Homeराज्यहरियाणारोहतक : तीनों काले कृषि कानूनों को एवं नए लेवर कोड रद्द...

रोहतक : तीनों काले कृषि कानूनों को एवं नए लेवर कोड रद्द करें सरकार। सर्वे कर्मचारी संघ हरियाणा

संजीव कोशिक, रोहतक:
आज सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा से संबंधित सभी विभागीय यूनियनों के कार्यकर्ता एवं नेता नया बस स्टैंड रोहतक यूनियन मुख्यालय में सुबह 10.00 बजे जिला प्रधान कर्मबीर सिवाच, ब्लॉक प्रधान सतवीर मुंढाल एवं जिला सचिव जयकुॅवार दहिया के नेतृत्व में एकत्रित हुए इसके पश्चात मोटरसाइकिल जत्थे के रूप में शहर के सुखपुरा चौक होते हुए मकडौली टोल प्लाजा पर पहुंच कर कर्मचारियों द्वारा संयुक्त किसान मोर्चे का समर्थन किया गया। कर्मचारियों द्वारा केंद्र एवं हरियाणा सरकार से मांग की गई कि लंबे समय से किसान तीन काले कृषि कानूनों को जो केंद्र की सरकार अध्यादेश लेकर आई है।

बिजली विधेयक बिल 2020, नई ट्रांसपोर्ट पॉलिसी जिसमें भारी भरकम राशि जुमार्ना लगाने के आदेश है, श्रृमकानूनो (लेवर कोड ) में बदलाव आदि मांगों को लेकर सैकड़ों कर्मचारी झंडे और बैनर के साथ मोटरसाइकिल जुलूस के रूप में मकडौली टूल प्लाजा पर किसान संयुक्त मोर्चे का समर्थन करने पहुंचे। कर्मचारी नेताओं ने अपने संबोधन में बताया कि कैंद्र एवं हरियाणा सरकार परिवहन सेवा, रेलवे स्टेशन,रेल यात्रा, हवाई जहाज, हवाई जहाज के अड्डे सरकारी तोपों को निर्माण करने वाले कारखानों को, बड़े बड़े कारखानों को निजी हाथों में देने जा रही है जिसका लंबे समय से कर्मचारी,छात्र, मजदूर, किसान,महिला सभी पिछले लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं वहीं दस माह से किसान अपनी मांग मुद्दों को लेकर सड़कों पर बैठे हुए हैं और कर्मचारी यूनियन भी बिजली विधेयक बिल 2020,रोड सैफटी बिल 2016,श्रम कानूनों, क्षति पूर्ति विधेयक बिल 2021,नई शिक्षा नीति, के खिलाफ आंदोलन रत है परन्तु कैंद्र एवं हरियाणा सरकार अपनी हठधर्मिता के चलते बात तक करने को तैयार नहीं हैं। कर्मचारियों द्वारा मांग की गई की सरकार समय रहते मांग मुद्दों पर बात करते हुए समस्याओं का शीघ्र निवारण करें अन्यथा आने वाले समय में कर्मचारी, मजदूर, छात्र, महिला, जनता को साथ लेकर बड़े से बड़ा आंदोलन करने के लिए मजबूर होंगे। इसमें होने वाली क्षती की स्वयं सरकार जिम्मेदार होगी।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular