Homeहरियाणाहिसारकिलोमीटर स्कीम के तहत एक हजार बसें लाना चहेतों को फायदा पहुंचाने...

किलोमीटर स्कीम के तहत एक हजार बसें लाना चहेतों को फायदा पहुंचाने की योजना : दलबीर किरमारा Benefit to those who bring one thousand buses under KM Scheme

संगठन के 14वें स्थापना दिवस पर कर्मचारियों को दी बधाई, मजबूत आंदोलन का आह्वान Benefit to those who bring one thousand buses under KM Scheme

आज समाज डिजिटल,हिसारः

Benefit to those who bring one thousand buses under KM Scheme: हरियाणा रोडवेज संयुक्त कर्मचारी संघ ने राज्य सरकार से मांग की है कि वह जनता की सुविधा के लिए किलोमीटर स्कीम के तहत किराए पर बसें लेने की बजाय परिवहन बेड़े में 10 हजार बसें शामिल करके जनता को परिवहन सुविधा व बेरोजगारों को स्थाई रोजगार दें। संगठन ने हड़ताल के नाम पर की जा रही कर्मचारियों की प्रताडऩा की कड़ी निंदा करते हुए सिरसा, डबवाली, पलवल व अन्य डिपुओं के कर्मचारियों पर की जा रही कार्रवाई तुरंत रोकने व उनके केस वापिस लेने की मांग की है।

आंदोलन के लिए तैयार रहने का किया आह्वान Benefit to those who bring one thousand buses under KM Scheme

हरियाणा रोडवेज संयुक्त कर्मचारी संघ के राज्य प्रधान दलबीर किरमारा ने संगठन के 14वें स्थापना दिवस के अवसर पर राज्यभर से आए प्रतिनिधियों की बैठक को संबोधित करते हुए सांझा मोर्चा को मजबूत करके आंदोलन के लिए तैयार रहने का आह्वान किया। उन्होंने संगठन के स्थापना दिवस की सभी पदाधिकारियों व कर्मचारियों को बधाई देते हुए कहा कि 13 साल के दौरान संगठन ने अनेक संघर्षों को पार करते हुए व संगठन नेताओं ने प्रताडऩा झेलते हुए सफलता का वह मुकाम हासिल किया है, जिसकी आज हर ओर चर्चा है। उन्होंने कहा कि सबसे सहयोग से ही संगठन का संघर्ष सफल हो पाया है और यह भविष्य में भी बनाए रखने की जरूरत है।

किलोमीटर स्कीम की 700 बसों को चलाने को प्राथमिकता दी जा रही Benefit to those who bring one thousand buses under KM Scheme

उनके आह्वान का सभी ने हाथ उठाकर स्वागत किया। दलबीर किरमारा व संगठन के अन्य नेताओं ने राज्य के परिवहन मंत्री के उस बयान की निंदा की, जिसमें उन्होंने कहा है कि किलोमीटर स्कीम के तहत एक हजार बसें और चलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि अव्यवस्था के चलते राज्य परिवहन के विभिन्न डिपुओं में 800 बसें खड़ी रहती है लेकिन किलोमीटर स्कीम की 700 बसों को चलाने को प्राथमिकता दी जा रही है। अब मंत्री एक हजार बसें और लाने की बात कर रहे हैं, जो किसी मिलीभगत व चहेतों को लाभ पहुंचाने की योजना नजर आ रही है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में सांझा मोर्चा से बातचीत करके सबकी सहमति से आगामी आंदोलन की रूपरेखा तय की जाएगी।

दलबीर किरमारा व अन्य नेताओं ने सिरसा, डबवाली, पलवल व अन्य डिपुओं के कुछ कर्मचारी नेताओं को हड़ताल के नाम पर प्रताडि़त करने व उन पर केस दर्ज करने की निंदा की। उन्होंने कहा कि सांझा मोर्चा के कर्मचारी इस तरह के हथकंडों से घबराने वाले नहीं है। यदि सरकार ने इन कर्मचारी नेताओं की प्रताडऩा नहीं रोकी तो इस पर भी सांझा मोर्चा विचार—विमर्श करके आगामी संघर्ष पर विचार—विमर्श करेगा।

मौके पर यह रहे उपस्थित Benefit to those who bring one thousand buses under KM Scheme

बैठक में राज्य महासचिव आजाद गिल ने संगठन के संघर्ष व अन्य कार्यों की रिपोर्ट प्रस्तुत की जबकि राज्य कोषाध्यक्ष सुभाष बिश्नोई ने अपनी रिपोर्ट पेश की। हिसार डिपो प्रधान रामसिंह बिश्नोई ने राज्य के विभिन्न डिपुओं से आए पदाधिकारियों व राज्य कमेटी पदाधिकारियों का स्वागत करते हुए उनका आभार जताया।

बैठक में उपरोक्त के अलावा राज्य मुख्य संगठन सचिव कृष्ण सुहाग, वरिष्ठ उप प्रधान कुलदीप पाबड़ा, उप महासचिव जगदीप लाठर, सचिव सज्जन कंडेला, प्रवक्ता सुधीर अहलावत, प्रेस सचिव कमल निंबल, अनिल खटक, कृपाल सिंह लाडी, सतपाल डाबला, फतेहाबाद डिपो प्रधान ईश्वर सहारण, विनोद सिंवर, रोहतक डिपो सचिव दीपक सांघी, धर्मपाल बूरा, राजबीर पंघाल, जोगेन्द्र लांबा, आत्माराम नेहरा, जोगेन्द्र पंघाल, सुरेश मलिक, सुभाष ढिल्लो, विजेन्द्र शर्मा, दर्शन जांगड़ा, मनीष चहल, अनिल सुलखनी, मंगतुराम, संदीप, हांसी सब डिपो प्रधान सोनू मोर, टोहाना सब डिपो प्रधान कुलदीप कन्हड़ी सहित विभिन्न डिपुओं से आए पदाधिकारी व सदस्य मौजूद रहे।

Also Read : दमदार कैमरा और परफॉर्मेंस वाले ये टॉप सबसे शानदार स्मार्टफोन , जानिए
Connect With Us : Twitter Facebook
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular