Homeराज्यहरियाणाकैथल: परिवहन मंत्री फूल चंद शर्मा को कैथल मेें दिखाए जाएंगे काले...

कैथल: परिवहन मंत्री फूल चंद शर्मा को कैथल मेें दिखाए जाएंगे काले झंडे और होगा जोरदार विरोध प्रदर्शन: बैनीवाल

मनोज वर्मा, कैथल
आगामी 10 अगस्त को हरियाणा के परिवहन मंत्री फूल चंद शर्मा का कैथल लघु सचिवालय पहुंचने पर संयुक्त किसान मोर्चा कैथल द्वारा काले झंडों से जोरदार विरोध किया जाएगा। यदि पुलिस प्रशासन ने प्रदर्शन कारियों को दबाने या उन पर बल प्रयोग करने की कोशिश की तो किसान पीछे नहीं हटेंगें। उसके लिए चाहे कितनी बड़ी कुर्बानी क्यों न देनी पडे। जिसकी जिम्मेदार प्रदेश व केन्द्र की भाजपा सरकार व कैथल जिला प्रशासन होगा। यह निर्णय जिला संयुक्त किसान मोर्चे की बैठक में लिया गया। बैठक की अध्यक्षता राधा कृष्ण शर्मा ने की। जिसका संचालन भरत ङ्क्षसह बैनीवाल ने किया। कार्यकारी प्रधान भारतीय किसान युनियन ने बताया कि प्रदर्शनकारी किसान, मजदूर, छात्र, कर्मचारी, छोटा व्यापारी व सभी संगठनों के लोग प्रात 9 बजे हनुमान वाटिका में एकत्रित होंगें। वहां से काले झंण्डे व बैनर सहित विरोध प्रदर्शन करते हुए लघु सचिवालय पहुंचकर विरोध करेंगें।

बैठक में संयुक्त किसान मोर्चो से सबंधित तीनों किसान संगठन, सर्वजात सर्वखाप महापंचायत, किसान सभा, खेती बचाओ देश बचाओ, दलित व पिछडा वर्ग, आढती एसोसिएशन, चालक परिचालक संघ तथा अन्य कई संगठनों के पदाधिकारियों ने भाग लिया। बैठक खाप के कार्यालय में आयोजित हुई। बैठक को संबोधित करते हुए जय प्रकाश शास्त्री व ओम प्रकाश ढाण्डा ने बताया कि 15 अगसत को प्रात 9 बजे जवाहर पार्क कैथल में एकत्रित होकर जिला संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर के नीचे किसान स्वतंत्रता संग्राम दिवस मनाया जाएगा। दर्शनकारी किसान अपनी मोटरसाइकिलों, ट्रैक्टरों व गाडियों पर तिरंगे झंडे लगाकर जवाहर पार्क से न्यू छोटू राम चौंक करनाल रोड कैथल पर तिरंगा प्रदर्शन करके भाजपा सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। जिसमें जिले भर से भारी संख्या में लोग शामिल होंगेें।

उन्होंने बताया कि भाजपा कि तिरंगा यात्रा जनता को उकसाने का षडयंत्र है। ऐसे नकली प्रदर्शनों से वो भाजपा की किसान मजदूर जनविरोधी नीतियों, बेतहाशा बढती मंहगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी व काले कानूनों पर पर्दा नहंी डाल सकती। जनता भाजपा की काली करतुतों को समझ चुकी है। आज की बैठक को सुनील रामगढ, बलकार खुराणा, नरेश मलिक, ओम प्रकाश देवीगढ, मास्टर रामकला बालू, बलवान व कपूर देवीगढ, सुरजीत बैनीवाल, अनिल नंबरदार बलवंती, ओम प्रकाश करोडा, रमेश मलिक खुराना, सोहन सिंह पुनिया, जगत सिंह पुनिया, चरणा मोठसरा, सुरेश द्रविड, रामफल भानपुरा, बलवान सिरटा, नरेश चटठा, ईशम तंवर आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे। उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि जब तक तीनों कृषि के काले कानून मोदी सरकार वापिस नहीं लेती, एमएसपी को लिखित में नहीं देती, बिजली बिल 2021 रद्द नहीं करती तथा पराली जलाने पर जुर्माना व सजा रद्द नहीं करती भाजपा व जजपा के नेताओं का विरोध जारी रहेगा।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular