Homeहरियाणाचरखी दादरीकिसानों की हुंकार: फिर शुरू करेंगे आंदोलन, संगठनों को कर रहे एकजुट

किसानों की हुंकार: फिर शुरू करेंगे आंदोलन, संगठनों को कर रहे एकजुट

आज समाज डिजिटल, चरखी दादरी:
प्रदेश में एक बार फिर किसान आंदोलन शुरू होगा। इसकी रूपरेखा तैयार की जा रही है। बताया जा रहा है कि इस बार आंदोलन बड़े स्तर पर होगा और मजबूत रहेगा। इसके लिए किसान दिल्ली बार्डर पर एकजुट होने की जुगत लगा रहे हैं।

इन मुद्दों पर गंभीरता से चर्चा

इसके लिए जिलास्तर पर कमेटियां बनाई जा रही हैं। जल्द ही जींद में किसान सम्मेलन का आयोजन होगा। इसमें किसानों की मांगें पूरी नहीं होने पर सभी किसान संगठनों की ओर से बड़े आंदोलन की रूपरेखा तैयार करते हुए कई निर्णय लिए जाएगें। मीटिंग में किसान आंदोलन के दौरान किसानों पर दर्ज किए मुकदमों, जेलों में बंद किसानों की रिहाई, किसान पर दर्ज मुकदमों को वापस लेने, एमएसपी गारंटी कानून बनाने, स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू कराने, फसल बीमा मुआवजा, नहरी पानी सप्लाई, तुड़ी पर बेन, कर्ज माफ कराने, भूमी अधिग्रहण विधेयक सहित कई मुद्दों पर चर्चा की गई।

सभी संगठनों को करेंगे एकजुट

मीटिंग में सभी किसान संगठनों को एकजुट कर फिर से किसान आंदोलन शुरू करने का निर्णय लिया गया। किसान संगठनों के पदाधिकारियों ने भी आंदोलन को लेकर अपनी प्रतिक्रियाएं देते हुए एकजुट होने का आह्वान किया। मीटिंग के बाद मीडिया से बात करते हुए अन्नदाता किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष गुरुमुख सिंह ने कहा कि किसानों को ना मिला एमएसपी और ना ही दर्ज मुकदमे वापिस हुए हैं। यह निर्णय चरखी दादरी में किसानों संगठनों की अन्नदाता किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष गुरुमुख सिंह की अध्यक्षता में हुई मीटिंग में लिया गया।

सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप

केंद्र सरकार ने किसानों के साथ वादा खिलाफी की है। ऐसे में अब किसान संगठनों को एकजुट करते हुए जीन्द में किसान सम्मेलन कर बड़े फैसले लिए जाएंगे। हरियाणा के प्रत्येक जिलों में किसान संगठनों के साथ मीटिंग कर एकजुट करेंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली बॉर्डर पर किसानों ने धरना स्थगित किया था, जरूरत पड़ने पर फिर से बॉर्डर सील करेंगे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular