Homeराज्यहरियाणाकरनाल: देशहित में है जाति आधारित जनगणना :रमेश सैनी

करनाल: देशहित में है जाति आधारित जनगणना :रमेश सैनी

प्रवीण वालिया, करनाल:
राष्ट्रीय पिछड़ा बर्ग अनुसचित जाति अनुसूचित जनजाति तथा अल्पसंख्यक महासंघ के हरियाणा प्रदेश के अध्यक्ष रमेश सैनी ने केंद्र सरकार से जाति आाधारित जनगणना करवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि देश में जाति आधारित जनगणना देश हित में हैं। इसके माध्यम से देश में जातियों पर आधारित संख्या का पता चलता है। जब राजनीतिक दल जाति के आधार पर विधाानसभा लोकसभा के साथ विभिन्न शहरी और गांवों की निकायों में टिकट देते हैं तो फिर जाति अधारित जनगणना से परहेज क्यों। उन्होंने बयान जारी कर कहा कि पिछले सत्तर सालों में अलग अलग जातियों में आर्थिक विकास उनकी संख्या में घटाव या बढ़ाव के साथ अन्य आंकड़ों का सार्वजनिक होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि सरकार को जाति आधारित जनगणना को करवाकर जनता के समक्ष आंकड़ें जारी करने चाहिएं। जब पहले से ही इस तरह की जनगणनाएं हो रही हैं तो फिर भाजपा सरकार क्यों इसको करवाने से बच रही है। उन्हें भाजपा की नीयत पर शक होता है। सैनी ने कहा कि देश में 52 प्रतिशत से अधिक बेक वर्ड हैं। इसके बाद भी सरकार पिछड़ा वर्ग के साथ न्यास नहीं कर रही है। आज दलित पिछड़ा और अल्प संख्यक वर्ग अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहा है।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular