Wednesday, December 1, 2021
Homeराज्यहरियाणाFight Against Corona : GMC नूंह में 100 बिस्तर का आईसीयू तैयार

Fight Against Corona : GMC नूंह में 100 बिस्तर का आईसीयू तैयार

आज समाज डिजिटल, चंडीगढ़:

Fight Against Corona हरियाणा के सबसे दूरदराज के इलाकों में भी अत्याधुनिक स्वास्थ्य सुविधाएं सुनिश्चित करते हुए, राज्य सरकार ने शहीद हसन खान मेवाती राजकीय मेडिकल कॉलेज नल्हड़, नूंह में 100 बिस्तरों वाला क्रिटिकल कोविड आईसीयू सफलतापूर्वक स्थापित किया है। यह अस्पताल साथ लगते एनसीआर-क्षेत्र, अलवर, मथुरा, रेवाड़ी और पलवल के मरीजों की चिकित्सा आवश्यकताओं को भी पूरा करेगा, जिससे इस क्षेत्र में स्वास्थ्य संस्थानों का बोझ कम होगा।

Fight Against Corona अस्पताल में यह सुविधाएं मिलेंगी

चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि भारत सरकार के निदेर्शानुसार मेडिकल कॉलेजों और घटक अस्पतालों में ट्रिपल लेयर आॅक्सीजन प्लानिंग कर ली गई है। इस संबंध में कदम उठाते हुए राज्य सरकार ने चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के माध्यम से नल्हड़, नूहं में 100 बिस्तरों वाला यह आईसीयू शुरू किया है जहां 3000 एलपीएम क्षमता के पीएसए संयंत्रों और 1026 डी-टाइप आक्सीजन सिलेंडरों के साथ 10,000 लीटर क्षमता का लिक्विड मेडिकल आॅक्सीजन टैंक स्थापित किया गया है।

Fight Against Corona मेडिकल गैस की क्षमता कई गुणा बढ़ाई

प्रवक्ता ने कहा कि क्षेत्र की जरूरत को पूरा करने के लिए मेडिकल गैस पाइपलाइन के साथ गैस की मौजूदा क्षमता को कई गुणा बढ़ाया गया है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र से हजारों मरीज हरियाणा राज्य की ओर विशेष रूप से आसपास के जिलों में चिकित्सा सुविधा के लिए उमड़ पड़े थे। ऐसी मांग को ध्यान में रखते हुए मौजूदा क्षमता को बढ़ाया गया है और लोगों की बढ़ती आकांक्षाओं एवं जरूरतों को पूरा करने के लिए 100 बिस्तरों वाला क्रिटिकल कोविड केयर आईसीयू स्थापित किया गया है।

Fight Against Corona तीन तरीके से होगी आक्सीजन की आपूर्ति

इस प्रकार, यह कोविड मरीजोंं की देखभाल के लिए आॅक्सीजन ट्रायड को पूरा करता है। पहला पीएसए संयंत्र, दूसरा लिक्विड आॅक्सीजन टैंक और तीसरा डी-टाइप सिलेंडर। उन्होंने बताया कि आक्सीजन की मांग होने पर जरूरत के आधार पर इसे सेवा में लगाया जाएगा।

प्रवक्ता ने कहा कि मानव और सामग्री वांछित संयोजन है जो उत्कृष्ट स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आवश्यक है। अत: इसे क्रियाशील बनाने के लिए दवाओं और उपभोग्य सामग्रियों के साथ-साथ वेंटिलेटर और उपकरण खरीदे गए हैं।

Fight Against Corona उपकरणों के अलावा मेडिकल स्टाफ पर फोकस

उपकरणों के अलावा, 143 एसआर (सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर) पहले ही सरकारी मेडिकल कॉलेजों को ज्वाईन कर चुके हैं। इसके अलावा, 54 और विशेषज्ञ डॉक्टरों को भी शामिल होने की पेशकश की गई है।

साथ ही, 275 स्टाफ नर्सों की भर्ती प्रक्रियाधीन है और अन्य 85 विशेषज्ञ डॉक्टरों की भर्ती प्रक्रिया जल्द ही शुरू होने वाली है। इतनी बड़ी कुशल मानवशक्ति के साथ राज्य सरकार आने वाले दिनों में, जहां भी और जब भी आवश्यकता हो, किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments