Homeराज्यहरियाणाभिवानी : पौधारोपण कर पर्यावरण संरक्षण का प्रण लें : शिवरत्न गुप्ता

भिवानी : पौधारोपण कर पर्यावरण संरक्षण का प्रण लें : शिवरत्न गुप्ता

आज समाज डिजिटल, भिवानी :

पर्यावरण को स्वच्छ बनाए रखने में पेड़-पौधों का अहम योगदान हैं। इसलिए ज्यादा से ज्यादा पौधारोपण करना आवश्यक हैं। ये शब्द वैश्य महाविद्यालय ट्रस्ट के अध्यक्ष एवं प्रसिद्ध समाजसेवी शिवरत्न गुप्ता ने स्थानीय वैश्य मॉडल सी0. सै0. स्कूल के प्रांगण में वनमहोत्सव पर छायादार पौधे लगाकर कार्यक्रम का आगाज करते हुए कहे। इस अवसर पर उनके साथ समाजसेवी बृजलाल सर्राफ, महासचिव-वैश्य मॉडल सी. सै. स्कूल प्रबन्धसमितिं, प्रधानाचार्या कमला गुरेजा एव स्टॉफ के अन्य सदस्य भी उपस्थित थे। इस मौेके पर अध्यक्ष श्री शिवरत्न गुप्ता ने कहा कि वन महोत्सव कार्यक्रम पौधारोपण की शुरूआत है, इस कार्यक्रम में अपना हाथ आगे बढ़ाते हुए हम सबको पौधारोपण अभियान में भाग लेना चाहिए और पर्यावरण संरक्षण का प्रण लेना चाहिए। उन्होने कहा कि पौधारोपण के लिए स्वयं पौधे लगाकर कर दूसरों के लिए आदर्श स्थापित करें और बच्चों को अपने घर व खेत में लगाने के लिए प्रेरित करना आवश्यक है  ताकि स्कूली बच्चें पर्यावरण संरक्षण के महत्व को समझ सकें तथा पर्यावरण के संरक्षण में अपना सहयोग दें सकें।

उन्होंने कहा कि पौधारोण कर हम न सिर्फ हरियाली बढ़ा सकते है, बल्कि स्वच्छ पर्यावरण की दिशा में भी अपना योगदान दे सकते हैं। अध्यक्ष शिवरत्न गुप्ता ने स्टाफ के सदस्यों एवं   विद्यार्थियों  को पौधे वितरित किए। इस मौके पर विद्यालय महासचिव बृजलाल सर्राफ ने कहा कि  पर्यावरण को स्वच्छ बनाए रखना के लिए पौधों को विशेष स्थान है। उन्होने  विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे कम से कम अपने जन्मदिन पर एक पौधा अवश्य लगाएं और उसकी पूरी देख बाल करें। जिससे आने वाली पीढी को स्वच्छ हवा का तोहफा दे सकें । साथ ही उन्होंने विद्यार्थियों संदेश दिया कि सिर्फ पौधारोपण कर अपना दायित्व पूरा न समझे, पौधारोपण के बाद उसके पेड़ बनने तक उसकी देखभाल करें, तभी स्वच्छ पर्यावरण का सपना पूरा हो सकेंगा। प्रधानाचार्य ने अपने विचार रखते हुए कहा कि पेड़ों को अंधाधुंध काटने से ना केवल प्रकृति का विनाश हो रहा है बल्कि मानव अस्तित्व भी खतरे में है हम सबको इस सच्चाई को ध्यान में रखते हुए अधिक से अधिक पौधारोपण करना चाहिए इस अवसर पर स्टॉफ के अन्य सदस्य भी उपस्थित थे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular