Homeराज्यहरियाणामौजूदा शैक्षिक सत्र में विद्यार्थियों की संख्या पिछले सत्र की तुलना में...

मौजूदा शैक्षिक सत्र में विद्यार्थियों की संख्या पिछले सत्र की तुलना में 3456 बढ़ी

झज्जर। कोरोना महामारी से बचाव करते हुए शिक्षा का व्यापक प्रचार प्रसार करने में शिक्षा विभाग निरंतर कदम बढ़ा रहा है। राजकीय विद्यालयों में विद्यार्थियों का जुड़ाव करने के लिए अभिभावकों के साथ तालमेल करते हुए दाखिला प्रक्रिया में विद्यार्थियों को जोड़ा जा रहा है। शिक्षा विभाग द्वारा प्रदत्त आंकड़ों की बात करें तो शिक्षा अधिकारियों और राजकीय विद्यालयों के शिक्षकों की टीम की मेहनत रंग लाई है। झज्जर के राजकीय विद्यालयों में विद्यार्थियों की संख्या पिछले सत्र की तुलना में 3456 बढ़ चुकी है। डीसी श्याम लाल पूनिया ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे पूरी तन्मयता से अभिभावकों के साथ संपर्क स्थापित करते हुए विद्यार्थियों का जुड़ाव राजकीय विद्यालयों से करें।

जिला शिक्षा अधिकारी ब्रह्मप्रकाश राणा ने बताया कि विभागीय आंकड़ों का विश्लेषण करने पर ज्ञात हुआ है कि विगत शैक्षणिक सत्र में जिला झज्जर के राजकीय विद्यालयों में पहली से बारहवीं कक्षा तक कुल 55574 विद्यार्थी थे जो अब बढक़र 59030 हो चुके हैं।   सबसे ज्यादा विद्यार्थी पांचवीं कक्षा में 1242 बढ़े हैं, आठवीं कक्षा में भी पहले से 588 अधिक विद्यार्थियों ने दाखिला लिया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार राजकीय विद्यालयों की शिक्षा में गुणवत्ता और संख्या बढ़ाने को लेकर सख्त है। ऐसे में सरकार व प्रशासन के दिशा-निर्देशों के अनुसार झज्जर जिला के शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में अभिभावकों से मुलाकात करते हुए उन्हें राजकीय विद्यालयों की शिक्षा पद्धति के बारे में जानकारी देते हुए उनके बच्चों के दाखिले राजकीय विद्यालयों में करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी दिलजीत सिंह ने बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा सभी विद्यालय मुखियाओं की खंड स्तर पर बैठकों का आयोजन करते हुए कम दाखिले वाले विद्यालयों पर ज्यादा ध्यान देने के निर्देश भी दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस आधार पर कदम उठाते हुए सभी विद्यालय मुखियाओं ने भी अपने स्तर पर अपने अध्यापकों की टीम बनाकर गांव-गांव सर्वे कराया और अभिभावकों को उनके बच्चों के राजकीय विद्यालयों में दाखिला दिलाने के लिए प्रेरित किया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी और जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी ने छात्र संख्या बढ़ाने वाले सभी विद्यालय मुखियाओं, अध्यापकों तथा मेंटर्स को बधाई दी तथा ऐसे विद्यालय जिनकी छात्र संख्या अभी भी पिछले सत्र से कम हैं उन्हें छात्र संख्या बढ़ाने के लिए और ज्यादा प्रयास करने के सख्त निर्देश दिए।

जिला सक्षम नोडल अधिकारी डा.सुदर्शन पूनिया ने बताया कि सबकी मेहनत और लग्न का नतीजा यह निकला है कि झज्जर जिला में पिछले वर्ष से 7 प्रतिशत ज्यादा एडमिशन राजकीय विद्यालयों में हुए हैं। उन्होंने विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि झज्जर शहर के शहीद रमेश कुमार मॉडल संस्कृति विद्यालय में 621 से 795 बच्चों की बढोतरी के साथ इस बार 174 विद्यार्थी अधिक दाखिल हुए हैं। इयी क्रम में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सांखौल में 583 से 708 =125 अधिक, राजकीय मॉडल संस्कृति विद्यालय भूरावास में 188 से 304 =116 विद्यार्थी अधिक, राजकीय मॉडल संस्कृति प्राथमिक विद्यालय लड़ायण में 138 से 212 =74 विद्यार्थी अधिक व राजकीय प्राथमिक विद्यालय चिमनी में 61 से 135  = 74  विद्यार्थी अधिक दाखिल हुए हैं।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular