Homeराज्यहरियाणाभिवानी: गांव कोंट की महिलाओं ने किया मटका फोड़ प्रदर्शन

भिवानी: गांव कोंट की महिलाओं ने किया मटका फोड़ प्रदर्शन

भिवानी, 18 जुलाई :

कोरोना महामारी के बीच बढ़ती गर्मी व पेयजल किल्लत भी अब लोगों को रूलाने लगी है। इसकी बानगी रविवार को गांव कोंट में देखने को मिली, जहां सैंकड़ों महिलाओं ने पेयजल की किल्लत को लेकर जमकर बवाल काटा। गुस्साई महिलाओं ने कहा कि ना उनके घरों में पानी, ना तालाबों में और ना ही खेतों में। उन्होने कहा कि ये समस्या बीते पिछले तीन वर्षो से है। पेयजल किल्लत के विरोध में रोष जताते हुए मटके फोड़ती व सरकार के खिलाफ नारेबाज़ी करती गांव कोंट की महिलाएं पिछले तीन वर्षो से पेयजल किल्लत को लेकर परेशान हैं। पीने का पानी ना आने से ग्रामीण पानी खरीदने को मजबूर हैं। करीब दो घंटे बाद गुस्साई महिलाओं का पारा सातवें आसमान पर रहा। पेयजल समस्या के चलते रविवार को गांव कोंट की महिलाओं व पुरूषों ने प्रशासन व संबंधित विभाग के खिलाफ जमकर बवाल काटा। इस दौरान ग्रामीण महिलाओं ने मटका फोड़ प्रदर्शन कर रोष जतााय। ग्रामीणों ने कहा कि उनके गांव में पिछले दो-तीन वर्षो से पेयजल समस्या विक्राल रूप धारण करती जा रही है। ग्रामीणों ने कहा कि इस समस्या के समाधान की मांंग को लेकर वे पिछले दो-तीन वर्षो से अधिकारियों के चक्कर लगा रहे है, लेकिन उनकी समस्या का अब तक कोई समाधान नहीं हुआ। ग्रामीणों ने कहा कि गर्मी के मौसम में शहर व हर गांव मे हर साल पेयजल समस्या विक्राल रूप धारण करती है। सिंचाई के लिए तो सरकार ड्रिप इरिगेशन को बढ़ावा देकर समाधान कर रही है, पर पेयजल का कोई समाधान किया जा रहा। इस दौरान ग्रामीण महिलाओं ने कहा कि पेयजल समस्या के विरोध में आज उन्होंने मटका फोड़ प्रदर्शन किया है। उन्होंने कहा कि जब घरों में पीने तक को पानी नहीं है तो फिर घरों में मटके का क्या काम रह गया। साथ ही ग्रामीण महिलाओं ने चेतावनी भी दी कि अगर जल्द ही उनकी समस्या का समाधान नहीं हुआ तो वे जल्द ही जनस्वस्थ्य विभाग के अधिकारियों के कार्यालयों में मटकों को फोड़ कर प्रदर्शन कर वही पर धरना देने को मजबूर होंगे। इस मौके पर फूलवती, सुदेश, संतोष, माया, नीलम, सुमन, इंद्रावती, धनपति, संतरा, महाबीर जांगड़ा, हरविंद्र, ओमबीर, सोनी सहित अनेक ग्रामीण मौजूद रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments