Homeहरियाणाजींदधान की जगह दूसरी फसल लगाने पर मिलेगा अनुदान

धान की जगह दूसरी फसल लगाने पर मिलेगा अनुदान

जीवन में जल की महत्ता को समझते हुए फसल विविधीकरण को अपनाएं किसान

आज समाज डिजिटल,जींद:

घटते भूजल स्तर व जल संरक्षण के मद्देनजर हरियाणा सरकार द्वारा मेरा पानी मेरी विरासत योजना चलाई जा रही है। योजना के तहत किसनों को धान की जगह अन्य फसल लेने पर प्रति एकड़ सात हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। उपायुक्त डा. मनोज कुमार ने जिला के किसानों से आह्वान करते हुए कहा कि आप सभी जीवन में जल की महत्ता को समझते हुए फसल विविधीकरण को जरूर अपनाएं। उन्होंने कहा कि धरती पर मौजूद किसी भी जीवन के लिए पानी बेहद आवश्यक है। ऐसे में भविष्य में पानी से जुड़ी समस्याओं को ध्यान रखते हुए हम सभी को इसके संरक्षण की दिशा में कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने इन्हीं उद्देश्यों के साथ वर्ष 2020.21 में मेरा पानी मेरी विरासत योजना की शुरुआत की थी।

धान छोड़ अन्य फसल उगाने पर मिलेगी सात हजार प्रोत्साहन राशि

कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उपनिदेशक डा. सुरेंद्र मलिक ने बताया कि योजना के माध्यम से जल संरक्षण के लिए कार्य कर रहे लोगों व संस्थाओं को विभिन्न प्रकार के अनुदान दिए जा रहे हैं। इस वर्ष जिला का कोई किसान धान की फसल को छोड़ कर अन्य फसल जैसे मक्का, कपास, अरहर, मूंग,  मोठ, उड़द, ग्वार, सोयाबीन तिल,  मूंगफली, अरंडी या बागवानी से संबंधित फसल लेता है तो  प्रति एकड़ सात हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी।

गत वर्ष बोई धान की जगह अन्य फसल, तब भी मिलेगा अनुदान

यदि किसी किसान ने पिछले वर्ष धान की बजाए अन्य फसल ली हो और इस बार भी उसी खेत पर अन्य फसल बोएगा तो भी उनको प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। धान के बदले खाली खेत छोडऩे वाले किसान को भी प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। जिसकी पुष्टि कृषि एवं किसान कल्याण विभाग, बागवानी विभाग, पटवारी, नंबरदार व संबंधित किसान की गठित कमेटी द्वारा की जाएगी। पुष्टि के उपरांत प्रोत्साहन राशि की अदायगी ई-पेमेंट के माध्यम से की जाएगी। अधिक जानकारी के लिए कृषि एवं किसान कल्याण विभाग व बागवानी विभाग में संपर्क किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें : टीजीटी-पीजीटी के 5500 पदों पर भर्ती जल्द: मनोहर लाल

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular