Homeराज्यहरियाणाकोरोना कभी जवान या बच्चा नहीं देखता, हमारी तैयारी पूरी: कुलपति

कोरोना कभी जवान या बच्चा नहीं देखता, हमारी तैयारी पूरी: कुलपति

सोनू भारद्वाज

रोहतक: पंडित भगवत दयाल शर्मा स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. ओ.पी.कालरा ने कहा कि अपने दिमाग से यह बात बिल्कुल निकाल देनी चाहिए कि कोरोना की तीसरी लहर यदि आती है तो उससे सिर्फ बच्चे प्रभावित होंगे और यह भी कि जिन्हें दूसरी लहर में कोरोना हो चुका है, उन्हें अब तीसरी लहर में कोरोना नहीं होगा। कोरोना कभी जवान या बच्चा नहीं देखता, हां अधिकतर युवाओं और बुजुर्गो को वैक्सीन लग चुकी है तो उन्हें कोरोना होने की संभावना कम हो जाती है। ऐसे में हमें शिशुओं के लिए विशेष रूप से तैयारी रखने की जरूरत है। इसी को ध्यान में रखकर पीजीआईएमएस में क्रमबद्व तरीके से पूरे प्रदेश के चिकित्सकों को आपातकाल में शिशुओं की देखभाल करने की विशेष ट्रेनिंग कृत्रिम अंगों पर प्रदान की जा रही है।
डॉ. ओ.पी.कालरा ने कहा कि तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए हमारी तैयारी सिर्फ बच्चों के लिए ही नहीं बड़ों के आईसीयू को भी बढाने पर कार्य चल रहा है। उन्होंने कहा कि संस्थान का प्रयास है कि बच्चों के लिए 400 आक्सीजन बैड तैयार किए जाए और एक 100 बैड का आईसीयू भी तैयार किया जा रहा है। इसके साथ ही मेडिकल गैस पाइप लाइन पर भी कार्य किया जा रहा है। डॉ. कालरा ने कहा कि प्रदेश में आईसीयू के शिशु रोग विशेषज्ञों की काफी कमी है और तीसरी लहर में यदि बच्चे ज्यादा प्रभावित हुए तो स्थिति को सरकारी अस्पतालों में संभालने के लिए पूरे प्रदेश के चिकित्सकों को चरणबद्व तरीके से डॉ. कुंदन मित्तल व डॉ. प्रशांत द्वारा ट्रेनिंग प्रदान की जा रही है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular