 

आवारा पशु प्रबंधन शहर के लिए एक बड़ी समस्या

डीसी तेतरवाल ने कहा कि आवारा पशु प्रबंधन शहर के लिए एक बड़ी समस्या बन गई है। नगर परिषद के अधिकारी इसे अन्यथा न लेकर इस पर तुरंत प्रभाव से काम करें। इस विषय को लेकर नगर परिषद के अधिकारियों को कई बार कहा भी जा चुका है, लेकिन नगर परिषद के अधिकारी सही प्रकार से काम नहीं कर रहे हैं। पुलिस विभाग के अधिकारियों ने कहा कि शहर में कई जगह रैड लाईट खराब है। इस पर डीसी ने ईओ नगर परिषद से पूछा कि इन लाईटों  को कब तक ठीक करवा देंगे। ईओ ने कहा कि आगामी एक महीने में रैड लाईटों को ठीक करवा देंगे। इस जवाब पर नाराज नजर आई डीसी ने ईओ को कहा कि क्या तब तक दुर्घटनाएं होने दें? उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि सभी लाईटें अगली मीटिंग से पहले ठीक होनी चाहिए। इस विषय को लेकर किसी भी प्रकार की लापरवाही के लिए खुद जिम्मेदार होंगे।

 

 

kaithal News/Challan will be deducted if you come to the government office without wearing a helmet
kaithal News/Challan will be deducted if you come to the government office without wearing a helmet

सड़क व्यवस्था को प्राथमिकता के आधार पर दुरूस्त करें

डीसी ने जिला में बनाई जा रही या फिर मुरम्मत की जा रही सड़क बारे जानकारी ली तथा कहा कि सड़कों में कहीं भी गड्डे नजर नहीं आने चाहिए, चूंकि गड्डों के कारण सड़क दुर्घटनाओं का अंदेशा बना रहता है। लोक निर्माण विभाग, एचएसएएमबी सहित सभी संबंधित विभाग अपने-अपने क्षेत्रों में सड़क व्यवस्था को प्राथमिकता के आधार पर दुरूस्त करें। कार्यकारी अभियंता के एस पठानिया ने उपायुक्त द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि जिला में निर्धारित स्थानों पर टेबल स्पीड ब्रेकर बनाने के लिए मुख्यालय को एस्टिमेट भेजा हुआ है। स्वीकृति आते ही टेंडर लगा दिए जाएंगे और निर्धारित प्रक्रिया के तहत काम शुरू करवा दिए जाएगा।

 

सभी कार्य समय पर पूरा करवाने की आदत डालें

वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए डीसी ने कहा कि सड़क किनारे वृक्षों की झुकी टहनियों के कारण भी दुर्घटना का खतरा बना रहता है, इसलिए सभी संबंधित अधिकारी निर्देश देने की औपचारिताएं पूरी करने की बजाए स्वयं फिल्ड में उतरें और जहां पर जरूरत लगे संबंधित बैंकों की टहनियों को छंगवाने का काम करें। नहर, लोक निर्माण विभाग, नगर परिषद, एचएसएएमबी सहित सभी विभागों के अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि जहां पर उनके विभागीय काम चल रहे हैं, ठेकेदारों को स्पष्ट हिदायत दें कि काम के लिए जमीन की उतनी ही खुदाई होनी चाहिए, जितनी जरूरत है। सभी कार्य समय पर पूरा करवाने की आदत डालें। इस मौके पर एसपी मकसूद अहमद, आरटीए गीरीश चावला, डीडीपीओ कंवर दमन सिंह, डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह, डीईईओ रविंद्र चौधरी, कार्यकारी अभियंता केएस पठानिया, वरूण कंसल, ओपी मढाड सहित अन्य संबंधित अधिकारी व आरएसओ मौजूद रहे।

वाट्स एप ग्रुप में आए मैसेज को अवश्य पढ़ें अधिकारी : डीसी    

डीसी ने बैठक की निरंतरता में नगर परिषद के अधिकारियों से पूछा की रेहड़ी और फड़ी वालों को पहचान पत्र दे दिए हैं और जगह चिन्हित कर दी गई है क्या? तो ईओ ने कहा कि पहचान पत्र तो दे दिए गए हैं, लेकिन जगह चिन्हित नहीं की गई है तो इस पर डीसी ने कहा कि इतनी देरी नहीं होनी चाहिए। सफाई व्यवस्था को भी लेकर नाराजगी व्यक्त करते हुए डीसी ने कहा कि शीघ्र ही शहर का दौरा किया जाएगा। जहां गंदगी के ढेर लगे हुए हैं, उन्हें तुरंत प्रभाव से निरंतरता में सफाई करवाते रहें। शहर का सौंदर्यकरण हम सबकी प्राथमिकता होनी चाहिए। प्रतिदिन का काम तुरंत प्रभाव से निपटाया जाना जरूरी है। इसी बीच आरटीए गिरिश चावला ने कहा कि नगर परिषद के अधिकारी ग्रुप में डाले गए मैसेज का भी रिस्पोंस नहीं करते। इस पर डीसी ने कहा कि सभी अधिकारी समूह में डाले गए मैसेज का रिस्पोंस करें, ताकि समस्या का समाधान तुरंत प्रभाव से हो सके।

 

अंडर एज ड्राईविंग करने वाले बच्चों को ड्राईविंग नहीं करने हेतू शिक्षक और अभिभावक करें जागरूक

डीसी ने कहा कि सभी विभागों के अधिकारी लोगों को जागरूक करें कि वे हैलमेट का उपयोग करें और जो व्यक्ति हैलमेट नही पहनते उनके तुरंत प्रभाव से चालान किए जाए। अक्सर देखने मे आता है कि अंडर ऐज बच्चे दुपहिया वाहन चलाते हैं और अभिभावक पीछे बैठकर सफर करते हैं। इस कारण भी दुर्घटना का अंदेशा बना रहता है। शिक्षा विभाग के अधिकारी प्रार्थना के समय बच्चों को इस विषय को लेकर जागरूक करें कि वे बिना लाईसैंस के कोई वाहन न चलाएं और निर्धारित आयु के साथ-साथ निर्धारित प्रक्रिया पूरी होने पर ड्राईविंग करें।  क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण और पुलिस विभाग के अधिकारी संयुक्त रूप से ऐसे लोगों पर अंकुश लगाने के लिए बेहिजक चालान  चालान करें, जो अंडर एज ड्राईविंग करते हैं, ताकि कहीं भी दुर्घटना की संभावना न रहे।

 

 

 

 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular