Homeराज्यहरियाणाFreedom Fighter Udham Singh Death Anniversary शहीद ऊधम सिंह की पुण्यतिथि पर...

Freedom Fighter Udham Singh Death Anniversary शहीद ऊधम सिंह की पुण्यतिथि पर पुष्पांजलि

Freedom Fighter Udham Singh Death Anniversary

प्रवीन दतौड़, सांपला

शहीद ऊधम सिंह की पुण्यतिथि पर रविवार सांपला के सामाजिक, धार्मिक व राजनैतिक दलों से जुड़े लोगों ने शहीद की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए। (Freedom Fighter Udham Singh Death Anniversary) सामाजिक कार्यकर्ता सुंदर ओहल्याण ने बताया कि ऊधम सिंह ने जलियांवाला बाग नरसंहार का बदला लेने के लिए दुश्मन जनरल डायर व पंजाब के गवर्नर माइकल ओ डायर को सबक सीखाने की ठानी।

21 साल बाद लिया था बदला

जरनल डायर बीमारी के चलते मर गए, लेकिन माइकल डायर को नरसंहार के 21 साल बाद ऊधम सिंह ने मौत के घाट उतार अपना इंतकाम पूरा किया। (Freedom Fighter Udham Singh Death Anniversary)ऊधम सिंह का बचपन का नाम शेर सिंह था, लेकिन भारतीय समाज की एकता के लिए उन्होंने अपना नाम बदलकर राम मोहम्मद सिंह आजाद रख लिया था। जो उस समय के तीनों प्रमुख धर्मों का प्रतीक था। यह नाम उन्होंने पासपोर्ट बनवाने के लिए इस्तेमाल किया। गदर पार्टी से जुड़ने के बाद ऊधम सिंह को पांच साल की सजा हुई। शहीद भग्त सिंह उनके अच्छे दोस्तों में सुमार रहे। उनका बचपन अनाथालय में गुजरा। भाई की मौत के बाद वह क्रांतिकारियों से जुड़ गये।

इन लोगों ने अर्पित किए सुमन

इस अवसर पर सांपला नपा चेयरपर्सन पूजा के पति बिजेंद्र नंबरदार,वाइस चेयरमेन योगेश उर्फ निक्का, सामाजिक कार्यकर्ता रोनक मलिक, आशीष अग्रवाल, प्रदीप ओहल्याण,रूपेश,महाबीर धमीजा,जोगेंद्र भारद्वाज, विकास, राजपाल, अरुण, बबल, दीपक, राकेश, राजेश चहल सहित अन्य उपस्थित रहे।(Freedom Fighter Udham Singh Death Anniversary)

Also Read : Crime News In Bhiwani मामूली कहासुनी पर घर बुलाकर इतना पीटा कि मार ही डाला

Connect With Us:-  TwitterFacebook

SHARE
Mohit Sainihttps://indianews.in/author/mohit-saini/
Humanity Is the Best Religion In The Word
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments