Homeराज्यहरियाणाPalwal Cooperative Sugar Mill का पेराई सत्र शुरू

Palwal Cooperative Sugar Mill का पेराई सत्र शुरू

आज समाज डिजिटल, चंडीगढ़ :

Palwal Cooperative Sugar Mill हरियाणा के सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी लाल ने कहा कि इस वर्ष गन्ने की बॉडिंग 48 लाख क्विंटल की है और दी पलवल सहकारी चीनी मिल को लगभग 40 लाख क्विंटल गन्ना पिराई के लिए उपलब्ध होने की संभावना है। इस वर्ष मिल को अगेती किस्म का 70 प्रतिशत गन्ना उपलब्ध होगा जिससे चीनी की रिकवरी अधिक होगी। उन्होंने यह जानकारी आज पलवल में दी पलवल सहकारी चीनी मिल के पिराई सत्र 2021-22 का केन में गन्ना डालकर शुभारंभ करने के दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए दी।

Palwal Cooperative Sugar Mill मिल प्रबंधन व किसानों को दी बधाई

इस अवसर पर सहकारिता मंत्री ने मिल प्रबंधन, अधिकारी/कर्मचारी एवं इससे जुड़े हुए सभी वर्गों को बधाई दी और आशा व्यक्त की कि यह मिल अपने पिराई सत्र के निर्धारित लक्ष्यों को पूरा करते हुए अपना नाम रोशन करेगी। डा. बनवारी लाल ने कहा कि मुझे यह अवगत करवाते हुए अति प्रसन्नता हो रही है कि हरियाणा सरकार द्वारा भारत वर्ष में गन्ने का सर्वाधिक भाव दे रहा है।

Palwal Cooperative Sugar Mill हरियाणा में गन्ने का भाव 362 रुपए प्रति क्विंटल

हरियाणा में अगेती किस्म का भाव 362 रुपए, मध्यम एवं पछेती किस्म का रेट 355 रुपए प्रति क्विंटल दिया जा रहा है। मिल द्वारा पिछले सीजन के गन्ने का पूरा भुगतान कर दिया गया है। सहकारिता मंत्री ने बताया कि पिराई सत्र 2020-21 में मिल ने 33.58 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई कर इतिहास में अब तक सर्वाधिक पिराई करने का लक्ष्य प्राप्त किया है और 3.20 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया था।

इस सीजन में लगभग 40 लाख क्विंटल गन्ना की पिराई के लक्ष्य एवं 9.80 प्रतिशत रिकवरी के साथ 3.92 लाख क्विंटल चीनी के उत्पादन का अनुमान है। पिछले वर्ष 2020-21 में पलवल शुगर मिल का कैपेसिटी यूटिलाईजेशन 93.22 प्रतिशत रहा जोकि हरियाणा की सभी मिलों में तीसरे स्थान पर है तथा पिछले वर्ष शुगर की रिकवरी प्रतिशत 9.47 रहा। वर्ष 2021 के सितम्बर व अक्तूबर महीने में पलवल मिल शुगर सेल रियलाईजेशन में हरियाणा की सभी मिलों में द्वितीय स्थान पर रही है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments