Homeराज्यहरियाणाभिवानी : कुछ पुलिस कर्मचारियों के दुर्व्यवहार के कारण पूरे पुलिस प्रशासन...

भिवानी : कुछ पुलिस कर्मचारियों के दुर्व्यवहार के कारण पूरे पुलिस प्रशासन की छवि होती है धूमिल : परमार

पंकज सोनी, भिवानी :
पुलिस कर्मचारियों व गौसेवकों के बीच छिड़ा विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा। पुलिस कर्मचारियों पर अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगा उनकी बर्खास्तगी की मांग को लेकर जारी गौसेवकों का धरना शुक्रवार को 11वें दिन में प्रवेश कर गया। इस दौरान धरने पर बैठे गौसेवकों ने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वही गौसेवकों का धरना वीरवार से क्रमिक अनशन में बदल चुका है। क्रमिक अनशन के दूसरे दिन शुक्रवार को पांच गौसेवक क्रमिक अनशन पर बैठे। इस मौके पर गौरक्षा प्रधान संजय परमार ने कहा कि 24 जुलाई को एक गाड़ी में दो गाय बिना वैद्य दस्तावेज के हनुमानगढ़ से कलानौर क्षेत्र में ले जाई जा रही थी, जब गाड़ी को लेकर गौ सेवक बीटीएम चौकी में पहुंचे तो चौकी इंचार्ज रोहताश कुमार और एएसआई सुशील कुमार ने गाड़ी चालक से गाय से संबंधित वैद्य दस्तावेजों के बारे में तो पूछताछ की बजाए गौसेवकों से ही अभद्र भाषा का प्रयोग किया। उसके बाद दिन में वैद्य दस्तावेज के बिना ही गाय से भरी गाड़ी को छोड़ दिया गया।

इसी प्रकार 25 जुलाई को ब्रह्मा कॉलोनी में एक व्यक्ति द्वारा कुत्ते को मारकर अधमरा कर दिया गया, जब स्थानीय लोगों ने 112 नंबर पर पुलिस को बुलाया तो हवलदार संजय मौके पर पहुंचे तथा वहां मौजूद लोगों ने पहले उनको कुत्ते का इलाज कराने के लिए बोला तो हवलदार संजय ने दो टूक जवाब देते हुए कहा कि यह हमारा काम नहीं है। संजय परमार ने कहा कि ऐसे पुलिस कर्मचारियों के अभद्र व्यवहार के चलते पूरे पुलिस प्रशासन की छवि धूमिल होती है तथा जनता की सेवा की सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मचारियों से लोग डरने लगते है। इसीलिए उच्च अधिकारियों को चाहिए कि आमजन के दुर्व्यवहार करने वाले पुलिस कर्मचारियों को तुरंत प्रभाव से बर्खास्त कर पुलिस प्रशासन की छवि को साफ करना चाहिए। साथ ही अन्य पुलिसकर्मियों को भी एक सबक मिले कि वो जनता की सेवा के लिए तैनात है, ना कि उनके साथ दुर्व्यवहार करने के लिए। उन्होंने कहा कि बीटीएम चौकी इंचार्ज एसआई रोहताश कुमार, एसआई सुशील कुमार और हवलदार संजय की बर्खास्तगी की मांग को लेकर धरने पर बैठे है तथा यदि उनकी मांग जल्द नहीं मानी गई तो वे अपना आंदोलन तेज करने को मजबूर होंगे। इस अवसर पुनीत, प्रवीण, डेबू, कुकी, दिग्विजय, गोलू भूरिया, मनदीप, चीनू, शुभम मदान, काले सहित अनेक युवा साथ रहे।

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments