Homeहरियाणाहिसार15 दिन बाद सीवरेज की शिल्ट सड़क पर नजर आई तो अधिकारियों...

15 दिन बाद सीवरेज की शिल्ट सड़क पर नजर आई तो अधिकारियों पर होगी कार्रवाई : महापौर गौतम सरदाना

आज समाज डिजिटल,हिसार:

नगर निगम कार्यालय स्थित मुख्य सभागार में आज दूसरे दिन महापौर गौतम सरदाना की अध्यक्षता में हाउस की बैठक हुई। बैठक का संचालन निगमायुक्त अशोक कुमार गर्ग ने किया। बैठक में सीनियर डिप्टी मेयर अनिल सैनी, अतिरिक्त निगम आयुक्त डा प्रदीप हुड्डा, उप निगम आयुक्त वीरेंद्र सहारण व एसई आनंद स्वरूप के अतिरिक्ति नगर निगम व विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे। वहीं हाउस की बैठक में जन स्वास्थ्य विभाग,डीटीपी के अतिरिक्त नगर निगम के विभिन्न एजेंडो पर चर्चा की गई।

15 दिन बाद ओपन होगा सफाई टेंडर

जन स्वास्थ्य विभाग के एक्सईएन ने बैठक में कहां कि शहर की सीवरेजों की सफाई का कार्य निरंतर किया जाता है। 15 दिनों के बाद सफाई का टेंडर ओपन हो जाएगा। उसके बाद शिल्ट सड़कों पर नजर नहीं आएगी। साथ ही साथ शिल्ट उठाई जाएगी। महापौर गौतम सरदाना ने अधिकारियों को कहा कि यदि 15 दिन बाद सड़कों पर सफाई के बाद शिल्ट नजर आई तो आपके खिलाफ कार्रवाई होगी। कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इतना ही नहीं, जो अधिकारी पार्षदों के फोन नहीं उठाते हैं। उनके खिलाफ मैं कार्रवाई करवाउंगा। जनप्रतिनिधि का फोन न उठाना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

कार्यवाही समय पर की गई तो आज इतनी लंबी लिस्ट कॉलोनियों की नहीं होती 

हाउस की बैठक में जिला नगर योजनाकार विभाग द्वारा अवैध कॉलोनियों के विकसित होने के बाद की जाने वाली कार्रवाई को मुद्दा उठाया। जिला नगर योजनाकार विभाग के अधिकारियों ने बताया कि हिसार में 164 क्लस्टर है, जबकि जिले में 274 क्लस्टर । हमारी ओर से निरंतर अवैध कॉलोनियों को लेकर कार्यवाही की जाती हैं। महापौर गौतम सरदाना ने कहा कि अगर आप लोगों के द्वारा कार्यवाही समय पर की गई तो नगर निगम के पास आज इतनी लंबी लिस्ट इन कॉलोनियों की नहीं होती। न ही आप लोगों को 164 क्लस्टर का शहर में सर्वे करना पड़ता।

अधिकारियों ने बताया कि शहर की 130 कॉलोनियों का सर्वें कर मुख्यालय भेज दिया गया है। जल्द ही सभी कॉलोनियों का सर्वे कर दिया जाएगा। महापौर गौतम सरदाना ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि पार्षदों से एक बार पुन: उनके एरिया की कॉलोनियों की लिस्ट ले ले। जिनका सर्वे करवाया जाना है। कोई कॉलोनी बिना सर्वे के नहीं रहनी चाहिये।

महापौर ने कहा थाना इंचार्ज को भेजो, आपसे क्या बात करनी है

पार्षद जय प्रकाश व डॉ उमेद खन्ना ने कहा कि 6 से 9 वार्ड में बड़े स्तर पर नशा बिकता है और बच्चों का भविष्य बर्बाद हो रहा है। इस मामले में आज तक कोई ठोस कार्यवाही नही हो पाई है। एएसआई मिलगेट ने कहा कि नशे को लेकर निरन्तर कार्यवाही की जा रही है और एफआईआर दर्ज हो रही है। संतोषजनक जवाब नहीं देने पर महापौर गौतम सरदाना ने पुलिस अधिकारी से पूछा क्या आप थाना इंचार्ज है। एएसआई ने कहा कि इंचार्ज कोर्ट में गये हुए है। महापौर ने जब आजाद नगर ,अर्बन एस्टेट थाना इंचार्ज के बारे में पूछा तो बैठक में पहुंचे अधिकारियों ने कहा कि सभी थाना इंचार्ज कोर्ट में गये हुए है। महापौर ने कहा कि आप सभी जाओ और इंचार्ज को भेजो। वहीं डीएमसी को निर्देश दिए कि सभी थाना इंचार्ज कोर्ट में है या नही। उसकी पूर्ण जानकारी मंगवाई जाये। यदि ऐसा नहीं है तो उनके खिलाफ नोटिस जारी किया जाये।

निगमायुक्त ने कहा लिखकर दें आप लोग जीटी की सफाई नहीं करेंगे

शहर में सीवरेज के साथ लगी जीटी की सफाई नहीं होने का मुद्दा गर्माया। जन स्वास्थ्य विभाग ने नगर निगम द्वारा सीवरेज मैनहोल के साथ लगाई गई जीटी की सफाई करवाने से इनकार कर दिया। नगर निगम आयुक्त अशोक कुमार गर्ग ने जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कहा कि आप लोग लिखकर दे कि आप लोग जीटी की सफाई नहीं करवाएंगे। निगमायुक्त ने कहा कि नगर निगम प्रशासन सीवरेज मैनहोल के साथ जीटी लगाएगा ही नहीं।

बारिश के समय आमजन को परेशानी का सामना करना पड़ेगा तो उसके लिये जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जिम्मेदार होंगे। एक्सईन ने कहा कि प्रत्येक मेनहोल पर जीटी विभाग नहीं लगवा सकता है। उनकी गाइडलाइन के अनुसार जहां गली में डाउन एरिया है, वहां पर जीटी लगाने का प्रावधान है। एसडीओ ने बताया कि ंवार्ड नंबर 1 से 9 में जन स्वास्थ्य विभाग की 1600 जीटी ,जिनकी सफाई की जानी है। पिछले वर्ष की लोकेशन के हिसाब से टेंडर लगाया है। महापौर गौतम सरदाना ने कहा कि आप लोगों की शहर में कितनी जीटी है। इसकी विस्तृत रिपोर्ट दे। सफाई करवाने का कार्य आपका है, आप अपने नियमों में बदलाव करें और सफाई करवाये।

बरसाती नालो का प्रपोजल बनाओ

महापौर को अधिकारियों ने बताया कि बरसाती नालो की अमरूत 2 के तहत डीपीआर तैयार हो चुकी है। इसको लेकर जल्द ही बैठक बुलाई जाएगी। जिसमें सभी पार्षद डीपीआर को लेकर अपनी राय रखेंगे। पार्षदों के फाइनल करने के बाद ही डीपीआर सरकार को भेजी जाएगी। अधिकारियों ने बताया कि डीपीआर में आजाद नगर सूर्यनगर,केमरी रोड, एंडस्ट्रीयल एरिया, सूरजमल एनक्लेव, विद्यानगर, सेनियान मोहल्ला बरसाती लाइन मुख्य रूप से शामिल की गई हैं। वहीं सातरोड पार्षद राजपाल मांडू ने अधिकारियों से पूछा कि आपने अमरूत 2 में सातरोड में बरसाती नाले का प्रपोजल लिया है। अधिकारी बोले नहीं लिया। पार्षद ने कहा कि क्या सातरोड में बारिश नही आती हैं। बरसाती नालो का प्रपोजल बनाओ।

बिछाने के छह माह बाद ही धंस गई लाइन

शहर के जन स्वास्थ्य विभाग की ओर से सीवरेज की सफाई की मॉनिटरिंग के लिये महापौर गौतम सरदाना ने पार्षद मनोहत लाल, जय प्रकाश, सतीश सुरलिया व सीएसआई देवेंद्र बिश्नोई की कमेटी गठन किया। महापौर ने कहा कि शहरी स्थानीय निकाय मंत्री डा कमल गुप्ता जी के आदेशों के बावजूद पेयजल लाइन नहीं बिछाने की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अधिकारी पार्षद के साथ मौके का निरीक्षण करें और लाइन बिछाने का कार्य जल्द से जल्द पूर्ण करवाये।
शिव कॉलोनी की गली नंबर 18 में साल 2016 में डाली गई ट्रेंच लेस सीवरेज लाइन बिछाई गई थी। लाइन बिछाने के छह माह बाद ही धंस गई थी और सीवरेज ब्लॉक की समस्या एरिया में पैदा हो गई थी।

इस लाइन का आज तक स्थाई समाधान नहीं होने पर महापौर गौतम सरदाना ने कहा कि लाइन कितने में बिछाई गई, ठेकेदार कौन था और कौन अधिकारी थे, जिन्होंने कार्रवाई नहीं की। सभी जांच का विषय है। इस मामले में जांच करवाई जाएगी । मिलगेट एरिया में सीवरेज लाइन बनाये गए भवनों को लेकर जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को जल्द से जल्द करवाई करने के निर्देश दिये। वहीं नगर निगम अधिकारियों को कहा कि सीवरेज लाइन पर बने सभी भवनों के दस्तावेजों की जांच करें और नियमानुसार जो कार्रवाई बनती है, वह करें।

बैठक से पहले ही कार्यों के लिये क्यों आते है फोन

वार्ड 10 की पार्षद बिमला देवी ने कहा कि बैठक से पहले अधिकारियों के फोन आते है कि आपके एरिया में कौन सी लाइन कहां बिछानी हैै। वैसे कोई अधिकारी फोन कर नहीं पूछता की पार्षद महोदया आपके काम हुए या नहीं। एक्सईएन ने कहा कि लेबर गेंहू की कटाई के बाद अब आई है। इसलिये फोन किये है ताकि कार्य शुरू करवाए जा सके।
वहीं पार्षद ने बिमला देवी ने कहा मेरे घर के सीवरेज मैनहॉल ब्लॉक पड़े हैं आप क्यो कह रहे हो कि सभी मेनहोल साफ हो गए है। लोग परेशान है। अधिकारी ने कहा कि आपके घर के पास सफाई करवा देंगे। बिमला देवी ने कहा कि मेरे घर की छोड़ दो। आप लोगों के सीवरेज खुलवा कर सफाई करवा दो।

मैं चंडीगढ़ जाकर करवा दूंगा

सातरोड में अमरूत योजना के तहत पेयजल लाइन बिछाने का कार्य किया गया था। लेकिन एजेंसी के कार्य नहीं करने पर कार्य बीच में अटका हुआ है। इसलिये बचे हुए कार्य का दोबारा टेंडर लगाया जाना है। सातरोड पार्षद राजपाल मांडू ने कहा कि लाइन बिछाने का कार्य आप लोग जल्द से जल्द करवाये, ताकि सड़क बनवाई जा सके। अधिकारियों ने कहा कि एसटीमेट बनाकर चंडीगढ़ भेजना है। मुख्यालय से पास होगा और टेंडर लगेगा। महापौर गौतम सरदाना ने अधिकारियों को कहा कि मैं चंडीगढ़ जाकर एसटीमेंट करवा लाउंगा। जल्द से जल्द एसटीमेंट भेजने का कार्य पूर्ण

यह पार्षद रहे मौजूद

पार्षद कविता केडिया, शालू दीवान, ज्योति महाजन, डा उमेद खन्ना, मनोहर लाल, भूप सिंह रोहिला, बिमला देवी, जगमोहन मितल, प्रीतम सैनी, अमित ग्रोवर, पिंकी नरेंद्र शर्मा , डा महेंद्र जुनेजा, मनोनीत पार्षद कैप्टन नरेंद्र शर्मा, सतीश सुरलिया व राजपाल मांडू मौजूद रहे।

 

एसडीएम ने यादव सभा को सौंपा एक लाख का चेक SDM Handed Over A Check Of One Lakh To Yadav Sabha

Also Read : करनाल की जरनैली कॉलोनी में संदिग्ध परिस्थितियो में मिला हरप्रीत सिंह नाम के युवक का शव Dead Body Of Harpreet Singh

Also Read : मनोविज्ञान के ज्ञान में आत्मसंतुष्टि के साथ पाएं सुरक्षित भविष्य Application Process For Admission In Haryana Central University

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular