Homeहरियाणाभिवानीडॉ. भीमराव अंबेडकर ने साधनों का अभाव रहते हुए शिक्षा के क्षेत्र...

डॉ. भीमराव अंबेडकर ने साधनों का अभाव रहते हुए शिक्षा के क्षेत्र में विश्व में उच्च मुकाम हासिल किया: जेपी दलाल Dr. Bhimrao Ambedkar Jayanti

पंचायत भवन में आयोजित हुआ डॉ. भीमराव अंबेडकर जंयती पर जिला स्तरीय समारोह Dr. Bhimrao Ambedkar Jayanti

कृषि मंत्री जेपी दलाल ने की मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत, सामाजिक संस्थाओं को किया सम्मानित Dr. Bhimrao Ambedkar Jayanti

भिवानी:
Dr. Bhimrao Ambedkar Jayanti: प्रदेश के कृषि एवं पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि बाबा साहेब डॉ.भीमराव अंबेडकर ने साधनों का अभाव रहते हुए भी शिक्षा के क्षेत्र में विश्व में उच्च मुकाम हासिल किया। उनका जीवन संघर्षों से भरा हुआ था। वे भारतीय संविधान के शिल्पकार थे। भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा, श्रेष्ठ व समृद्ध संविधान है। हमें बाबा साहेब के जीवन से शिक्षा लेनी चाहिए और मानव और मानव में ऊंच-नीच का भेदभाव नहीं रखना चाहिए।

महापुरूषों व संत महात्माओं की जयंती समारोह सरकारी तौर आयोजित करने का बहुत ही सराहनीय निर्णय Dr. Bhimrao Ambedkar Jayanti

कृषि मंत्री श्री दलाल वीरवार को बाबा साहेब डॉ. अंबेडकर की 131 वीं जंयती के अवसर पर स्थानीय पंचायत भवन में कल्याण विभाग और जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित जिला स्तरीय समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। समारोह में भिवानी से विधायक घनश्याम दास सर्राफ और बवानीखेड़ा से विधायक बिशंभर वाल्मीकि भी मौजूद रहे। श्री दलाल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने महापुरूषों व संत महात्माओं की जयंती समारोह सरकारी तौर आयोजित करने का बहुत ही सराहनीय निर्णय लिया है।
उन्होंने कहा कि संत-महापुरुष किसी एक वर्ग विशेष या समाज के नहीं होते। उनकी शिक्षाएं समाज के सभी वर्ग के लोगों के लिए होती हैं। उन्होंने कहा कि डॉ. भीमराव अंबेडकर का दिया गया संगठित रहने, संघर्ष करने व शिक्षित बनने का संदेश समाज के प्रत्येक वर्ग पर लागू होता है। उन्होंने कहा कि भीम राव अंबेडकर ने जीवन में आई मुश्किलों से कभी हार नहीं मानी। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब ने समाज से जातिपाति व छृआछूत को मिटाने का संदेश दिया।

गरीब व शोषित वर्ग की भलाई के लिए जितनी योजनाएं लागू की जाएं, उतनी कम

श्री दलाल ने कहा कि जयंति समारोह हमें महापुरुषों के आदर्शों और सिद्धांतों पर चलने की प्रेरणा देते हंै। डॉ.भीमराव अम्बेडकर एक महान शिक्षाविद् होने के साथ-साथ कुशल नेता और प्रभावशाली वक्ता भी थे। एक अत्यंत गरीब परिवार में जन्म लेकर भी उन्होंने 32 डिग्रियां हासिल की, जो उनकी कड़ी मेहनत का प्रमाण है। श्री दलाल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में प्रदेश सरकार सामाजिक समरसता के लिए गरीब वर्ग के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं लागू कर रही है। उन्होंने कहा कि गरीब व शोषित वर्ग की भलाई के लिए जितनी योजनाएं लागू की जाएं, उतनी कम हैं।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बवानीखेड़ा से विधायक विशम्भर वाल्मीकि ने बाबा साहेब के जीवन संघर्ष पर आधारित प्रभावशाली कविता की प्रस्तुति दी।

बाबा साहेब एक तरह से भगवान के अवतार थे

उन्होंने अपनी कविता के माध्यम से बताया बाबा साहेब एक तरह से भगवान के अवतार थे। उनका जीवन हमारे लिए प्रेरणा का स्रोत रहेगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपायुक्त आरएस ढिल्लो ने कहा कि बाबा साहेब ने देश की संविधान की रचना की, जिसके आधार पर हमारे देश की कानून व शासन व्यवस्था चल रही है। उन्होंने कहा कि अमेरिका में कोलंबिया विश्वविद्यालय में पढ़े हुए विद्यार्थियों में से सबसे श्रेष्ठ विद्यार्थी होने पर बाबा साहेब की वहां पर प्रतिमा लगी है और वहां लिखा गया है, नॉलेज ऑफ सिंबल, यानि ज्ञान के प्रतीक।
इसी प्रकार से इंग्लेंड की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिर्टी में भी उनकी प्रतिमा लगी है और उन्होंने लिखा है कि हमें उनको इस बात पर गर्व है कि उनके विश्वविद्यालय से ऐसे विद्यार्थी पढक़र गए हैं, जिन्होंने भारत के संविधान की रचना की। उपायुक्त ने अपने संबोधन के माध्यम से कृषि मंत्री श्री दलाल, विधायक गण और अन्य सभी मेहमानों व कार्यक्रम में मौजूद नागरिकों को जिला प्रशासन की तरफ से आभार जताया।
भाजपा जिला प्रधान शंकर धूपड़ ने कहा कि बाबा साहेब ऐसे पहले नेता थे जो देश में समान नागरिक संहिता के पक्षधर थे। उन्होंने कहा कि था यह एक ऐसा कानून होगा, जो हर धर्म के लोगों के लिए समान होगा और उसका धर्म से कोई लेना-देना नहीं होगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व विधायक शशि रंजन परमार ने कहा कि बाबा साहेब का जीवन दर्शन सभी समाज के लिए पथ प्रदर्शक का काम करता है। वे मानव नहीं बल्कि महामानव थे।

कृषि मंत्री जेपी दलाल ने किया सामाजिक संस्थाओं को सम्मानित Dr. Bhimrao Ambedkar Jayanti

कार्यक्रम के दौरान कृषि मंत्री श्री दलाल ने समाज में जागृति लाने का काम करने वाली सामाजिक संस्थाओं को सम्मानित किया। सम्मान पाने वालों में धानक समाज धर्मशाला सेवा समिति से आजाद सिंह, डॉ. अंबेडकर सोसायटी बैंक कालोनी से मास्टर सुनील गोलपुरिया, हरियाणा जागृति मोर्चा बवानीखेड़ा से एडवोकेट राजेश सिंधू, धानक समाज उत्थान संगठन से सुखबीर नागर, धानक कबीर धर्मशाला नया बाजार से फतेह सिंह, संत कबीर वेलफेयर सोसायटी हालुवास गेट से नवीन कुमार, डॉ. बीआर अंबेडकर दादरी गेट से जोगिंद्र चौहान, गुरु रविदास समाज कल्याण सभा से एडवोकेट जोगेंद्र,
डॉ. अंबेडकर विकास परिषद से गजराज जोगपाल, हरियाणा भीम राव अंबेडकर शिक्षक संगठन से बलजीत दहिया, सर्व मेघसभा से श्यामलाल मेघवाल, पर्यावरण प्रहरी एक कदम हरियाली की ओर से विजय सिंहमार, हरियाणा वाल्मीकि महासंघ व शिक्षा अंबेडकर संस्थान हालु मोहल्ला से करनैल बागड़ी, भाजपा सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के जिला संयोजक संजय दुआ, भारत विकास परिषद से मुकेश रहेजा, वाल्मीकि अंबेडकर कल्याण ट्रस्ट से देवराज बिडलान, डॉ. अंबेडकर कर्मचारी वेलफेयर एवं सामाजिक मंच से विरेंद्र राजपाल,
राष्ट्रीय वीर एकलव्य कल्याण वाहिनी ट्रस्ट से भगवान दास, विजेंद्र मंदौला, सांस्कृतिक मंच के जिलाध्यक्ष रण विजय सिंह तंवर, घूमंतू जनजाति से संजय ङ्क्षसंगीकाट, शिव धानक संस्था से अनिल कुमार व राजपाल वाल्मीकि कलिंगा को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।
इस दौरान विधायक घनश्याम दास सर्राफ, अतिरिक्त उपायुक्त राहुल नरवाल, एसडीएम संदीप कुमार, आरएसएस के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य प्रदीप कुमार, जिला महामंत्री हर्षवर्धन मान व बृजपाल, जिला कल्याण अधिकारी देवेंद्र कुमार व तहसील कल्याण अधिकारी अश्विनी कुमार, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी आशीष मान, सिविल सर्जन डॉ. रघुबीर शांडिल्य, जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी जेजे बनर्जी, कोच विष्णु भगवान, संतोष नागर, पशुपालन विभाग से उप निदेशक सतप्रकाश वर्मा व एसडीओ प्रदीप कुमार, एडवोकेट प्रेम ओला, मा.सतीश कुमार, सांस्कृतिक मंच से जगत नारायण, कंचन बाला के अलावा शहर की अनेक सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक व विभिन्न विभागों से अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।
SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular