Homeहरियाणाभिवानीतोशाम: शिक्षकों का मार्गदर्शन बच्चों के जीवन जीने की शैली को करता...

तोशाम: शिक्षकों का मार्गदर्शन बच्चों के जीवन जीने की शैली को करता है प्रभावित: SDM

सुमन, तोशाम:

SDM मनीष कुमार फौगाट ने कहा है कि शिक्षकों का मार्गदर्शन बच्चों के जीवन जीने की शैली को बहुत हद तक प्रभावित करता है। हमें उनकी भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाते हुए परिवार, समाज और राष्ट्र के प्रति उनके दायित्वों के प्रति भी जागरूक करना होगा। SDM शुक्रवार को राजकीय प्राथमिक पाठशाला खरकड़ी सोहान में जेबीटी अध्यापिका राजवंती द्वारा लगाए गए सबमर्सिबल पम्प के उदघाटन अवसर पर बोल रहे थे। SDM ने स्कूल में अतिरिक्त पेयजल व्यवस्था के लिए लगाए गए सबमर्सिबल को लेकर अध्यापिका राजवंती की जमकर सराहना की।

SDM मनीष कुमार फौगाट ने कहा कि अध्यापिका राजवंती द्वारा पेयजल को लेकर उठाया कदम प्रेरणादायक है।SDM ने कहा कि एक शिक्षक द्वारा इस तरह के कार्यों में रूचि बच्चों को भी प्रेरणा देती है।SDM ने कहा कि आज के विद्यार्थियों के जीवन की शैली में जो परिवर्तन आया है वह सबसे अधिक संस्कारों का है। आज का विद्यार्थी मेधावी, इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में बहुत अधिक रुचि रखता है लेकिन संस्कारों का अभाव है। अध्यापकों एवं अभिभावकों को इसे गम्भीरता से लेना होगा। उन्होंने कहा की माता-पिता के साथ-साथ अच्छे संस्कार स्कूल में शिक्षक भी सिखाएं।

विद्यालय भी है एक उपवन

SDM ने कहा कि विद्यालय भी एक उपवन है जहां बच्चे उसके फूल हैं। उन फूलों को हम कैसी शिक्षा से पोषण करते हैं यही उन्हें जिम्मेदार नागरिक बनाने के लिए प्रेरित करते हैं। जब हम बच्चे का सर्वांगीण विकास की बात करते हैं तो वह केवल किताबी ज्ञान में ही बौद्धिक रूप से सफल नहीं बना रहे हैं बल्कि व्यक्तित्व और विचारों से भी उन्हें जिम्मेदार नागरिक बनाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। शिक्षकों को बच्चों के समक्ष उदाहरण बनना होगा।SDM ने इस अवसर पर पौधारोपण भी किया। स्कूल का निरीक्षण कर अध्यापकों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस मौके पर राजेश कड़वासरा, मुख्य शिक्षक राजकुमार ग्रेवाल, सुरेंद्र सूरा, मंजू, सुरेश, राजेश आदि स्टाफ सदस्यों के अलावा पूर्व सरपंच जगमाल, जगदीश राय आदि गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments