HomeहरियाणाकरनालStatement of Gyananand त्योहारों और पर्वों से ही संस्कृति जीवित : ज्ञानानंद

Statement of Gyananand त्योहारों और पर्वों से ही संस्कृति जीवित : ज्ञानानंद

Statement of Gyananand

प्रवीण वालिया, करनाल:
स्वामी ज्ञानानंद महाराज की उपस्थिति में श्री कृष्ण कृपा धाम सेक्टर-9 में फूल होली उत्सव बड़ी श्रद्धा और हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। श्री कृष्ण कृपा परिवार के प्रवक्ता तिलक अरोड़ा ने बताया कि लूथरा परिवार की ओर से आयोजित इस उत्सव में असंख्य श्रद्धालुओं ने श्री कृपा बिहारी जी के सुन्दर दर्शनों और पूज्य स्वामी जी की वाणी का लाभ लिया। उन्होंने बताया कि कि स्वामी जी ने कहा कि हमें सभी त्योहारों को मनाते रहना चाहिए तभी तो भारतीय संस्कृति जीवित रहेगी।

Statement of Gyananand

हम अपने घर में परिवार में ऐसा वातावरण बनाएं कि अपने बच्चों को सभी सुविधाएं दें जरूर दें लेकिन उसके साथ साथ त्योहारों के महत्व से भी अवगत करवाएं। स्वामी जी ने होली त्योहार का महत्व बताते हुए कहा कि एक तरफ हिरण्यकशिपु का अहंकार था और दूसरी तरफ प्रह्लाद का विश्वास, हिरण्यकशिपु का अहंकार कि कहां है नारायण और प्रह्लाद का विश्वास कि कहां नहीं है नारायण, ऐसा कोई कण और ऐसा कोई क्षण नहीं जहां भगवान नहीं और प्रह्लाद को पागल हाथी के सामने डाला गया, पर्वत से गिराया गया, समुद्र में फैंका गया और सभी जानते हैं भगवान खम्बे से भी नरसिंह अवतार के रुप में प्रगट हुए।

Statement of Gyananand

स्वामी जी ने बताया कि हर युग में जीत हमेशा विश्वास की हुई और अहंकार सदैव पराजित रहा। सभी के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जीवन का वास्तविक रंग भगवान के प्रति विश्वास का रंग ही है, हमारे अन्दर की दुर्भावनाएं जलें सद्भावनाओं का प्रकाश हो, हमारे अन्दर की ईष्र्या वैर द्वेष क्रोध जले और और आपसी प्रेम सद्भाव बढ़े । हम सभी के परिवारों में श्री कृष्ण कृपा का रंग सदैव सब प्रकार से बना रहे ।

Statement of Gyananand

पूज्य स्वामी जी के आशीर्वचन के साथ साथ रतन रसिक जी, पवन गूम्बर तथा श्री कृष्ण कृपा परिवार के शाम अरोड़ा, संजय बिदानी, सन्नी निझावन तथा मीनाक्षी बत्रा ने होली के रसीले सुरीले भजनों द्वारा इस उत्सव में आए सभी धर्म प्रेमियों का मन मोह लिया और वो सभी झूमने नाचने के लिए मजबूर हो गए ।

Statement of Gyananand

नगर की मेयर रेनू बाला गुप्ता ने पूरा समय इस उत्सव में उपस्थिति दर्ज कराई और आनन्द प्राप्त किया। नगर के सभी धर्म प्रेमी, प्रमुख सामाजिक धार्मिक संस्थाओं के अतिरिक्त श्री कृष्ण परिवार के अध्यक्ष हरी कृष्ण गुप्ता एवं संजय बत्रा, जय जिन्दल, यश नारंग, शाम बत्रा, बलबीर लाठर, पारुल बाली, पिंकी बत्रा, सतीश नारंग, अनिल बिदानी, देवी दयाल, तिलक राज अरोड़ा, राज कुमार बहल, जोगिन्द्र छाबड़ा, राम सुखीजा, मीनाक्षी विरमानी, अनु सचदेवा, नेहा विरमानी जी ने विशेष सहयोग दिया इस कार्यक्रम को सफल बनाने में । समापन में विशाल भन्डारे का आयोजन हुआ जिसे वितरण करने में जिओ गीता युवा चेतना के सभी सदस्यों का सहयोग रहा ।

Statement of Gyananand

Read Also : Karnal News In Hindi 22वां अग्रवाल युवक युवती परिचय सम्मेलन 27 को

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular