Homeराज्यहरियाणा2014 में सत्ता संभालने के बाद वर्षों से प्रचलित भ्रष्टाचार पर अंकुश...

2014 में सत्ता संभालने के बाद वर्षों से प्रचलित भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया : मनोहर लाल

xआज समाज डिजिटल, चंडीगढ़:
हरियाणा सरकार ने 2500 दिनों में पेपरलैस, फेसलेस और पारदर्शी शासन सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न सूचना और प्रौद्योगिकी सुधारों की शुरूआत करते हुए भ्रष्टाचार रहित शासन देने के माध्यम से न केवल विकास की गति को बढ़ाया दिया, बल्कि विभिन्न नागरिक केंद्रित योजनाओं और सेवाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाना सुनिश्चित किया।
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राज्य सरकार के कार्यकाल के सफलतापूर्वक 2500 दिन पूर्ण होने पर आयोजित प्रेसवार्ता में कहा कि कहा कि राज्य सरकार के 2500 दिन का कार्यकाल ‘प्रगतिशील रिपोर्ट कार्ड’ है जो इस बात पर प्रकाश डालता है कि हमने कैसे शासन प्रणाली में बड़े बदलाव किए जिसने भ्रष्टाचार पर लगाम कसी, गरीबों का शोषण समाप्त हुआ और पर्ची-खर्ची पर नौकरियां देने की प्रथा बंद हुई।
इसने आम आदमी का सरकार में विश्वास कई गुना बढ़ा है। कांग्रेस पर तंज कसते हुए मनोहर लाल ने कहा कि 26 अक्तूबर, 2014 को जब भाजपा सत्ता में आई थी, उस समय प्रदेश में भ्रष्टाचार, परिवारवाद व भाई-भतीजावाद का बोलबाला था और सरकारी संपत्ति की लूट होती थी। तब हमने हरियाणा में विकास का नया अध्याय लिखने का फैसला किया और यह सुनिश्चित किया कि सभी योजनाओं का लाभ उन लोगों तक पहुंचे जो पंक्ति में सबसे अंतिम पायदान पर हैं। मुख्यमंत्री बनने के बाद सबसे पहला काम मुख्यमंत्री, मंत्रियों और अधिकारियों के घरों और कार्यालयों के बाहर लगने वाली लंबी कतारों को खत्म किया। उस समय लोग काम करवाने के लिए दर-दर भटकते थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष को रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभानी चाहिए। गलत को गलत और सही को सही कहना चाहिए। चूंकि उनके पास उठाने के लिए कोई मुद्दा नहीं है इसलिए वे भ्रम फैलाकर लोगों के मन में संदेह पैदा करने के अलावा और कुछ नहीं करते। मैं उन्हें चेतावनी देना चाहता हूं कि उनका भविष्य अंधकार में है।
जनता हमें अगले 5 वर्षों के लिए भी चुनेगी क्योंकि वे दिन गए जब लोग भ्रमित हो जाया करते थे। आज जनता सब कुछ समझती है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular