Homeहरियाणाहिसारएक गांव ने काटी तीन गांवों की बिजली, बदले में रोक दी...

एक गांव ने काटी तीन गांवों की बिजली, बदले में रोक दी गई बसें

आज समाज डिजिटल, हिसार:
हिसार के गांव बुड़ाक के ग्रामीणों ने पूरी रात तीन गांवों में बिजली की सप्लाई नहीं होने दी। इसके बदले में शुक्रवार सुबह बालसमंद के ग्रामीणों ने बुड़ाक से हिसार जाने वाली बस को रोक लिया है। दोनों गांवों में आपसी तनाव की स्थिति बन गई है। उल्लेखनीय है कि बुड़ाक के ग्रामीणों की मांग है कि रात के समय पूरी बिजली दी जाए।

रातभर चलती रही बातचीत

गुरुवार रात को बुड़ाक के ग्रामीणों ने बुड़ाक, बांडाहेड़ी और बालसमंद की बिजली सप्लाई रोक दी। रातभर बिजली कर्मियों और ग्रामीणों के बीच बातचीत भी चलती रही। निगमकर्मियों और पुलिस ने ग्रामीणों को समझाने की असफल कोशिश की गई। इसके बावजूद ग्रामीण नहीं माने। गुरुवार सुबह तक बिजली सप्लाई सुचारू नहीं हो पाई तो बालसमंद के ग्रामीण गुस्सा गए और बुड़ाक से हिसार जाने वाली बस को रोक लिया। किसी भी प्राइवेट व्हीकल को बालसमंद से आगे नहीं जाने दिया।

बंद करा दी गई थीं दुकानें

बुड़ाक से जो लोग बालसमंद में अपना रोजगार चला रहे हैं, उनकी दुकानें बंद करा दी गई हैं। बालसमंद के ग्रामीणों की मांग है कि बुड़ाक के ग्रामीण अपनी मांगों के लिए प्रदर्शन करें उन्हें कोई एतराज नहीं, लेकिन वे अपनी मांगों के लिए अन्य दो गांव बालसमंद और बांडाहेड़ी को क्यों परेशान कर रहे है। बालसमंद के ग्रामीणों की मांग है कि उनकी बिजली सप्लाई सुचारु की जाए। दोनों गांवों में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। पुलिस मौके पर मौजूद है।

बुड़ाक जगमग योजना से वंचित

क्षेत्र का बुड़ाक गांव सरकार की जगमग योजना में शामिल नहीं है। जबकि बालसमंद गांव जगमग योजना में शामिल है। बुड़ाक गांव को 16 घंटे बिजली सप्लाई का शेड्यूल है और दोनों अन्य गांवों में 24 घंटे। इन दिनों बिजली की कमी में 24 घंटे बिजली तो नहीं मिल रही लेकिन अब बुड़ाक ने अपनी मांग के लिए अन्य दो गांवों की बिजली रोक रखी है।

ये भी पढ़ें : ट्रक से टकराई स्कूल बस, 30 में से 12 बच्चे घायल, ड्राइवर भी जख्मी

ये भी पढ़ें : दोस्त को उतारा मौत के घाट फिर किए टुकड़े, कारण 25 हजार रुपये का लेनदेन

ये भी पढ़ें : बिजली संकट, तीन यूनिटों में उत्पादन बंद, बढ़ी मांग

ये भी पढ़ें : अंबाला में मिले हैंड ग्रेनेड का संबंध भी करनाल में पकड़े आतंकियों से जुड़े

Connect With Us: Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular