Homeराज्यहरियाणारोहतक : मानव संसाधन का अभिन्न अंग दिव्यांगजन : सांसद डा. अरविंद...

रोहतक : मानव संसाधन का अभिन्न अंग दिव्यांगजन : सांसद डा. अरविंद शर्मा

संजीव कुमार, रोहतक :
सांसद डा. अरविंद शर्मा ने कहा कि दिव्यांगजन मानव संसाधन का अभिन्न अंग हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार सबका साथ-सबका विकास की सोच पर काम कर रही है। सांसद आज अर्पण मानसिक बाल दिव्यांग संस्थान में आयोजित निशुल्क सहायता उपकरण वितरण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार ने एक समावेशी समाज के विकास और दिव्यांग व्यक्तियों के सशक्तिकरण के लिए विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं को लागू किया है।
सांसद डा. अरविंद शर्मा ने कहा कि एक समावेशी और सक्षम वातावरण की कल्पना करके दिव्यांगजनों को अधिक हक और अधिकार प्रदान करने के लिए सरकार द्वारा नया अधिनियम यानी राइट टू पर्सन विद डिसेबिलिटी एक्ट 2016 लागू किया गया। उन्होंने कहा कि देश के समग्र विकास के लिए दिव्यांगजनों को समाज की मुख्य धारा में लाने के लिए सरकार ने कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों पर जोर दिया है। सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग, भारत सरकार की एडीआईपी योजना के अंतर्गत दिव्यांगजन को सहायता और सहायक उपकरण वितरित किए जाते है।
सांसद डा. अरविंद शर्मा ने कहा कि ऐसे समाज जो दिव्यांगजन का ध्यान नहीं रखते वो खुद ही एक निशक्त समाज है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने देश के दिव्यांगजनों के हित में विभिन्न कल्याणकारी योजनायें लागू की हैं। उन्होंने कहा कि उपकरणों की सहायता से दिव्यांगता के प्रभाव को कम करके उनके शारीरिक, सामाजिक और मनोवैज्ञानिक पुनर्वास को बढ़ावा दे सकते हैं। उनकी आर्थिक क्षमता में वृद्धि की जा सकती है। सहायक उपकरणों को दिव्यांगों को उनके स्वतंत्र कामकाज में सुधार लाने और विकलांगता की सीमा और माध्यमिक विकलांगता की घटना को रोकने के उद्देश्य से दिया जाता है।
डा. अरविंद शर्मा ने कहा कि कोविड-19 भी ऐसे शिविर का आयोजन किया गया था। लेकिन बहुत से दिव्यांग महामारी के चलते शिविर में भाग नहीं ले सके थे। इसके लिए उन्होंने विशेष रुप से केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि वे तत्कालीन सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री कृष्णपाल गुर्जर से मिले थे और उनसे शिविर का आयोजन का आग्रह किया था। सांसद ने कहा कि हम सबको मिलकर मानवता के आधार पर दिव्यांग जनों की मदद करनी चाहिए। सांसद ने लोगों से कोविड-19 उपयुक्त व्यवहार की अनुपालन सुनिश्चित करने की अपील करते हुए कहा कि अभी महामारी का प्रकोप समाप्त नहीं हुआ है।
बाद में मीडिया कर्मियों से बातचीत करते हुए डा. अरविंद शर्मा ने कहा कि आने वाले समय में विभिन्न श्रेणी के हजारों की संख्या में नौकरियों के लिए भर्ती की जाएगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की आय को दोगुनी करने के उद्देश्य से अनेक योजनाओं को क्रियान्वित कर रही है। किसानों को अन्नदाता बताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार का बातचीत के लिए रास्ता हमेशा खुला है। उन्होंने कहा कि आज के शिविर में एक करोड़ 41 लाख की कीमत के सहायक उपकरण वितरित किए गए हैं। इसके लिए उन्होंने विशेष रूप से अरावली पॉवर कम्पनी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का आभार व्यक्त किया।
मेयर मनमोहन गोयल ने अपने संबोधन में कहा कि मानवता की सेवा करने के लिए यह विशेष कार्यक्रम है। वरिष्ठ नागरिक इस शिविर का लाभ उठा सकते हैं। उन्होंने कहा कि जो वंचित रह गए हैं वे रेडक्रास सोसाइटी में अपना नाम दर्ज करवा सकते हैं। सीनियर डिप्टी मेयर राजकमल सहगल ने कहा कि सांसद डॉ अरविंद शर्मा उत्तम कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में भी इस तरह के शिविर आयोजित किए जाएंगे।
एसडीएम राकेश कुमार सैनी ने सांसद डा. अरविंद शर्मा व अन्य मेहमानों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में मेयर मनमोहन गोयल, सीनियर डिप्टी मेयर राजकमल सहगल, एसडीएम राकेश कुमार सैनी, एपीसीपीएल के सीईओ असित दत्ता, अजय चौधरी, प्रभात राम, अश्वनी जांगड़ा, रेनू डाबला, दिनेश, राधेश्याम ढुल, रूबी चावला, सरिता नारायणा, अजय सैनी, अनिता बुधवार, जिला रैडक्रास सोसायटी के सचिव देवेंद्र चहल, विपिन गोयल व प्रवीण आदि मौजूद रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments