Homeराज्यहरियाणामहेंद्रगढ़ : हत्या के आरोपितों को गिरफ्तारी की मांग

महेंद्रगढ़ : हत्या के आरोपितों को गिरफ्तारी की मांग

नीरज कौशिक, महेंद्रगढ़ :
स्वास्थ्य विभाग के एमपीएचडब्ल्यू कर्मचारी अजय कुमार की मौत को लेकर पुलिस ने गांव खातीवास निवासी एक व्यक्ति पर हत्या का मामला दर्ज किया था। लेकिन पुलिस ने आरोपित व्यक्ति को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया है। इसकों लेकर मृतक के परिजन, अंबेडकर स्मारक समिति के सदस्य सहित अनेक लोगों ने जिला उपायुक्त को ज्ञापन सौंपकर आरोपित व्यक्ति को गिरफ्तार करने की मांग की है। इस दौरान उन्होंने पुलिस की लचर कार्रवाई को लेकर मंगलवार को लघुसचिवालय में जिला उपायुक्त की मौजूदगी में पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की। उन्होंने आरोपित व्यक्ति की गिरफ्तारी को लेकर अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति आयोग नई दिल्ली के नाम जिला उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा है। उन्होंने ज्ञापन की एक-एक प्रति मुख्य न्यायाधीश सर्वोच्च न्यायालय नई दिल्ली, राज्यपाल, मुख्यमंत्री, गृह मंत्री, डीजीपी हरियाणा, आईजी पुलिस रेंज रेवाड़ी व एसपी जिला महेंद्रगढ़ को भी भेजी है। पुलिस ने गांव खातीवास निवासी हेमंत के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया था। परंतु इतना समय निकल जाने के बाद भी पुलिस आरोपित को नहीं पकड़ पाई है। जिसकों लेकर समाज के लोगों में रोष व्याप्त है। इस मौके पर अंबेडकर सभा के प्रधान सुंदरलाल जोरसिया, रमेश खिच्ची पूर्व ब्लाक समिति चेयरमैन, मेघवंश, सुरजीत सिंह नंबरदार, भुपसिह, मृतक अजय के पिता अमर सिंह, धर्मवीर सिंह, सरजीत सिंह, लालचंद, निहालसिहं निम्बी, मैनेजर शांतिलाल पलवल, अतर सिंह, रंगा निंबी, महिपाल चौहान, अतर सिंह रंगा, मनोज रंगा, विक्रम चेयरमैन, सुबेदार ओमवीर सिंह, सूबेदार मुकेश, अशोक यादव, बाबूलाल यादव, रामचंद्र पीटीआई, धर्मवीर यादव, राकेश, सरपंच पवन यादव, ओम प्रकाश अधिवक्ता, मुकेश, सतवीर सिंह झगडोली, विजय चोटीवाला, डा. हरिसिह, धन्नाराम सरपंच, मैनपाल मालडा, हरि सिंह बेरी, सरजीत, मनोज निम्बी सहित अनेक लोग उपस्थित थे।
आखिर क्या था मामला:
बता दें कि बीती 11 अगस्त को एमपीएचडब्ल्यू अजय कुमार का गांव नांगल सिरोही से कोथल रोड पर शव पड़ा हुआ था। जिसकी बाइक क्षतिग्रस्त व उसके शरीर पर चोट के निशान थे। वहां से गुजरने वाले राहगीरों ने इसकी सूचना पुलिस को दी थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक अजय कुमार के शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया था। मृतक के परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम चिकित्सकों के बोर्ड द्वारा करवाया था। मृतक महेंद्रगढ़ क्षेत्र के गांव बेरी का निवासी था तथा व छिलरो प्राथमिक चिकित्सा केंद पर एमपीएचडब्ल्यू कार्यरत था। मृतक चार बहनों पर एक भाई था तथा वह शादीशुदा भी था। उसके दो बच्चे थे। मृतक के पिता अमर सिंह सेंट्रल बैंक महेंद्रगढ़ में मैनेजर के पद पर कार्यरत है।
परिजनों ने पुलिस को क्या दी शिकायत:
मृतक के पिता अमर सिहं पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह गांव बेरी का निवासी है। उसका पुत्र अजय कुमार पीएचसी छिलरो खंड नांगल चौधरी में एमपीएच डब्ल्यू के पद कार्यरत था। वह हर रोज की तरह बीती 10 अगस्त को सुबह अपनी ड्यूटी पर जानें के लिए घर से अपने कार्यालय गया था, जो की रात को वापिस घर नहीं लौटा। कुछ दिनों पहले उसके पुत्र अजय का हेमंत के परिचित के साथ ड्यूटी के दौरान झगड़ा हो गया था। जिसके कारण हेमंत उसके पुत्र के साथ रंजिश रखने लगा था। हेमंत ने मौका पाते ही उसके पुत्र की हत्या कर शव को नांगल सिरोही से कोथल जाने वाले रोड पर डाल दिया। जिसकी सूचना उनको पुलिस के माध्यम से 11 अगस्त को सुबह मिली। यह सुनकर उसका पूरा परिवार होश-हवाश खो बैठा। उस समय वे किसी प्रकार की कार्रवाई करने की स्थिति में नही थे। हेमंत पुत्र रामदत्त निवासी खातीवास द्वारा उसके पुत्र की हत्या करके उसे रोड पर फेंका गया है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments