Homeराज्यहरियाणामुख्यमंत्री ने की अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में नई परियोजनाओं के लिए 81.5...

मुख्यमंत्री ने की अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में नई परियोजनाओं के लिए 81.5 करोड़ रुपये की धनराशि देने की घोषणा

  • सरकार नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए प्रतिबद्ध – मुख्यमंत्री
  • चिकित्सकों की संख्या को बढ़ाकर 28000 किया जाएगा – मनोहर लाल
  • दीक्षांत समारोह में मुख्यमंत्री ने वितरित की 255 डिग्रियां और 29 मेडल

आज समाज डिजिटल, Haryana News: हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने महाराजा अग्रसेन मेडिकल कॉलेज, अग्रोहा में नागरिकों को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए 81.5 करोड़ रुपये की धनराशि देने की घोषणा की है। इस मेडिकल कॉलेज में विभिन्न संकायों के भवन निर्माण हेतू 25 करोड़ रुपये, हॉस्टल निर्माण के लिए 17 करोड़ रुपये, विभिन्न उपकरणों की खरीद हेतू 23 करोड़ रुपये तथा अन्य संसाधनों के लिए 16.5 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी।

मुख्यमंत्री शनिवार को महाराजा अग्रसेन मेडिकल कॉलेज अग्रोहा में आयोजित द्वितीय दीक्षांत समारोह को बतौर मुख्यातिथि संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने मेडिकल कॉलेज परिसर में अस्पताल के नवनिर्मित ब्लॉक-डी का भी लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार द्वारा अधिक से अधिक गरीब परिवारों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ मुहैया करवाने के लिए बीपीएल परिवार की वार्षिक आमदनी की सीमा को बढ़ाकर 1 लाख 80 हजार रुपये कर दिया है। इसके बाद बीपीएल परिवारों की संख्या 10 लाख से बढक़र लगभग 22 लाख हो जाएगी। इन सब परिवारों को आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख रुपये तक की नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा मुहैया करवाई जाएगी।

चिकित्सकों की संख्या को बढ़ाकर 28000 किया जाएगा

श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में पर्याप्त चिकित्सकों की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए हरियाणा के प्रत्येक जिले में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की प्रक्रिया जारी है। इस समय प्रदेश में 13 मेडिकल कॉलेज है तथा 8 मेडिकल कॉलेज प्रक्रियाधीन है। इस समय प्रदेश में लगभग 13 हजार चिकित्सक हैं, सरकार का लक्ष्य इनकी संख्या को बढ़ाकर 28 हजार करने का है। इसके लिए हर साल 2650 डॉक्टर्स तैयार किए जाएंगे।

शिक्षार्थ आइए-सेवार्थ जाइए की भावना को चरितार्थ करें चिकित्सक

मुख्यमंत्री ने नव-चिकित्सकों का आह्ववान किया कि वे शिक्षार्थ आइए-सेवार्थ जाइए की भावना को चरितार्थ करें और चिकित्सा क्षेत्र को व्यवसाय न बनाकर सेवा-मिशन बनाएं। उन्होंने कहा कि हम सभी का जोर रोग के बेहतर उपचार के साथ-साथ यह भी होना चाहिए कि व्यक्ति बीमार न पड़े और स्वस्थ जीवन जीये। इसके लिए एलोपेथी और आयुर्वेद का बेहतर सामंजस्य बनाया जा सकता है। हमें आहार को औषधि के रूप में ग्रहण करने की तरफ जाना होगा।

मुख्यमंत्री ने मेडिकल कॉलेज के प्रबंधन की प्रशंसा करते हुए कहा कि कॉलेज ने कोविड महामारी के दौरान न केवल आस-पास के जिलों बल्कि पंजाब व राजस्थान के बीमार व्यक्तियों को भी बेहतरीन चिकित्सीय सेवाएं प्रदान की। इसके लिए सरकार द्वारा अग्रोहा मेडिकल कॉलेज को गुड गवर्नेंस अवॉर्ड भी दिया गया है।

दीक्षांत समारोह में 29 मेडल और 255 डिग्रीयां दी गई

दीक्षांत समारोह के दौरान मुख्यमंत्री ने 2003 से लेकर 2016 तक के बैच के पासआउट स्टूडेंट्स को 29 मेडल और 255 डिग्रीयां वितरी की। डॉ सपना कुंडू को ओपी जिंदल स्वर्ण पदक से नवाजा गया। इसी प्रकार से डॉ भावना अरोड़ा को घनश्याम दास गोयल रजत पदक तथा डॉ आस्था धमीजा को बनारसी दास गुप्ता कांस्य पदक से नवाजा गया। स्वर्ण पदक, रजत पदक व कांस्य पदक प्राप्त करने वाली चिकित्सकों को क्रमश: 1 लाख रुपये, 50 हजार रुपये तथा 25 हजार रुपये की राशि प्रोत्साहन स्वरूप दी गई।

इस मौके पर शहरी स्थानीय निकाय मंत्री डॉ कमल गुप्ता, श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री श्री अनूप धानक, सांसद डॉ डीपी वत्स, विधायक श्री जोगीराम सिहाग, पूर्व मंत्री सावित्री जिंदल सहित अन्य विशिष्ट अतिथि उपस्थित रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular