Homeराज्यहरियाणाझज्जर : छोटू राम धर्मशाला में किसानों की हुई अहम मीटिंग

झज्जर : छोटू राम धर्मशाला में किसानों की हुई अहम मीटिंग

धीरज चाहार, झज्जर :
शहर की छोटू राम धर्मशाला में जुटे किसान आंदोलनकारी आंदोलन को बढ़ाने के लिए किया मंथन। शहर की छोटूराम धर्मशाला में भारतीय किसान यूनियन चढूनी ग्रुप के किसान आंदोलनकारी जुटे। इस दौरान बैठक में निर्णय लिया गया कि विभिन्न बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन को गति देने का कार्य किया जाएगा। भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश महासचिव हरपाल सिंह पहुंचे और किसान आंदोलन कारियों को दिल्ली के बोर्डर किसानों का भारी समर्थन करने की बात कही। इस दौरान निर्णय लिया गया कि किसानों ने धान की व अन्य फसलें लगा ली है और किसान कृषि कार्यों से फ्री हैं जिसके चलते अब पूरा ध्यान किसान आंदोलन को मजबूती देने में किया जाएगा वहीं कई किसानों ने कहा कि जब तक तीनों कृषि कानून केंद्र सरकार खत्म नहीं कर देती धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। गौरतलब है कि पिछले 9 महीने से किसान आंदोलनकारी कृषि विरोधी कानूनों को खत्म करवाने और एमएसपी पर कानून बनाने के लिए दिल्ली के बॉर्डरो पर प्रदर्शन कर रहे हैं भारतीय किसान यूनियन चढूनी ग्रुप के पदाधिकारी शहर की छोटू राम धर्मशाला में इकट्ठे हुए और आंदोलन को गति देने की रणनीति बनाई गई। इस दौरान भारतीय किसान यूनियन की महिला प्रदेश अध्यक्ष बिंदु इंजीनियर ने कहा कि पुरुषों की अपेक्षा महिलाएं भी अब आंदोलन में ज्यादा बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रही हैं और आगे भी महिलाओं की हिस्सेदारी जबरदस्त रूप से बनी रहेगी। वही अपने संबोधन में अनाज मंडी बेरी के प्रधान तेजवीर सिंह कादियान ने कहा कि किसान आंदोलनकारियों को खाद्य आपूर्ति की कमी नहीं छोड़ी जाएगी। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलनकारियों को झज्जर के किसानों का पूर्ण रुप से समर्थन जारी रहेगा। धनखड़ खाप के प्रधान युद्धवीर धनखड़ ने बताया की आगामी दिनों में किसान आंदोलन और ज्यादा गति पकड़ेगा और तीनों कृषि कानूनों को खत्म करवाने के लिए लामबंद रहेगा। इस अवसर पर भारतीय किसान यूनियन के विभिन्न पदाधिकारी मौजूद रहे। इस दौरान चिंटू छारा, एडवोकेट राजेन्द्र सौलकी, बबले रईया, उमराव सिंह, युद्धवीर धनखड़ के अलावा सैकड़ों की संख्या में किसान आंदोलनकारी मौजूद रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular