Homeराज्यहरियाणासीएम विंडो शिकायतों के त्वरित निपटान में कारगर सिद्ध

सीएम विंडो शिकायतों के त्वरित निपटान में कारगर सिद्ध

सीएम विंडो की सख्ती के चलते सरकारी फंड में गड़बड़ी करने वाले देने लगे हैं सुधरने के संकेत
पंचकूला के बाड़ गांव की पूर्व सरपंच ममता राठौर ने प्रस्तुत किया उदाहरण
चेक के माध्यम से जमा करवाई पंचायत के खाते में राशि, शिकायत को फाइल करवाने का किया अनुरोध
आज समाज डिजिटल, चंडीगढ़:
मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा वर्ष 2016 से आमजन की सुविधा के लिए आरंभ की गई सीएम विंडो शिकायतों के त्वरित निपटान में कारगर सिद्ध हो रही है। लोग चंडीगढ़ मुख्यालय के चक्कर काटने की बजाय अपने जिलों के लघु सचिवालयों से ही मुख्यमंत्री के पास अपनी शिकायतें पहुंचा रहे हैं और उनका तत्परता से समाधान भी हो रहा है। दूसरी ओर सरकारी फंड में गड़बड़ी करने वालों ने भी अपनी प्रवृत्ति में सुधार करने के संकेत दिए हैं। इस कड़ी में पंचकूला जिले के बाड़ गांव की पूर्व सरपंच ममता राठौर ने एक उदाहरण प्रस्तुत किया है।
चंडीगढ़ मुख्यालय पर सीएम विंडो की निगरानी कर रहे मुख्यमंत्री के विशेष कार्यकारी अधिकारी, भूपेश्वर दयाल के अनुसार ऐसी गड़बड़ी करने वाले जनप्रतिनिधियों के विरुद्ध हरियाणा पंचायती राज अधिनियम-1994 की धारा 53 व 54 के तहत बकाया भू-राजस्व वसूलने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए जाते हैं। उन्होंने कहा कि इस कड़ी में पंचकूला जिले की ग्राम पंचायत बाड़ की पूर्व सरपंच ममता के खिलाफ गड़बड़ी करने की शिकायत गांव के व्यक्ति जसविन्दर सिंह ने पंचकूला के उपायुक्त को दर्ज करवाई थी। जिसे बाद में सीएम विंडो पर अपलोड किया गया है।
उन्होंने बताया कि सीएम विंडो पर शिकायत की सुनवाई करते हुए खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी पिंजौर तथा जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी, पंचकूला को मामले की जांच करने के निर्देश दिए। जांच के बाद पूर्व सरपंच को 21 मई, 2019 को पहला कारण बताओ नोटिस, 11 जून, 2019 को दूसरा तथा 30 अगस्त, 2019 को तीसरा नोटिस जारी किया गया, जिसके तहत उसे 46,405 रुपए की राशि 21 प्रतिशत ब्याज के साथ जमा करने के निर्देश दिए गए थे, जो कुल 94,975 रुपए बनती है।
भूपेश्वर दयाल के अनुसार पूर्व सरपंच ने अपने लिखित स्पष्टीकरण में जानकारी दी कि उसे खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी, पिंजौर से पत्र से प्राप्त हुआ था कि आपके कार्यकाल के दौरान ग्राम पंचायत बाड़ को 94,975 रुपए का नुकसान हुआ है। अत: उसकी रिकवरी की जानी है। उन्होंने बताया कि यह रिकवरी तत्कालीन ग्राम सचिव दलबीर सिंह द्वारा बिलों इत्यादि में सही से जोड़ न करने के कारण निकली है। चूंकि अब ग्राम सचिव की मौत हो चुकी है और इस बारे में उनसे पूछा जाना संभव नहीं है। इसलिए ममता राठौर, पूर्व सरपंच ग्राम पंचायत बाड़ ने कहा कि उसने 6 अगस्त, 2021 को चेक संख्या 782532 के माध्यम से ग्राम पंचायत बाड़ के बैंक खाता संख्या 166610100025060 में 94,975 रुपए की राशि जमा करवा दी है। अत: अनुरोध है कि मेरा 18 जुलाई, 2018 को सीएम विंडो पर अपलोड शिकायत संख्या 139175 को फाइल कर दिया जाए।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular