Homeराज्यहरियाणाकैथल : राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने किया पौधा रोपण मुख्यमंत्री मनोहर लाल...

कैथल : राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने किया पौधा रोपण मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से किया संबोधित

मनोज वर्मा, कैथल :

महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि सभी व्यक्तियों को पौधे लगाकर बच्चों की तरह उनका संरक्षण करना चाहिए। पेड़-पौधों से हमें जीवन यापी आक्सीजन के साथ-साथ छाया, फल, लकडिय़ां व औषधियां प्राप्त होती हैं। राज्य सरकार ने पेड़ों की महत्ता को देखते हुए और पर्यावरण संरक्षण की दिशा में कदम बढ़ाते हुए इस वर्ष 3 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य रखा है। इसी प्रकार जिले में भी 14 लाख से अधिक पौधे लगाने का लक्ष्य तय किया गया है। राज्यमंत्री कमलेश ढांडा आरकेएसडी कॉलेज के सभागार में 72वें जिला स्तरीय वन महोत्सव कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि बोल रही थी। इससे पहले राज्यमंत्री कमलेश ढांडा, उपायुक्त प्रदीप दहिया ने पर्यावरण संरक्षण का संदेश देते हुए पौधा रोपण किया। कार्यक्रम में पर्यावरण विषय पर प्रश्रोत्तरी व पेंटिंग प्रतियोगिता में विजेता बच्चों को भी राज्य मंत्री ने सम्मानित किया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से संबोधित किया।

अपने संबोधन में राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि मानव जीवन में वनों का बहुत महत्व है। पेड़-पौधों से हमें जीवन यापी आक्सीजन प्राप्त होती है। पर्यावरण, जल, वन के महत्व को समझते हुए सरकार द्वारा विशेष अभियान चलाकर पौधा रोपण किया जा रहा है। वर्तमान परिवेश में कोविड-19 के दृष्टिद्दगत आक्सीजन की कमी नजर आई थी, परंतु सरकार द्वारा व्यापक प्रबंध करके आक्सीजन की कमी को पूरा किया गया। इन्हीं बातों को देखते हुए अधिक से अधिक पौधा रोपण करना चाहिए, ताकि  भविष्य में आक्सीजन की कमी नही रहें और पर्यावरण भी संरक्षित हो पाएगा। उन्होंने कहा कि पौधा रोपण अभियान को जल शक्ति अभियान से जोड़ा गया है और खुशी की बात है कि जल शक्ति अभियान में अब तक दिए गए लक्ष्य को कैथल जिले ने पूरा किया है और प्रदेश में इस समय पहले स्थान पर है।

राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि वर्ष 1950 में आज के दिन वन महोत्सव मनाने के अभियान को शुरू किया गया। सरकार द्वारा वनों को बढ़ावा देने हेतू प्रत्येक जिले में आक्सी वन पार्क बनाए जा रहे हैं, जो भरपूर मात्रा में आक्सीजन का स्त्रोत होंगे तथा प्रत्येक गांव में पंचवटी पौधारोपण का कार्य भी वन विभाग द्वारा जोर-सोर से चलाया जा रहा है। उन्होंने सभी से आह्वान करते हुए कहा कि प्रत्येक व्यक्ति अपने जन्मदिन अथवा किसी भी विशेष अवसर पर पौधारोपण करे। सभी सरकारी भवनों अथवा उनकी सम्पत्तियों में पौधारोपण को बढ़ावा देने के लिए विशेष कार्य योजना बनाते हुए एक लक्ष्य निर्धारित किया जाए। इससे आमजन भी जागरूक होगा और पौधारोपण से लेकर पौधे की देखभाल करने की मुहिम सकारात्मक तरीके से आगे बढ़ेगी।

उपायुक्त प्रदीप दहिया ने राज्यमंत्री कमलेश ढांडा का स्वागत करते हुए कहा कि पेड़-पौधे लगाने के साथ-साथ उन्हें संजोकर रखना भी जरूरी है। समय-समय पर सरकार द्वारा पौधा गिरि व अन्य कार्यक्रमों के माध्यम से पौधा रोपण को बढ़ावा दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विशेष योजना पेड़-पौधों के संरक्षण हेतू बनाई है कि 9वीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थी अगर पौधा रोपण करके उसका संरक्षण भी करेंगे तो उन्हें अतिरिक्त अंक भी दिए जाएंगे। जल शक्ति अभियान के तहत जिले में 14 लाख से अधिक पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है, अब तक 1 लाख 61 हजार से ऊपर पौधे लगाए जा चुके हैं और निरंतर इस अभियान को जारी रखते हुए तय लक्ष्य को प्राप्त किया जाएगा। कार्यक्रम में आए हुए सभी व्यक्तियों को पौधे भी वितरित किए गए।

इस मौके पर उपायुक्त प्रदीप दहिया, आरकेएसडी समिति के प्रधान एडवोकेट साकेत मंगल, डीएफओ रणबीर सिंह, तुषार ढांडा, प्रिंसीपल संजय गोयल, महावीर पठानिया, श्याम सुंदर बंसल, कार्यकारी अभियंता बनारसी दास, एमआर कंबोज, सुशील कुमार, महीपाल पठानिया, बलजीत सिंह, प्यारे लाल, मनोज कुमार, राजेंद्र कुमार, मुकेश कुमार, जिले सिंह, नरेश कुमार, गुरदेव सिंह आदि मौजूद रहे।

इन प्रतिभागियों को किया गया कार्यक्रम में सम्मानित
राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने पर्यावरण संरक्षण पर प्रश्रोत्तरी व पेंटिंग प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने पर बच्चों को सम्मानित किया। प्रश्रोत्तरी प्रतियोगिता में प्रीति पांचाल ने प्रथम, मयंक ने द्वितीय तथा ममता सैनी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार पेंटिंग प्रतियोगिता में आंचल शर्मा ने प्रथम, तनु ने द्वितीय तथा खुशी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।  

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular