Homeहरियाणाहिसारकर्मचारियों को निलंबित कर प्रमुख अभियंता ने कर्मचारियों के आक्रोश को बढ़ाया...

कर्मचारियों को निलंबित कर प्रमुख अभियंता ने कर्मचारियों के आक्रोश को बढ़ाया : दलबीर श्योराण

आज समाज डिजिटल,हिसार:
हरियाणा कर्मचारी महासंघ से सम्बंधित एचएसईबी वर्कर्स यूनियन की बालसमंद सब यूनिट द्वारा प्रधान सुनील स्याहड़वा की अध्यक्षता में दो घण्टे का रोष प्रदर्शन किया। प्रदर्शन का संचालन सचिव जुगल किशोर ने किया।
प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता राज्य सह सचिव एवं सर्कल प्रभारी दलबीर श्योराण ने बताया कि जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के कर्मचारियों की लम्बित समस्याओं के समाधान की मांग और ऑल हरियाणा पीडब्ल्यूडी मैकेनिकल कर्मचारी यूनियन के शिष्टमंडल के सात पदाधिकारियो के गलत निलंबन के खिलाफ प्रमुख अभियंता पंचकूला जनस्वास्थ्य विभाग के खिलाफ हरियाणा कर्मचारी महासंघ के आह्वान पर प्रदेश के सभी विभागों के कर्मचारियों द्वारा आज विरोध प्रदर्शन कर अपना रोष प्रकट किया जा रहा है।

एचएसईबी वर्कर्स यूनियन की बालसमंद सब यूनिट ने जनस्वास्थ्य विभाग के प्रमुख अभियंता के खिलाफ किया रोष प्रदर्शन

उन्होंने बताया कि रोष प्रदर्शन का मुख्य कारण प्रमुख अभियंता है जो अपने पद का दुरुपयोग करते हुए कर्मचारियों की समस्याओं का समाधान करने की बजाय उनको लटकाना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि प्रमुख अभियंता बार-बार के प्रयास के मीटिंग का समय नही देते और काफी प्रयासों के बाद जब 13 अप्रैल को वार्ता का समय निश्चित किया तो मिटिंग के समय जब ऑल हरियाणा पीडब्ल्यूडी मैकेनिकल कर्मचारी यूनियन का शिष्टमंडल बातचीत के लिये उनके कार्यालय में गया तो बिना किसी पूर्व सूचना के मौखिक तौर पर जानबूझकर मीटिंग को रद्द कर दिया और इस बाबत जब कर्मचारियों ने अपनी नाराजगी व्यक्त की तो प्रमुख अभियंता ने तानाशाहीपूर्ण रवैया अपनाते हुए यूनियन के राज्य प्रधान विश्वनाथ शर्मा व महासचिव नरेंद्र धीमान को निलंबित कर किया।

यूनियन ने 18 मई को कार्यालय का घेराव का दिया नोटिस 

उन्होंने बताया कि इसके खिलाफ यूनियन ने 18 मई को उनके कार्यालय का घेराव का नोटिस दे दिया। इसके बावजूद प्रमुख अभियंता ने विवाद का हल निकालने की बजाय 22 अप्रैल को यूनियन के 5 अन्य पदाधिकारी कर्मचारियों के निलंबन के आदेश जारी करके इस आक्रोश रूपी आग को शांत करने की जगह इसमें घी डालने का काम किया है। प्रमुख अभियंता की इस दमनकारी कार्यवाही के खिलाफ प्रदेश के सबसे बड़े कर्मचारी संगठन हरियाणा कर्मचारी महासंघ को इस आंदोलन में आना पड़ा और आज इसी कड़ी में हरियाणा कर्मचारी महासंघ से संबंधित सभी यूनियनों ने पूरे प्रदेश में 2 घंटे का विरोध प्रदर्शन कर प्रमुख अभियंता की तानाशाही के खिलाफ अपनी एकता का परिचय देने का काम किया है।

समय रहते कर्मचारियों की लंम्बित समस्याओं का समाधान करें

दलबीर श्योराण ने कहा कि आज के इस प्रदर्शन के माध्यम से हम जनस्वास्थ्य विभाग के प्रमुख अभियंता से अपील करते हैं कि समय रहते कर्मचारियों की लंम्बित समस्याओं का समाधान करें और 7 कर्मचारियों के निलम्बन के आदेश तुरंत प्रभाव से रद्द किए जाएं ताकि आगामी समय मे शांति व्यवस्था बनी रह सकें। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि ऐसा नही होता तो आगामी 18 मई को पूरे प्रदेश का कर्मचारी वर्ग एकजुट होकर प्र्रमुख अभियंता के कार्यालय का घेराव करने को मजबूर होगा और इस दौरान यदि शांति व्यवस्था भंग होती है तो इसकी नैतिक जिम्मेदारी प्रमुख अभियंता की होगी।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular